सीनेट में 661 करोड़ का वार्षिक बजट मात्र तीन मिनट में ध्वनिमत से पारित

सीनेट में 661 करोड़ का वार्षिक बजट मात्र तीन मिनट में ध्वनिमत से पारित

मधेपुरा। बीएन मंडल विवि परिसर स्थित प्रेक्षागृह में मंगलवार को सीनेट का 21वां अधिवेशन भारी ग

Publish Date:Wed, 13 Jan 2021 12:12 AM (IST) Author: Jagran

मधेपुरा। बीएन मंडल विवि परिसर स्थित प्रेक्षागृह में मंगलवार को सीनेट का 21वां अधिवेशन भारी गहमा-गहमी के बीच संपन्न हो गया। कुलपति डॉ. आरकेपी रमण की अध्यक्षता में आयोजित सीनेट की बैठक में 660 करोड़ 84 लाख 30 हजार 365 रुपये का बजट मात्र तीन मिनट में ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। सीनेट ने गत बैठक की कार्यवाही की संपुष्टि सर्वसम्मति से की गई। इसके अलावा गत बैठक में लिए गए निर्णय के अनुपालन प्रतिवेदन पर विचार, वार्षिक प्रतिवेदन का अनुमोदन, वित्तीय वर्ष 2020-21 के वास्तविक आय व्यय के लेखा प्रतिवेदन का अनुमोदन, वार्षिक बजट का अनुमोदन, विभिन्न समितियों के कार्यवृत्त का अनुमोदन, महाविद्यालयों के संबंधन व नव संबंधन व पद सृजन के प्रस्ताव का अनुमोदन सदन से कराया गया। इससे पहले कुलाधिपति के पत्र के आलोक में बैठक की कार्यवाही प्रारंभ की गई। कुलपति के अध्यक्षीय अभिभाषण पर सदस्यों ने अपनी बात रखी। साथ ही सदस्यों ने अपने-अपने प्रश्न भी सदन में उठाए। इस बीच सदस्यों ने विवि के पदाधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए। इसमें वित्त विभाग के दो पदाधिकारियों पर एमएलसी संजीव कुमार सिंह, प्रमोद कुमार, प्रमोद चंद्रवंशी सहित अन्य सदस्यों ने तल्ख टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि वित्त विभाग के दागी पदाधिकारी हरे-हरे गांधी जी के चढ़ावा बिना कार्य नहीं करते हैं। वहीं सीनेट सदस्य रंजन यादव और भवेश झा ने छात्र हित के मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाया। बैठक में विधायक द्वय गुंजेश्वर साह व नीरज कुमार सिंह बबलू, डॉ. ज्ञानदेव मणि त्रिपाठी, डॉ. नरेश कुमार, मनीषा रंजन, रंजन कुमार, जवाहर झा, रामनरेश सिंह, डॉ जवाहर पासवान, गौतम कुमार, प्रमोद कुमार, प्रधनाचार्य डॉ. केएस ओझा, डॉ. राजीव सिन्हा, डॉ. रीता सिंह, डॉ. केपी यादव, डॉ. संजीव कुमार, डॉ. रेणु सिंह, डॉ. अरबिद कुमार, डॉ. लंबोदर झा, डॉ. उषा सिंह, डॉ. अभिनंदन यादव, डॉ. सुभाष झा, शोभाकांत कुमार, डॉ. अशोक कुमार सिंह, डॉ. अरुण खां, दिनेश यादव, संजीव कुमार सिंह, नूतन सिंह, नरेश कुमार, शैलेश्वर प्रसाद, विपिन कुमार सिंह, प्रमोद कुमार चंद्रवंशी, रियासी गुप्ता सहित अन्य मौजूद थे। कार्यक्रम के आयोजन में अकादमिक निदेशक प्रोफेसर डॉ. एमआइ रहमान, उपकुलसचिव अकादमिक डॉ. सुधांशु शेखर, कुलपति के निजी सहायक शंभू नारायण यादव, पृथ्वीराज यदुवंशी, बिमल कुमार आदि ने सहयोग किया। राष्ट्रीय गान जन गण मन के साथ सीनेट की बैठक का हुआ समापन सीनेट में प्रति कुलपति प्रोफेसर डॉ. आभा सिंह ने बजट भाषण प्रस्तुत किया। वहीं हिदी विभागाध्यक्ष डॉ. उषा सिन्हा द्वारा गत अधिषद की बैठक (22. 02. 2020) की कार्रवाई की सम्पुष्टि प्रस्ताव रखा। डीएसडब्लू डॉ. अशोक कुमार यादव गत अधिषद की बैठक में लिए गए निर्णय का अनुपालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। बीएनएमभी कॉलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डॉ. केएस ओझा वार्षिक प्रतिवेदन (2019-2020) के अनुमोदन का प्रस्ताव रखा। भौतिकी विभागाध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-2020 के वास्तविक आय-व्यय का लेखा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। एमएलटी कॉलेज, सहरसा के प्रधानाचार्य डॉ. डीएन साह द्वारा विभिन्न प्राधिकारों/निकायों/ समितियों के कार्यवृत का अनुमोदन प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। मैथिली विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रामनरेश सिंह विभिन्न महाविद्यालयों के संबंधन, नवसंबंधन, संबंधन दीर्घीकरण एवं पदसृजन का प्रस्ताव प्रस्तुत किया। डॉ. जवाहर पासवान द्वारा अधिषद सदस्यों से प्राप्त प्रश्नों के उत्तर की प्रस्तुति की। अंत में लेफ्टिनेंट गौतम कुमार द्वारा शोक प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। संचालन कुलसचिव डॉ. कपिलदेव प्रसाद ने किया। इसके पूर्व कुलपति के अभिभाषण पर विभिन्न सदस्यों ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। अंत में राष्ट्रीय गान जन गण मन के सामूहिक गायन के साथ बैठक संपन्न हुई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.