शहर को जलजमाव से निजात दिलाने के दावे टांय-टांय फि स्स

मधुबनी। मानसून की रुक-रुककर हो रही बारिश शहर को डुबोने पर तुली है। बारिश शहर मे

JagranSun, 04 Jul 2021 11:21 PM (IST)
शहर को जलजमाव से निजात दिलाने के दावे टांय-टांय फि स्स

मधुबनी। मानसून की रुक-रुककर हो रही बारिश शहर को डुबोने पर तुली है। बारिश शहर में कोहराम मचा रही है, जबकि नगर निगम के जलनिकासी के दावे बारिश के पानी में बह गए हैं। शहर के अधिकांश गली-मोहल्ले की बात तो दूर, शहर की मुख्य सड़कों पर भी लोगों को जलजमाव से फजीहत झेलनी पड़ रही है। हालांकि, पिछले दो दिनों से मौसम में थोड़ा सुधार भी हुआ है। रुक-रुककर बारिश तो हो रही है, साथ में धूप भी खिल रही है। मुख्य सड़कों का पानी तो थोड़ी देर में निकल भी जाता है, लेकिन गली-मोहल्लों में जलजमाव से लोगों को निजात नहीं मिल रही है। शहर की विनोदानंद झा कालोनी हो या प्रगतिनगर या फिर आदर्श नगर मोहल्ला, सभी जगहों पर जलजमाव से लोग आजिज आ चुके हैं। विनोदानंद झा कॉलोनी की हालत यह है कि कॉलोनी के करीब एक दर्जन लोग जलजमाव से निजात पाने के लिए कॉलोनी से पलायन कर गए हैं।

इधर, तिरहुत कॉलोनी, प्रगतिनगर में जलजमाव के कारण लोगों को घर से निकलना मुश्किल हो गया है। वहीं, जलजनित रोगों व मच्छरों के बढ़ते प्रकोप से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। शहर के संतुनगर चौक से लहेरियागंज जाने वाली सड़क पर जलजमाव से लोगों का घर से निकलना दूभर हो गया है। इधर, वार्ड 20 बाल्मीकि बस्ती में जलजमाव से लोगों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जबकि, गदियानी चौक से बड़ा बाजार जाने वाली सड़क पर जलजमाव से लोग आजिज आ चुके हैं। जाहिर है कि नगर निगम प्रशासन द्वारा शहर में जलनिकासी को अपनाए गए सभी उपाय ध्वस्त नजर आ रहे हैं। जलजमाव को लेकर आम लोगों में गुस्सा बढने लगा है। वहीं, अधिकांश वार्ड पार्षदों में भी नगर निगम प्रशासन के प्रति नाराजगी देखी जा रही है। नगर निगम के उप नगर आयुक्त अरुण कुमार ने बताया कि शहरी में जलजमाव से निजात पाने के दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। टापू में तब्दील विनोदानंद झा कालोनी

विनोदानंद झा कालोनी टापू में तब्दील हो गई है। इस कालोनी होकर शहर के कई हिस्से के पानी का बहाव होता है। मगर, रेलवे स्टेशन होते हुए 12 नंबर गुमटी ओवरब्रिज के निकट पानी का बहाव बाधित होने से जलनिकासी नहीं हो रही है। कालोनी के पूरब रेलवे परिसर में रेलवे का केनाल जंगल-झाड़ से जाम है। रेलवे स्टेशन चौक से प्रधान डाकघर जाने वाली सड़क पर जलजमाव बना है। वहीं, प्रधान डाकघर में भी बारिश का पानी प्रवेश कर गया है। इधर, रेलवे कालोनी में जलजमाव से रेल कर्मियों की परेशानी बढ़ गई है। बता दें कि रेलवे के अधीन नाला वर्षों से जाम पड़ा है। जलजमाव से पदाधिकारियों की बढी परेशानी

आम लोगों को जलजमाव से परेशानी की बात तो दूर, सदर अस्पताल चौक से कोतवाली चौक के बीच कई वरीय पदाधिकारियों के आवासीय परिसर के अलावा ऑफिसर्स कॉलोनी में जलजमाव ने पदाधिकारियों की परेशानी बढा दी है। इधर, प्राइवेट बस स्टैंड परिसर में जलजमाव और कीचड़ के बीच यात्रियों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। कीचड में खड़े बस में यात्रियों को सवार होने में बड़ी परेशानी हो रही है। स्टैंड में जगह के अभाव में बसों को कीचड में खड़ा रखना पड़ रहा है। वहीं, वार्ड 30 के यदुवंशी नगर में रामभगत बारी सहित दो दर्जन लोगों के घरों में बारिश का पानी प्रवेश कर गया है।

बारिश में जलजमाव बना शहर की नियति

बारिश के मौसम में मधुबनी शहर हर साल अपनी दुर्गती पर आंसू बहाने को मजबूर है। पिछले साल भी मानसून की बारिश में पूरा शहर तैरने लगा था। उस समय शहरवासियों को यह उम्मीद दी गई कि अगले साल की बारिश से पहले जलनिकासी की महत्वाकांक्षी योजना स्ट्रॉम वाटर ड्रेनेज प्रोजेक्ट को पूरा कर लिया जाएगा और शहर में जलजमाव की समस्या का स्थाई निदान होगा। शहरवासियों ने इसी उम्मीद में पूरा साल गुजार दिया, लेकिन इस बार फिर बारिश का मौसम आते ही शहर व शहरवासियों की हालत पिछले सालों की तरह ही हो गई। ना प्रोजेक्ट पूरा हुआ, ना बड़े-बड़े केनालों की समुचित सफाई हो सकी और ना ही शहर के नालों को अतिक्रमण से निजात मिली। बारिश आते ही सारे दावे टांय-टांय फिस्स हो गए। नगर निगम प्रशासन एक बार फिर शहर को जलजमाव से मुक्ति दिलाने का भरोसा शहरवासियों को देने लगे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.