चालान नहीं, रेलवे माल गोदाम से हो रही ढ़ुलाई, राजस्व में सेंध

मुंगेर । कहीं न कहीं रेलवे व खनन विभाग की जानकारी में जमालपुर रेलवे रैक प्वाइंट माल गोदा

JagranWed, 04 Aug 2021 07:16 PM (IST)
चालान नहीं, रेलवे माल गोदाम से हो रही ढ़ुलाई, राजस्व में सेंध

मुंगेर । कहीं न कहीं रेलवे व खनन विभाग की जानकारी में जमालपुर रेलवे रैक प्वाइंट माल गोदाम से बिना चालान के गिट्टी लोडेड ट्रक फर्राटे से दौड़ रही है। बिना चालान से वाहन चलने से जहां सरकार को लाखों रुपये की राजस्व की चोरी हो रही है, वहीं जमालपुर रेल रैक में रेल अधिकारी की अनदेखी से वाहनों में गिट्टी की लोडिग हो रही है। जबकि नियमत: मजदूरों से ही लोडिग कराने का प्रावधान है। जेसीबी से गिट्टी की लोडिग होने से रैंक प्वाइंट तक बने पीसीसी सड़क टूट रही है। मजदूरों को भी रोजगार नहीं मिल पा रहा है। रेलवे के सुपरवाइजर अमित ने बताया कि रैक गोदाम में गिट्टी से लदे मालगाड़ी का 40 से 42 डिब्बे का रैक आता है तो उसे अनलोड करने के लिए दो से तीन दिन का समय निर्धारित है। इसके बावजूद ठेकेदार टाइम लेता है तो उस पर कार्रवाई का प्रावधान भी बनता है। पर चालान का कोई मामला यहां नही बनता। ----------------- परिवहन चालान नहीं, जमालपुर रेल माल गोदाम में एक कंस्ट्रक्शन कंपनी का गिट्टी और चिप्स झारखंड के मिर्जाचौकी से रेल मालगाड़ी के माध्यम से मंगाया जाता है। जिसे सिर्फ झारखंड सरकार का गिट्टी, चिप्स का चालान रहता है। लेकिन, जमालपुर में रेल गोदाम आने के बाद गिट्टी और चिप्स को दूसरी जगह सप्लाई के कोई चालान जिला खनन विभाग से नहीं लिया गया है। बिना चालान के बिना कोई स्थान पर गिट्टी ,चिप्स का स्टॉक किए ही खुलेआम ऊंची बाजार में बेचा जा रहा है। बिना चालान का गिट्टी व चिप्स भरे वाहन के परिचालन से सरकार को लाखों रुपये की राजस्व की चोरी हो रही है। ------------------------------ 24 घंटे ही है निर्धारित, पर तीन दिनों तक रैक लगा रहता है एक मालगाड़ी के रैक को 24 घंटे में खाली करने का प्रावधान है, लेकिन रेल अधिकारियों की मिलीभगत से तीन दिन में रैक खाली किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है कि खुले बाजार डिमांड के माफिक गिट्टी, चिप्स का सफ्लाई किया जा सके। जबकि रेलवे को सिर्फ 24 घंटे का राजस्व दिया जाता है। इस गोरखधंधे के लिए संलिप्त कर्मी ठीकेदार से मोटी रकम वसूली करते है। दूसरी ओर रेलवे को राजस्व की क्षति हो रही है। ---------------------------- नही हो रही कार्रवाई, वैध पर लगाते है जुर्माना सरकार के अवैध बालू गिट्टी पर बड़ी कार्रवाई के बावजूद अवैध गिट्टी व चिप्स की ढुलाई करने की छूट दे दी है। जबकि वैध चालान के साथ लाए गए गिट्टी, बालू पर जिला खनन पदाधिकारी के द्वारा जुर्माना के साथ ही ट्रैक्टर का पकड़ लिया जाता है। 500 ट्रक मालिकों के समक्ष बैंक का सेटलमेंट करना भी मुश्किल हो रहा है। इसकी शिकायत मुंगेर जिला ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन के पिकू यादव ने डीआरएम, डीएम, एसपी, एसडीओ सहित अन्य को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग करते हुए लिखा है कि जमालपुर रेलवे रैक से संवेदक के द्वारा अवैध रूप स्व रात्रि के समय जेसीबी मशीन से गिट्टी, चिप्स का सभी वाहनों में लोडिग कराया जाता है। जो रेलवे नियम के विरुद्ध है। रेलवे नियम के अनुसार माल गोदाम से लोडिग, अनलोडिग मजदूर द्वारा कराना होता है। चालान में जिस जगह से ढुलाई का नाम का वर्णन के साथ ही वाहन का नंबर भी होता है। इसकी जांच होनी चाहिए। ------------------------------ कोट -वीडियो क्लिपिग के आधार पर अवैध बालू उत्खनन कर परिचालन करने के मामले में जांच टीम बनाई गई है। सभी अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को अपने क्षेत्र में सजग रहने को कहा गया है। अवैध भंडारण, परिवहन, ओवरलोडिग तथा अवैध मिट्टी कटाई होती हो तो जांचोपरांत विधिसम्मत कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। अवैध खनन, प्रेषण व भंडारण में संलिप्त अवैध कर्ताओं के विरूद्ध खनन नियमों के साथ- साथ दंडात्मक धारा के तहत भी कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया । -नवीन कुमार, जिलाधिकारी मुंगेर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.