कैमूर के कुदरा में टीकाकरण केंद्र पर भीड़ से संक्रमण का खतरा

कुदरा नगर पंचायत के समीप स्थित राम जानकी बालिका उच्च विद्यालय सकरी में बनाए गए टीकाकरण केंद्र पर शारीरिक दूरी का पालन नहीं होने के चलते कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बना हुआ है।

JagranPublish:Mon, 24 May 2021 04:45 PM (IST) Updated:Mon, 24 May 2021 05:19 PM (IST)
कैमूर के कुदरा में टीकाकरण केंद्र पर भीड़ से संक्रमण का खतरा
कैमूर के कुदरा में टीकाकरण केंद्र पर भीड़ से संक्रमण का खतरा

कैमूर। कुदरा नगर पंचायत के समीप स्थित राम जानकी बालिका उच्च विद्यालय सकरी में बनाए गए टीकाकरण केंद्र पर शारीरिक दूरी का पालन नहीं होने के चलते कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बना हुआ है। टीकाकरण केंद्र पर इतनी अधिक भीड़ रह रही है कि लोग एक दूसरे से धक्का-मुक्की करते नजर आ रहे हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि वहां का दृश्य देखते हुए कोविड-19 के नियंत्रण के लिए सरकार के अति महत्वपूर्ण कार्यक्रम का उद्देश्य ही विफल होता नजर आ रहा है। जानकारी के मुताबिक प्रखंड में वैक्सीन का स्टॉक समाप्त हो जाने के कारण कुछ दिनों तक टीकाकरण का कार्य ठप रहा था। 45 वर्ष से ऊपर के आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण का कार्य वैक्सीन की अनुपलब्धता के कारण अभी भी ठप ही है। 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण वैक्सीन आ जाने के चलते अब शुरू हो गया है। 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका कुदरा पीएचसी में लगाया जाता है। लेकिन 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए टीकाकरण केंद्र राम जानकी बालिका उच्च विद्यालय सकरी में बनाया गया है। हो रही धक्का-मुक्की, भीड़ को नियंत्रित करने वाला कोई नहीं

स्थानीय लोगों का कहना है कि उक्त टीकाकरण केंद्र पर अराजक स्थिति देखने को मिल रही है। कुदरा स्टेशन रोड के निवासी प्रेम सिंह बताते हैं कि टीकाकरण केंद्र पर लोगों की इतनी भीड़ रह रही है कि लोग एक दूसरे को धक्का देते हुए आगे बढ़ने की कोशिश करते नजर आते हैं। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कोई कर्मी भी मौजूद नहीं दिखा। ऐसी स्थिति में टीका लगवाने वाले लोग ही नहीं बल्कि टीकाकर्मी भी अपने को संक्रमण से किस हद तक सुरक्षित रख पाएंगे यह सोचने वाली बात है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले तक कहा जा रहा था कि लोग टीका लगवाने के लिए बहुत इच्छुक नहीं हैं। लोगों को जागरूक करने की जरूरत पर बल दिया जा रहा था। लेकिन टीकाकरण केंद्र पर 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग की भीड़ को देखते हुए अब इसके उलट स्थिति देखने में आ रही है।