जननायक को भारत रत्न से सम्मानित करे सरकार : आजाद

मधुबनी। राष्ट्रीय नाई महासभा का विराट महासम्मेलन रामकृष्ण महाविद्यालय के सभागार में जिलाध्यक्ष राजा ठाकुर की अध्यक्षता में राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व एमएलसी आजाद गांधी व थानाध्यक्ष अरूण कुमार राय ने दीप प्रज्जवलित कर उदघाटन किया। महासम्मेलन को संबोधित करते हुए आजाद गांधी ने कहा कि नाई जाति की हालत काफी दयनीय है। राजनितक भागीदारी भी सून्य है। इस समाज को सभी राजनैतिक पार्टीयां उपेक्षित करती है। जबतक इस जाति को अनुसूचित जाति में शामिल नहीं किया जाएगा तबतक इस समाज के विकास की कल्पना नही कर सकते है। बिहार सरकार विगत दस वर्ष पूर्व अनुसूचित जाति में शामिल करने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है। लेकिन अभी तक केंद्र सरकार की नींद नही खुली है। श्री गांधी ने कहा कि जबतक इस जाति को अनुसूचित जाति में शामिल नही किया जाता तबतक सदन से सड़क तक लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने केंद्र सरकार को यथाशीघ्र गरीबों के मसीहा जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से सम्मानित करें। जिलाध्यक्ष राजा ठाकुर ने कहा कि जननायक को भारत रत्न देने हेतु सरकार के विरूद्ध चरणबंद्ध संघर्ष जारी रहेगा। जिसमें सभी राष्ट्रीय नाई महासभा के सदस्य अपनी चट्टानी एकता कायम कर संगठन को मजबूती प्रदान हमारी लड़ाई में आगे आए। सम्मेलन के माध्यम से नौ सूत्री प्रस्ताव राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पारित किए। जिसमें शहर में जननायक की आदम कद प्रतिमा लगाने, नाई जाति के लोगों को रोजगार हेतु पांच लाख रूपए दी जाए व भिखारी ठाकुर के नाम एक कला विश्वविद्यालय का निर्माण सहित अन्य मुद्दा शामिल है। सम्मेलन को प्रदेश अध्यक्ष बजनन्दन निर्मल, जितेन्द्र ठाकुर, कृष्णा ठाकुर, अशोक ठाकुर, संजय ठाकुर, नितिराज गांधी, दीपक ठाकुर, राजकुमार ठाकुर, विनोद यादव, अशोक यादव, ललन यादव, संजय ठाकुर, अभय ठाकुर, महेन्द्र ठाकुर, अजीत कुमार, मुकेश ठाकुर, भोला ठाकुर, ललन ठाकुर, दिलीप ठाकुर, गोपाल ठाकुर, प्रदीप ठाकुर, साधु ठाकुर, संदीप ठाकुर, विजय ठाकुर, सुनील, गौड़ी शंकर, पप्पू ठाकुर, परमेश्वर ठाकुर, लक्ष्मण ठाकुर, पवन कुमार, कन्हैया, सहित अन्य ने संबोधित किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.