उत्साहपूर्वक माहौल में मां दुर्गे की प्रतिमा का किया गया विसर्जन

किशनगंज। शारदीय नवरात्र व दुर्गा पूजा की समाप्ति के बाद विजयादशमी को मां दुर्गा के भक्तों ने मा

JagranSat, 16 Oct 2021 07:20 PM (IST)
उत्साहपूर्वक माहौल में मां दुर्गे की प्रतिमा का किया गया विसर्जन

किशनगंज। शारदीय नवरात्र व दुर्गा पूजा की समाप्ति के बाद विजयादशमी को मां दुर्गा के भक्तों ने मां की प्रतिमाओं का विसर्जन पूरी आस्था व उत्साह के साथ किया। नगर में स्थापित सभी पूजा पंडालों में शुक्रवार को विजयादशमी मनाया गया और वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पुरोहित ने विधि पूर्वक विजयादशमी में विसर्जन की प्रक्रिया पूरी की। विसर्जन करने से पहले विधिवत मां दुर्गा की पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर नगर ठाकुरगंज में आयोजित नौ दुर्गा पूजा मंदिरों व पंडालों के सभी प्रतिमाओं का विसर्जन शुक्रवार को विजयादशमी पर ही विसर्जित कर अंतिम विदाई दी गई। प्रतिमाओं के विसर्जन के संबंध में प्रशासन की ओर से विजयादशमी के दिन ही प्रतिमा विसर्जन के आदेश दिए जाने की वजह से शहर के सभी माता मंदिरों व पूजा पंडालों की प्रतिमा का विसर्जन दशमी को ही किया गया।

पूजा मंडप की प्रतिमा भातडाला पोखर, कचहरीपाड़ा सागडाला पोखर, महानंदा नदी में विसर्जित की गई। प्रशासन द्वारा विसर्जन जुलूस में डीजे में प्रतिबंध लगाए जाने के कारण कुछ पूजा समिति ने पारंपरिक ढ़ोल गाजे-बाजे के साथ मां का विसर्जन किया। जबकि कई समितियों ने सादगी के साथ विसर्जन जुलूस निकाला। विसर्जन जुलूस के दौरान मां दुर्गा को विदाई देने के लिए श्रद्धालुओं ने जमकर जयकारा लगाये। जिस रास्ते से भी विसर्जन जुलूस निकला उधर मां के दर्शन करने के लिए लोगों की भीड़़ लगी रही। भक्तगण ढोल के धुन पर नाचते-थिरकते और एक दूसरे को अबीर-गुलाल लगाते चल रहे थे। किसी प्रकार की अप्रिय घटना न हो इसको लेकर सर्किल पुलिस इंस्पेक्टर सुनील कुमार पासवान व ठाकुरगंज थानाध्यक्ष मोहन कुमार के नेतृत्व में पुलिस प्रशासन प्रतिमा विसर्जन यात्रा में विशेष नजर बनाए हुए रहे। बीडीओ सुमित कुमार व सीओ ओमप्रकाश भगत भी प्रखंड व अंचल क्षेत्र का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लेते नजर आए। प्रतिमा विसर्जन के दौरान शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में समुचित संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई थी।

देवी दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के पूर्व बंगाली समुदाय की महिला श्रद्धालुओं ने सिदूर की होली खेली। प्रतिमाओं के विसर्जन के पहले महिला श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा को सिदूर लगाया, पान से गालों को चुमाया और मुंह मीठा कराया। देवी दुर्गा को विदा करने के लिए बड़ी संख्या में महिलाओं का जमावड़ा पंडालों में था। आपस में महिलाओं ने एक दूसरे को सिदूर लगाया। ढाकिये की धुन पर नाचती महिला श्रद्धालुओं ने मां को विदाई दी। साथ ही अगले बरस आने का न्यौता दिया। कई महिलाएं सेल्फी लेते, मां दुर्गा की प्रतिमा के साथ इस पल को कैमरे में कैद करते हुए दिखाई दी। आंखों में आंसू और चेहरे पर मुस्कान लिए महिला श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा से मन्नतें व आशीष मांगा और अपने किसी भी गलतियों के लिए क्षमा याचना की।

