सुरक्षित यातायात के लिए चालकों को कैंप लगाकर किया जाएगा प्रशिक्षित : परिवहन मंत्री

सुरक्षित यातायात के लिए चालकों को कैंप लगाकर किया जाएगा प्रशिक्षित : परिवहन मंत्री

मधुबनी। राज्य के परिवहन मंत्री शीला कुमारी मंडल ने कहा कि राज्य में सड़क दुर्घटनाओं को

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:42 PM (IST) Author: Jagran

मधुबनी। राज्य के परिवहन मंत्री शीला कुमारी मंडल ने कहा कि राज्य में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए विभाग ने कई अहम निर्णय लिए हैं। सुरक्षित यातायात के लिए बिहार के सभी जिलों में बस चालकों को ड्राइविग संबंधी ट्रेनिग देने की योजना लागू की गई है। ट्रेनिग कैंप में चालकों को वाहन परिचालन संबंधी जानकारी के साथ-साथ वाहन चलाने को लेकर विभाग की ओर से निर्धारित नियमों से अवगत कराया जाएगा। राज्य में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए और भी कई निर्णय लिए जाऐंगे। वे जिला अतिथि गृह में पत्रकारों से बातचीत कर रही थीं। मंत्री बनने के बाद पहली बार अपने गृह जिला पहुंचे परिवहन मंत्री ने कहा कि राज्य के सभी जिलों का दौरा कर यातायात व्यवस्था और जिला परिवहन विभाग की स्थिति की समीक्षा करेंगे। सभी जिलों में जिला परिवहन कार्यालय में सुझाव पेटी लगाया जाएगा, ताकि विभाग और यातायात व्यवस्था से मिले सुझाव और शिकायत पर समुचित कार्रवाई सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने दैनिक जागरण के यातायात नियमों को लेकर चलाएं गए 'सुरक्षित यातायात सप्ताह' अभियान की सराहना करते हुए कहा कि जागरण के अभियान का निश्चित रूप से चालकों पर बड़ा सकारात्मक प्रभाव पडे़गा। कहा कि जिला मुख्यालय में बस स्टैंड के निर्माण के लिए नगर विकास एवं आवास विभाग को निर्देश दिया गया है। आने वाले दिनों में जिला मुख्यालय में डीएम के साथ प्रस्तावित समीक्षा बैठक में बस स्टैंड का मसला रखा जाएगा। इधर, मंत्री को बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के जिलाध्यक्ष उमाशंकर ठाकुर मुन्ना ने एक मांग पत्र सौंपा। जिसमें कोरोना काल में वाहनों के मार्ग टैक्स संबंधी सरकार के आश्वासन को लागू करने, वाहनों के परमिट बनवाने में प्राधिकारो में व्याप्त भ्रष्टाचार को बंद करने एवं समय-समय पर वाहन मालिकों की बैठक कराकर उनकी समस्याओं का समाधान करने समेत जिला मुख्यालय में बस स्टैंड का निर्माण कराने की मांग पर चर्चा की गई है। मौके पर जिला परिवहन पदाधिकारी सुशील कुमार, जदयू जिलाध्यक्ष अब्दुल कैयूम, जिला उपाध्यक्ष गुलाब साह, अविनाश सिंह गौड, अनिल कुमार दास, बुद्ध प्रकाश, जावेद अनवर, राम कुमार मंडल, राजेंद्र प्रसाद मंडल, उपेंद्र नाथ कामत, शिवनाथ चौधरी सहित अन्य मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.