गर्मी और चिलचिलाती धूप से आम लोगों का जीना मुहाल

मधुबनी। गर्मी और चिलचिलाती धूप के बीच आम लोगों का जीना मुहाल हो गया है। गर्मी के कारण पिछले कई दिनों से शहर के संपूर्ण हिस्सों में जल संकट की समस्या बनी हुई है। गर्मी के दिनों में पानी पाताल की ओर जाने से चापाकल से लगे मोटर के सहारे भी जलापूर्ति मुश्किल हो रही है। नगर परिषद क्षेत्र के सार्वजनिक स्थलों पर गाड़े गए अधिकांश सरकारी चापाकलों को सूख जाने से इस पर निर्भर लोगों को परेशानी बढ़ गई है। नगर परिषद के कार्यपालक आशुतोष आनंद चौधरी ने बताया कि शहर के विभिन्न वार्डो में टैंकर के द्वारा जल की आपूर्ति की जा रही है। शहरी क्षेत्र में गाड़े गए चापाकलों की स्थिति पर पूरी नजर रखी जा रही है। वार्ड 8 में जल संकट से बढ़ गई लोगों की परेशानी :

शहर के वार्ड 8 में जल संकट के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गयी है। इस वार्ड में अधिकांश लोगों के घरों का मोटर रहित चापाकल पानी देना छोड़ दिया है। मोटर युक्त चापाकल भी पानी देने में सक्षम नही हो रही है। वार्ड के विभिन्न हिस्सों में गाड़े गए सरकारी चापाकलों में से कम लेयर पर गाड़े गए चापाकल पानी तो देता है लेकिन पानी से बदबू निकलने के कारण लोगों को पीने का पानी खरीदना पर रहा है। पानी दे रहे कम लेयर वाले चापाकल पर अहले सुबह से ही लोगों की भीड़ उमड़ने लगती है। वार्ड के रत्नेश श्रीवास्तव ने बताया कि वार्ड में अबतक हर घर नल जल का लाभ मुहैया नही होने के कारण लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। हर घर नल जल के लिए पूर्व में पाईप बिछाया गया था लेकिन अबतक जलापूर्ति संभव नही हो रही है। वहीं वार्ड पार्षद रेखा नायक ने बताया कि वार्ड में हर घर नल जल का कार्य चल रहा है। घर से बाहर निकलते समय छाता करें उपयोग :

तापमान काफी बढ़ जाने से लोग विभिन्न प्रकार की समस्याओं से ग्रसित हो रहे हैं। तापमान बढ़ जाने से शरीर का तापमान तेजी से बढ़ने लगता है। जिससे लू लगने की नौबत आ जाती है। लू लगने पर बेहोशी, चक्कर, ते•ा बुखार, उल्टी व त्वचा का लाल गर्म होने की शिकायत बढ़ जाती हैं। वैसे तो सभी उम्र के व्यक्ति गर्मी से प्रभावित होते हैं परन्तु 60 से ऊपर के व्यक्ति, 4 वर्ष तक के बच्चे, दिल के मरीज, उच्च रक्तचाप के मरीज ज्यादा प्रभावित हुआ करते हैं। इन्हे धूप में निकलने से बचना चाहिए। इस मौसम में हल्के सूती कपड़े का चयन करना चाहिए। शरीर में नमी बरकरार रखने के लिए पानी, जूस का सेवन करना चाहिए। चाय, काफी तम्बाकू इत्यादि का त्याग करें अथवा कम मात्रा में लें। घर से बाहर निकलते समय छाता का उपयोग निश्चित रूप से करना चाहिए। लौकी, खीरा, तरबूज, बेल सहित अन्य फलों का सेवन करना चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.