इधर दशहरा के पावन अवसर पर विजयादशमी के दिन नगर स्थित बाजार पूजा समिति, ठाकुरगंज के प्रांगण में रावण दहन कार्यक्रम के तहत रावण के पुतले को जलाया गया। असत्य पर सत्य की जीत के प्रतीक के रूप में मनाए जाने वाले इस पर्व के दौरान बाजार पूजा समिति के प्रांगण में काफी भीड़ के बीच विधि विधान के साथ रावण का पुतला दहन किया गया। इस दौरान पूजा समिति के डा. सुब्रत सरकार, गोपाल केजरीवाल, पूर्व मुख्य पार्षद देवकी अग्रवाल, निरंजन मोर, दुलाल दत्ता, गणेश अग्रवाल आदि सहित मारवाड़ी युवा मंच के सक्रिय सदस्यों ने रावण दहन के दौरान आकर्षक आतिशबाजी के इंतजाम किये गये थे जो कार्यक्रम शुरू होने के एक घंटा पूर्व से शुरू हो गया था। टेढ़ागाछ : प्रखंड में शांतिपूर्ण माहौल में दशहरा का त्योहार संपन्न हुआ। श्रद्धालुओं ने गाजेबाजे के मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। क्षेत्र के लोगों ने शांति सछ्वावना के साथ उत्सव के रूप में दशहरा पर्व को सौहार्दपूर्ण माहौल में मनाया। बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक यह पावन पर्व दशहरा लोगों के जीवन में सुख समृद्धि व शांति लेकर आता है। विजयादशमी के शुभ अवसर पर फुलवरिया, ढ़वेली, सुहिया, बीबीगंज, बैरिया, खनियाबाद, बेणुगढ़, मटियारी आदि पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़। श्रद्धालुओं ने माता से आपसी भाईचारा, सुख शांति और समृद्धि की मंगल कामना के साथ-साथ माता रानी का विदाई विनम्र भाव के साथ किया। गगनचुंबी माता रानी के जयकारे, शंख के शंखनाद, घड़ी घंट के मधुर धुन एवं ढोल-ढ़ाक की आवाज से गुंजायमान पूरा क्षेत्र भक्तिमय माहौल में मानो लीन हो चुका था। भक्तों ने माथे पर माता रानी की चुनरी बांध उनके गीत संगीत, मंत्रोच्चारण के बीच लोकलुभावन नृत्य प्रस्तुत किया। माता रानी का पंडाल पुष्पों की माला, बिजली की रंग बिरंगी लाइटों की सजावटों के बीच भक्तों के नए-नए परिधान से सुशोभित हो रहा था। भक्त एक दूसरे को विजयादशमी की शुभकामनाएं दे रहे थे। इस बीच भीड़-भाड़ को देखते हुए प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न चौक-चौराहों, पूजा-पंडालों में मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस के जवान दल बल के साथ तैनात थे। बीडीओ गन्नौर पासवान, सीओ अजय चौधरी, थानाध्यक्ष तरूण कुमार तरूणेश, कृषि पदाधिकारी उदय शंकर समय-समय पर विभिन्न पूजा पंडालों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते नजर आए। मूर्ति विसर्जन के लिए घाटों पर गोताखोर आदि के पुख्ता प्रबंध किए गए थे, जिससे कोई अप्रिय घटना घटित नहीं हो।

