उर्वरक दुकानों की जांच में पकड़ी गई गड़बड़ी, एक पर केस 14 से शो काज

कटिहार। जले में खाद की कालाबाजारी व किसानों से अधिक दाम वसूले जाने की शिकायत पर डीएम के आदेश पर जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा टीम का गठन कर उर्वरक दुकानों की जांच कराई गई।

JagranSun, 25 Jul 2021 12:04 AM (IST)
उर्वरक दुकानों की जांच में पकड़ी गई गड़बड़ी, एक पर केस 14 से शो काज

कटिहार। जले में खाद की कालाबाजारी व किसानों से अधिक दाम वसूले जाने की शिकायत पर डीएम के आदेश पर जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा टीम का गठन कर उर्वरक दुकानों की जांच कराई गई। जिला कृषि पदाधिकारी दिनकर प्रसाद सिंह ने बताया की जिले के सभी 16 प्रखंड में 40 दुकानों की जांच कराई गई। जिसमें 17 खाद दुकानदारों द्वारा अनियमितता व गडबड़ी बरते जाने की बात सामने आई। एक उर्वरक विक्रेता द्वारा एक आधारकार्ड पर अधिक उर्वरक उठाव को लेकर डीएम के आदेश पर केस दर्ज कराया गया है। दो दुकानदारों का लाइसेंस निलंबित कर 14 से स्पष्टीकरण पूछा गया है। उन्होंने बताया की खरीफ के समय किसानों को जरूरत के मुताबिक सही दाम पर खाद की उपलब्धता को लेकर समय समय पर उर्वरक दुकानों की जांच कराई जा रही है। उर्वरक की उपलब्धता एवं वितरण सहित किसानों की शिकयत पर लागतार मानिटरिग की जा रही है।

जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा शनिवार को कोलासी में एक खाद दुकान का औचक निरीक्षण किया गया। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया की जांच में आवश्यक कागजात नहीं दिखाए जाने को लेकर संबंधित दुकानदार से स्पष्टीकरण पूछा गया है।

उर्वरक दुकानदारों के साथ की गई बैठक जिला कृषि पदाधिकारी दिनकर प्रसाद सिंह ने किसानों को सही व सरकार द्वारा तय मूल्य पर उर्वरक उपलब्ध कराने को लेकर जिले के थोक व खुदरा उर्वरक विक्रेताओं के साथ बैठक की। उन्होंने उर्वरक विक्रेताओं को किसानों को उचित मूल्य पर उर्वरक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि किसी तरह की अनियमितता बरते जाने की शिकायत मिलने पर जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हसनगंज सहित कुछ प्रखंडों से किसानों से यूरिया खाद की कीमत अधिक लिए जाने की शिकायत मिल रही है। शिकायत की जांच कराई जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.