कार्टन में कैद टीबी विभाग की एक्स-रे मशीन, मरीजों को नहीं मिल रहा लाभ

संवाद सहयोगी लखीसराय जिले से यक्ष्मा रोग को जड़-मूल से उखाड़ फेंकने को लेकर लड़ाई लड़

JagranThu, 02 Dec 2021 07:47 PM (IST)
कार्टन में कैद टीबी विभाग की एक्स-रे मशीन, मरीजों को नहीं मिल रहा लाभ

संवाद सहयोगी, लखीसराय : जिले से यक्ष्मा रोग को जड़-मूल से उखाड़ फेंकने को लेकर लड़ाई लड़ रहा जिला यक्ष्मा विभाग खुद बीमार है। संसाधनों और मानव बल की कमी एवं विभागीय उदासीनता के कारण यह विभाग खुद इलाज के लिए तरस रहा है। जिला मुख्यालय स्थित पुराने सदर अस्पताल के जर्जर भवन में जिला यक्ष्मा केंद्र किसी तरह संचालित हो रहा है। यहां प्रयोगशाला कक्ष के लिए उपकरण सहित अन्य सामग्री का भी अभाव है। एक वर्ष पूर्व ही स्वास्थ्य विभाग ने जिला यक्ष्मा केंद्र को सबसे नवीनतम तकनीक की डिजिटल एक्स-रे मशीन उपलब्ध कराई गई है। परंतु जगह के अभाव में डिजिटल एक्स-रे मशीन कार्टन में कैद है। इसपर अभी धूल की परतें जम गई है। विभागीय सूत्रों की मानें तो अगर जल्द ही इस एक्स-रे मशीन को स्थापित नहीं किया गया तो स्वास्थ्य विभाग इसे वापस लेकर दूसरे जिला में भेज देगा।

----

जर्जर कमरे का जीर्णोद्धार कराने के लिए राशि नहीं

जिला यक्ष्मा केंद्र कार्यालय भवन के जिस कमरे में डिजिटल एक्स-रे मशीन को स्थापित की जानी है वह कमरा काफी जर्जर है। उस कमरे का जीर्णोद्धार कराने में ढाई से तीन लाख रुपये की राशि खर्च होने का अनुमान है। परंतु विभाग के पास राशि उपलब्ध नहीं है। इस कारण जर्जर कमरे का जीर्णोद्धार नहीं हुआ। एक्स-रे मशीन कार्यालय के बरामदे में जैसे-तैसे डब्बा में बंद करके रखी हुई है। जब तक कमरे का जीर्णोद्धार नहीं होता है तब तक डिजिटल एक्स-रे मशीन स्थापित करना मुश्किल है। विगत दिनों केंद्रीय स्वास्थ्य टीम के निरीक्षण के पूर्व राज्य टीबी पदाधिकारी द्वारा जिला यक्ष्मा केंद्र का निरीक्षण किया गया। इस दौरान जिला यक्ष्मा नियंत्रण पदाधिकारी द्वारा इस ओर उनका ध्यान आकृष्ट कराया गया। राज्य टीबी पदाधिकारी द्वारा जल्द ही राशि उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया गया। परंतु अबतक राशि उपलब्ध नहीं कराई गई है।

-----

कोट

विभाग ने एक वर्ष पूर्व ही डिजिटल एक्स-रे मशीन और सीआर सिस्टम उपलब्ध कराया है। जिस कमरे में इसको स्थापित की जानी है उस कमरे का मरम्मत कार्य कराया जाना है। इसके लिए जिलाधिकारी और सिविल सर्जन ने बिहार चिकित्सा सेवाएं एवं आधारभूत संरचना निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखकर एक्स-रे मशीन और सीआर सिस्टम उपलब्ध कराने वाली कंपनी को मशीन स्थापित कराने का अनुरोध किया है। विगत दिनों निरीक्षण के दौरान राज्य टीबी पदाधिकारी से भी राशि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया। उन्होंने जल्द ही राशि उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया है।

डा. प्रकाशचंद्र वर्मा, जिला यक्ष्मा नियंत्रण पदाधिकारी, लखीसराय

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.