------------------

संवाद सूत्र, पहाड़कट्टा : पोठिया प्रखंड क्षेत्र में शुक्रवार को दुर्गा पूजा का त्योहार बड़े ही धूमधाम व सौहार्दपूर्ण माहौल में संपन्न हो गया है। प्रखंड क्षेत्र के अलग-अलग स्थानों में आकर्षक पंडाल बनाए गए थे। जहां मां दुर्गा की भव्य और मनमोहक प्रतिमाएं स्थापित की गयी। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं को पूजा पंडालों में पहुंचकर मां दुर्गा के दर्शन किए। क्षेत्र के लोगों ने आपसी भाईचारे का परिचय देते हुए एक दूसरे को सोशल मीडिया के माध्यम से पर्व की बधाई दी। विजयादशमी के उपलक्ष्य पर क्षेत्र में लगातार दस दिनों तक भक्ति एवं श्रद्धा का माहौल कायम रहा। जानकारी के मुताबिक पोठिया व पहाड़कट्टा थाना क्षेत्र के अंतर्गत पोठिया बाजार, छत्तरगाछ, दामलबाडी, पहाड़कट्टा, धुमनिया, रायपुर, खरखड़ी, बल्दिया हाट, टीपीझारी, कलियागंज, तैयबपूर, बड़ाघडिया, सोनापूर, जनता हाट, मिर्जापुर तथा दलुआ हाट आदि स्थानों पर कोविड- प्रोटोकाल का पालन करते हुए पांडालों में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर भक्ति भाव से मां दुर्गा की धार्मिक विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की गई। इधर पोठिया थानाध्यक्ष कुंदन कुमार, पहाड़कट्टा थानाध्यक्ष आरिज एहकाम, छत्तरगाछ ओपी प्रभारी सरोज कुमार, अर्राबाडी ओपी प्रभारी प्रवेज आलम खां, चिचूआबाडी ओपी प्रभारी बाबूलाल ने अपने-अपने थाना क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम में जुटे हैं। सार्वजनिक दुर्गा मंदिर छतरगाछ में पूजा कमेटी के अध्यक्ष मास्टर शेखर दास, सचिव मानीक लाल राय, कोषाध्यक्ष सुबोध राय, सदस्य राजा रजक, श्याम ठाकुर, महेंद्र पंडित, प्रकाश चौधरी, शुकारू लाल राय, राजू, राहुल, अभि राय, शुभम तथा नवरत्न अग्रवाल आदि दर्जनों मौजूद थे। पौआखाली : पौआखाली सहित आसपास के क्षेत्रों में विगत नौ दिनों से चल रहे नवरात्र महापर्व का समापन शुक्रवार को मां दुर्गा के प्रतिमा विसर्जन के साथ ही हो गया। विजयादशमी को दुर्गापूजा के अंतिम दिवस होने के कारण पूजन स्थलों पर मां दुर्गा के दर्शन को काफी श्रद्धालु उमड़े। इस अवसर पर आदिवासी समुदाय के लोगों द्वारा पारंपरिक नृत्य संगीत की प्रस्तुति लोगों के लिए खासा आकर्षण का केंद्र रहा। कुछ जगहों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए गए। इस अवसर पर नगर पंचायत पौआखाली के सार्वजनिक दुर्गा मंदिर से बैंड बाजे के भक्ति धुन पर मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन पवना घाट पर किया गया। वहीं विसर्जन यात्रा पौआखाली बाजार, महावीर मन्दिर मार्ग, फुलबाड़ी, केलाबाड़ी होते हुए पवना घाट तक गई। पौआखाली थानाध्यक्ष इकबाल अहमद खां थाना के प्रशिक्षु अवर निरीक्षक रंजन कुमार यादव, विकास कुमार, एएसआई संजय कुमार के साथ विसर्जन जुलूस में शांति व्यवस्था बनाए रखने तथा ट्रैफिक नियंत्रण हेतु सतर्क रहे। इसके साथ ही शुक्रवार को पौआखाली, खानाबाड़ी, सरायकुड़ी, रसिया, दलबाड़ी में मां दुर्गा की विदाई शांतिपूर्ण तरीके से की गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
You have used all of your free pageviews.
Please subscribe to access more content.
Dismiss
Please register to access this content.
To continue viewing the content you love, please sign in or create a new account
Dismiss
You must subscribe to access this content.
To continue viewing the content you love, please choose one of our subscriptions today.