माघी पूर्णिमा : गंगा घाट व अशोकधाम में श्रद्धालुओं का लगा मेला

माघी पूर्णिमा : गंगा घाट व अशोकधाम में श्रद्धालुओं का लगा मेला

लखीसराय । पवित्र माघी पूर्णिमा के अवसर पर शनिवार को जिले भर में धार्मिक माहौल रहा। गंगा

JagranSat, 27 Feb 2021 10:05 PM (IST)

लखीसराय । पवित्र माघी पूर्णिमा के अवसर पर शनिवार को जिले भर में धार्मिक माहौल रहा। गंगा, किऊल, हरूहर नदी के अलावा गांव के तालाबों में स्नान करके लोगों ने मंदिरों में पूजा-अर्चना की। इस दौरान बड़हिया कॉलेज गंगा घाट सहित कई घाटों पर आस्था की डुबकी लगाने को लेकर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ लगी रही। ग्रामीण महिलाएं गंगा मैया के गीत गाते हुए उनकी आराधना करते हुए अल सुबह से ही गंगा घाट पर पहुंचने लगे। ट्रेन परिचालन सामान्य नही रहने के कारण सड़क मार्ग से काफी संख्या में महिलाएं ओटो और अन्य वाहनों से गंगा स्नान करने बड़हिया, सिमरिया, मरांची गई। धर्मशास्त्रों के मुताबिक माघी पूर्णिमा पर गंगा स्नान को विशेष महत्व दिया गया है। श्रद्धालुओं ने बड़हिया कॉलेज घाट सहित जैतपुर, खुटहाडीह, पिपरिया, लाल दियारा सहित विभिन्न गंगा घाटों में गंगा स्नान कर शिव मंदिरों, ठाकुरबाड़ियों एवं शिवालयों में जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की। बिहार के बाबाधाम के रूप में विख्यात श्री इन्द्रदमनेश्वर महादेव मंदिर अशोकधाम में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। जिला अंतर्गत विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों के अलावे राज्य के विभिन्न जिलों से भी श्रद्धालु अशोकधाम मंदिर पहुंचकर विशाल शिवलिग पर जलाभिषेक किया। अशोकधाम मंदिर में सुबह में कुछ कम भीड़ रही। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया भीड़ बढ़ती गई। मंदिर में भीड़ के मद्देनजर कोई भी प्रशासनिक व्यवस्था नजर नहीं आई। नवाह परायण रामधुन के समापन पर निकली शोभायात्रा

संसू.,बड़हिया (लखीसराय) : बड़हिया प्रखंड के खुटहा डीह गांव में शनिवार को नवाह परायण रामधुन यज्ञ के समापन के अवसर पर ग्रामीणों द्वारा भव्य शोभायात्रा निकाली गई। गाजे बाजे, दर्जनों घोड़े एवं पारंपरिक वाद्य यंत्र के साथ पालकी पर सवार भगवान के साथ निकाली गई शोभायात्रा खुटहा डीह ग्राम के सभी टोलों मुहल्लों से होते हुए तीननमा बड़की गंगा घाट पर जाकर समाप्त हुई। वहां गंगा स्नान तथा हवन पूजन के पश्चात यज्ञ का समापन हुआ। ज्ञात हो कि खुटहा डीह स्थित विजय राघव ठाकुरबाड़ी, मरकाही टोला, चौभैया पंचमा टोल एवं पासवान टोला में माघ श्रीपंचमी से नौ दिवसीय अखंड रामधुन प्रारंभ हुआ। माघी पूर्णिमा के अवसर पर यज्ञ का समापन किया गया। ग्रामीणों ने बताया कि गांव के राघवजी ठाकुरबाड़ी में सन 1962 में रामभजन दास जी महाराज ने इस कार्यक्रम की शुरूआत की थी। उस वक्त से लेकर आज तक हर वर्ष माघ माह की श्रीपंचमी से पूर्णिमा तक अखंड रामधुन का आयोजन किया जाता रहा है। समापन के पश्चात भव्य शोभा यात्रा निकाली जाती है। इस मौके पर ग्रामीण भरतलाल, रामशोभा सिंह, रामो सिंह, नीलू सिंह, ब्रह्मदेव सिंह, नागमणि सिंह, प्रमोद पासवान, शंकर सिंह, ललन मंडल, चकोरी राम, नथुनी राम , उपेंद्र सिंह,रामु सिंह, संजय पासवान, शत्रु पासवान, पूजा गायक, उदय सिंह, राजीव कुमार, रूबी देवी, कृष्णा देवी, पुनीता समेत कई लोग उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.