top menutop menutop menu

भुतही में उफान से दौलतपुर के लोग दहशत में

मधुबनी। अभी से साल भर पहले 15 जुलाई 2019 को प्रखंड के मध्य से प्रवाहित भुतही का दायां तटबंध 12-13 किमी के बीच टूट गया था। उफनाती भुतही के तेज जलधारा फुफकारती हुई सामने में परसाही पश्चिमी पंचायत के दौलतपुर गांव में प्रवेश कर गई। एक मस्जिद समेत तीस परिवारों के घर इस बाद में बह गए। बाढ़ का पानी राजपुर, महाराजपुर, खुशयालपट्टी और बलानपट्टी होते हुए फुलपरास प्रखंड के महथौर तक पहुंच गया था। दौलतपुर और राजपुर के कई परिवारों को टूटे हुए तटबन्ध के दोनों तरफ ऊंचाई पर महीनों तक रहना पड़ा था। उस वक्त भी मीडिया में चेतावनी भरी खबरें आ रही थी और अधिकारी अनसुनी कर रहे थे। बाढ़ के बाद टूटे तटबंध की नाईलन क्रेटिग कर मरम्मत कर दी गई। साल भर बाद ठीक इसी वक्त भुतही का उफनाता पानी टूट की जगह पर ही टकरा रहा है। नाईलन क्रेटिग के बोरे नीचे धंस कर पानी मे बहते जा रहें है। नाईलन क्रेटिग के चल रहे काम का निरीक्षण करने को आए बाढ़ नियंत्रण अवर प्रमंडल फुलपरास के सहायक अभियंता आदित्य प्रकाश ने बताया कि इस स्थल पर पानी का दवाब अवश्य है, कितु खतरे जैसी कोई बात नही है। गत वर्ष तटबंध टूटने से उत्पन्न संकट के स्वयं भुक्तभोगी रहें ़खुशयालपट्टी निवासी जिला परिषद सदस्य तजमुल हुसैन ने बताया कि तटबंध के आसपास के गांव के लोग फिर ़खौ़फजदा हैं। उन्होंने कहा कि टूट स्थल को बोल्डर से भरकर या सखुवा पाईलिग के जरिए ही सुरक्षित किया जा सकता है।

------------

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.