top menutop menutop menu

विरोध प्रदर्शन की सफलता को लेकर विमर्श

विरोध प्रदर्शन की सफलता को लेकर विमर्श
Publish Date:Mon, 03 Aug 2020 11:43 PM (IST) Author: Jagran

मधेपुरा। क्रांति दिवस के अवसर पर नौ अगस्त को बिहार राज किसान सभा, जनवादी महिला समिति व अन्य मजदूर संगठनों द्वारा संयुक्त रूप से प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए सोमवार को बालम गढि़या में आंदोलन की तैयारी को लेकर बैठक आयोजित की गई।

बैठक को संबोधित करते हुए सीपीएम के राज्य कमेटी सदस्य गणेश मानव ने कहा कि आज पूरा देश और दुनियां कोरोना वायरस से पीड़ित है। पीड़ितों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। महामारी को रोकने में भारत सरकार और बिहार सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। कोरोना महामारी के बावजूद बिहार सरकार चुनाव प्रचार में जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि नौ अगस्त को विरोध प्रदर्शन के माध्यम से सरकार से मांग करेंगे कि प्रत्येक जरूरतमंद व्यक्तियों को अगले छह माह तक 75 सौ रुपया नगद प्रत्येक माह एवं दस किलो अनाज दिया जाय। एसएफआइ नेता राजदीप कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान सबसे अधिक दुर्गति छात्रों की हुई है। सरकार सभी छात्रों को छात्रवृति दें और पढ़ाई की समुचित व्यवस्था करें। विमल विद्रोही ने कहा कि विकट परिस्थिति में छात्र और नौजवान को सरकार की तरफ से भोजन पढ़ाई और इलाज की व्यवस्था होनी चाहिए। सीपीएम नेता सुशील कुमार ने बैठक में शामिल सभी से नौ अगस्त को प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील की। बैठक में रोशन कुमार, धर्मेंद्र कुमार, सीता देवी, आशा देवी, प्रमिला देवी, मीना देवी, संजू देवी व अन्य मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.