top menutop menutop menu

नक्सली खौफ से संग्रामपुर के राशन दुकानदार ने घर छोड़ा

नक्सली खौफ से संग्रामपुर के राशन दुकानदार ने घर छोड़ा
Publish Date:Sun, 09 Aug 2020 08:47 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, चानन (लखीसराय) : चानन थाना क्षेत्र में लोगों में नक्सलियों का खौफ इस कदर है कि वे अपने घरों को छोड़ने को मजबूर हो रहे हैं। शनिवार की देर रात संग्रामपुर गांव के एक राशन दुकानदार अशोक वर्णबाल परिवार सहित अपने घर से बाहर सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कर गया है। अशोक वर्णबाल के बेटे टिकु वर्णबाल जमुई जिला के ट्रेजरी में अनुबंध पर कार्यरत हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों के द्वारा लेवी को लेकर राशन दुकानदार अशोक वर्णबाल को फोन पर धमकी दी गई थी। इससे भयभीत राशन दुकानदार के स्वजनों में भय का माहौल पैदा होने लगा। इसकी सूचना अशोक वर्णबाल ने अपने पुत्र टिकु को दी। टिकु शनिवार की शाम मोटर साइकिल से अपने गांव संग्रामपुर पहुंचा और चानन थाना पुलिस के सहयोग से रोजमर्रा उपयोग के आवश्यक सामानों को अटैची, बक्सा व बैग लेकर सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट कर गया है। उधर इस संबंध में चानन थानाध्यक्ष वैभव कुमार ने कुछ बोलने से परहेज किया है। मालूम हो कि नक्सलियों ने लेवी की मांग को लेकर बीते सोमवार की मध्य रात्रि को मननपुर बस्ती से भलूई पंचायत के मुखिया गणेश रजक एवं ग्रामीण राजेन्द्र यादव का अपहरण कर लिया था। चर्चा है कि तय रकम लेने के बाद नक्सलियों ने दोनों को मुक्त कर दिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.