पाली गांव में नली-गली नहीं बनने से लोग परेशान

भभुआ। स्थानीय प्रखंड में गली नाली निर्माण के नाम पर काफी राशि खर्च की जा रही है। लेकिन अभी गांवों में बदहाल नाली व गली देखने को मिल रही है। रामपुर प्रखंड के जलालपुर पंचायत के पाली गांव में बदहाल नाली-गली से लोग नारकीय जीवन जीने को विवश हैं। गांव की स्थिति यह है कि गली-गली में जलजमाव है। लगातार जलजमाव से गलियों की स्थिति काफी खराब हो चुकी है।

JagranTue, 15 Jun 2021 11:23 PM (IST)
पाली गांव में नली-गली नहीं बनने से लोग परेशान

भभुआ। स्थानीय प्रखंड में गली नाली निर्माण के नाम पर काफी राशि खर्च की जा रही है। लेकिन अभी गांवों में बदहाल नाली व गली देखने को मिल रही है। रामपुर प्रखंड के जलालपुर पंचायत के पाली गांव में बदहाल नाली-गली से लोग नारकीय जीवन जीने को विवश हैं। गांव की स्थिति यह है कि गली-गली में जलजमाव है। लगातार जलजमाव से गलियों की स्थिति काफी खराब हो चुकी है। हर गालियां कीचड़ में तब्दील है। गलियों से होकर आने-जाने वाले लोगों को पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। दो पहिया वाहन को लेकर आना-जाना तो खतरे से खाली नहीं है। जलजमाव व कीचड के कारण वाहन चालकों को यह पता नहीं चल पा रहा है कि कहां गड्ढे है और कहां समतल। गलियों में घरों का गंदा पानी बहने और अधिक दिन तक जमा रहने से वार्ड के लोगों में संक्रामक बीमारी फैलने की आशंका बनी हुई है। वार्ड के लोगों ने बताया कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों को इस गांव के विकास से कोई मतलब नहीं। यहां के लोग नाला, पीसीसी सड़क, साफ-सफाई सहित अन्य मुलभूत सुविधाओं से वंचित है।

स्थानीय ग्रामीण रघुवंश सिंह, केसर सिंह, राम धरी सिंह कहते हैं कि बरसात के मौसम में ज्यादा परेशानी होती है। मुखिया और बीडीसी सिर्फ वोट मांगने आते हैं। यहां के ग्रामीण हर जगह गुहार लगाकर थक चुके हैं। आजादी के बाद भी वार्ड नंबर एक के लोग नारकीय जीवन जीने को विवश हैं। आए दिन छोटे-छोटे बच्चे गंदे पानी में फिसलकर दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। दिन में तो किसी तरह आते जाते है लेकिन रात में चलने में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस गांव की गली से भलुआ व रामपुर के भी ग्रामीण आते जाते हैं।

बता दें कि इस गांव में 150 घर है। जहां करीब 700 लोग निवास करते हैं। लेकिन यहां विकास कुछ नहीं हुआ। ग्रामीणों का आरोप है की जब मुखिया व वार्ड सदस्य से गली-नाली निर्माण की बात की जाती है तो आपस में ही एक दूसरे के ऊपर आरोप लगाने लगते हैं। इस संबंध में जलालपुर पंचायत के मुखिया मंटू शर्मा ने बताया कि पाली गांव में सात निश्चय योजना से लगभग 12 लाख रुपए की गली व नाली का निर्माण करवाया गया। अन्य गलियों को भी योजना में ले लिया गया है। अभी आवंटन नही हुआ है। आवंटन होते ही ग्रामीणों की समस्या को दूर करा दिया जाएगा। इस संबंध में बीडीओ संजय पाठक ने बताया कि उक्त गांव की समस्या के बारे में मुझे जानकारी नही थी। अब जानकारी हुई है। मैं पता लगा कर लोगों की समस्या को दूर कराने का पूरा प्रयास करूंगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.