छठ घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था का पदाधिकारी लेते रहे जायजा

छठ घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था का पदाधिकारी लेते रहे जायजा

चार दिवसीय अनुष्ठान का पर्व छठ शनिवार को शांति व सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हो गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के चलते कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हो सकी। जिला मुख्यालय भभुआ नगर सहित सभी प्रखंडों में बनाए गए छठ घाटों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों के साथ पुलिस जवानों की तैनाती रही।

Publish Date:Sat, 21 Nov 2020 11:09 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, भभुआ: चार दिवसीय अनुष्ठान का पर्व छठ शनिवार को शांति व सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हो गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के चलते कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हो सकी। जिला मुख्यालय भभुआ नगर सहित सभी प्रखंडों में बनाए गए छठ घाटों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों के साथ पुलिस जवानों की तैनाती रही। छठ घाटों के अलावा व्रतियों के आने जाने वाले रास्ते में भी पुलिस जवान तैनात रहे। ताकि श्रद्धालुओं व व्रतियों को छठ घाट तक आने जाने में कोई परेशानी न हो। छठ घाट तक आने जाने वाले रास्ते में व्रतियों के अलावा किसी वाहन को प्रवेश नहीं करने दिया गया। भभुआ नगर के राजेंद्र सरोवर, चमन लाल पोखरा, सुअरा नदी, पूरब पोखरा, ब्रम्हचारी पोखरा आदि सभी छठ घाट पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। सभी छठ घाटों पर प्रशासन के साथ पूजा समिति के लोग भी तत्पर रहे। ताकि व्रतियों को कोई परेशानी न हो। डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी, एसपी दिलनवाज अहमद, एडीएम डॉ. संजय कुमार, एसडीएम जन्मेजय शुक्ला, एसडीपीओ सुनीता कुमारी, एएसडीम सुजीत कुमार आदि लगातार सभी छठ घाटों का भ्रमण कर जायजा लेते रहे। घाट पर मौजूद लोगों को भीड़ नहीं करने और सोशल डिस्टेंसिग बनाए रखने की अपील करते रहे। शुक्रवार की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अ‌र्घ्य देने के दौरान भी सभी पदाधिकारी छठ घाटों पर पहुंच कर जायजा लिए। पुन: शनिवार की सुबह उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य देने के समय भी सभी पदाधिकारी छठ घाटों पर नजर आए। पदाधिकारियों की मौजूदगी के चलते किसी भी छठ घाट पर भीड़ नहीं हो सकी और शांतिपूर्ण माहौल में छठ महापर्व संपन्न हो गया। जब छठ घाट से सभी व्रती अपने-अपने घर चले गए और रास्ता पूरी तरह खाली हो गया तब पदाधिकारी छठ घाट से वापस लौटे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.