दोहरे हत्याकांड में लाइनर चौकीदार सहित पांच गिरफ्तार

जिले के करमचट थाना क्षेत्र के सबार बाजार में छह अप्रैल की देर शाम सबार गांव निवासी राकेश कुमार सिंह उर्फ तिरपन सिंह व बहेरी गांव निवासी शिव प्यारे दुबे की अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी।

JagranFri, 09 Apr 2021 11:40 PM (IST)
दोहरे हत्याकांड में लाइनर चौकीदार सहित पांच गिरफ्तार

कैमूर। जिले के करमचट थाना क्षेत्र के सबार बाजार में छह अप्रैल की देर शाम सबार गांव निवासी राकेश कुमार सिंह उर्फ तिरपन सिंह व बहेरी गांव निवासी शिव प्यारे दुबे की अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। इस मामले में करमचट थाना में छह नामजद व तीन अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई।

इस मामले में पुलिस ने शुक्रवार को इस घटना का लाइनर चौकीदार सहित कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से एक कट्टा, पांच गोली और नौ मोबाइल बरामद किया है। गिरफ्तार आरोपितों में करमचट थाना में प्रतिनियुक्त चौकीदार परमानंद पासवान, करमचट थाना के बिजरा गांव का रामाशीष पासवान का पुत्र पप्पू पासवान, रोहतास जिला के चेनारी थाना के नारायणपुर गांव निवासी रामाकांत सिंह का पुत्र उत्तम कुमार सिंह, वीरनगर गांव निवासी स्व. बैजनाथ मिश्रा का पुत्र मृत्युंजय मिश्रा और उरदा केशनाथ पासवान का पुत्र पंकज कुमार पासवान शामिल हैं। यह जानकारी एसपी राकेश कुमार ने शु्क्रवार को पुलिस सभाकक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में दी। इस कांड में संलिप्त तीन अन्य फरार अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।

उन्होंने बताया कि एसडीपीओ भभुआ के नेतृत्व में विशेष एसआइटी का गठन किया। गठित टीम ने अनुसंधान करते हुए कांड में नामजद दो अभियुक्तों में ओम प्रकाश पासवान व इंदू देवी दोनों सबारगढ़ गांव निवासी को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद वैज्ञानिक अनुसंधान में दो लोग जिसमें एक चौकीदार परमानंद पासवान व पप्पू पासवान को करमचट थाना के बिजरा गांव से गिरफ्तार किया गया। इनकी निशानदेही पर अमांव पुल के पास से झाड़ी में छिपा कर रखा गया कट्टा, पांच गोली बरामद किया गया। इनकी निशानदेही पर रोहतास जिला के चेनारी थाना क्षेत्र के नारायणपुर निवासी उत्तम कुमार सिंह, वीरनगर के मृत्युंजय मिश्रा और उरदा गांव निवासी पंकज कुमार पासवान को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से कुल नौ मोबाइल बरामद किया गया।

एक माह पहले ही रची गई थी हत्या करने की साजिश

गिरफ्तार चौकीदार परमानंद पासवान ने बताया कि घटना के एक माह पूर्व भरत पासवान, लक्ष्मण पासवान के घर पर बैठक हुई थी। जहां पर परमानंद पासवान का बहनोई सुनील पासवान, पप्पू पासवान के अलावा वह भी मौजूद था। उस बैठक में भरत पासवान एवं लक्ष्मण पासवान द्वारा राकेश सिंह उर्फ तिरपन सिंह को मारने के लिए बहनोई सुनील पासवान व पप्पू पासवान को सुपारी के रूप में पांच लाख रुपये दिए थे। घटना के दिन बहनोई सुनील पासवान व पप्पू पासवान घटना स्थल पर मौजूद थे, उन्हीं से बातचीत कर परमानंद थाना की गतिविधि की जानकारी दे रहा था। घटना स्थल पर सुनील और पप्पू के साथ चार-पांच व्यक्ति और थे। घटना को लक्ष्मण पासवान व उनके परिजनों द्वारा पूर्व के विवाद को लेकर षडयंत्र रच कर अंजाम दिलाया गया है। इनसेट अपराधियों को पहचान हल्ला करने पर राहगीर को मारी गई गोली

जासं, भभुआ: जिले के सबार बाजार में छह अप्रैल की देर शाम अपराधियों ने राकेश कुमार सिंह उर्फ तिरपन सिंह के अलावा एक राहगीर बहेरी गांव निवासी शिव प्यारे दुबे को गोली मारी थी। इस मामले में शुक्रवार को पांच लोगों की हुई गिरफ्तारी के बाद यह बात प्रकाश में आई कि जिस राहगीर शिव प्यारे दुबे को गोली मारी गई उनका सिर्फ इतना कसूर था कि उन्होंने तिरपन सिंह को गोली मारने वाले अपराधियों को पहचान कर उन्हें पकड़ने के लिए हल्ला किया। उनके हल्ला करने पर अपराधियों ने उन्हें भी गोली मार दी। जिससे उनकी मौत हो गई। प्रेसवार्त में मिली जानकारी के अनुसार लक्ष्मण पासवान के पुत्र की हत्या के मामले में तिरपन सिंह का नाम आया था। बाद में अनुसंधान के क्रम में उसे निर्दोष पाते हुए उसका नाम हटा दिया गया। लेकिन दूसरे पक्ष के लोग इसको मानने को तैयार नहीं थे। बदला लेने के लिए ही तिरपन सिंह की हत्या पांच लाख रुपये सुपारी देकर कराई गई।

घटना स्थल पर कुल छह लोग थे मौजूद

जिस वक्त घटना हुई उस समय घटना स्थल पर कुल छह लोग मौजूद थे। एसपी ने बताया कि इस मामले में कुल दस लोग शामिल हैं। चौकीदार परमानंद पासवान के मोबाइल को सर्विलांस पर लेकर जांच की गई तो पाया गया कि घटना होने तक वह अपराधियों के संपर्क में था। सर्विलांस के आधार पर ही पता चला कि घटना स्थल पर तीन सिम एक्टिव थे। बाद में तीनों सिम को तोड़ कर मिट्टी में दबा दिया गया। पकड़े जाने पर मामले का खुलासा हुआ।

मृत्युंजय ने की हथियार की सप्लाई -

सबार बाजार में हुए डबल मर्डर में हथियार व गोली सप्लाई करने वाला मृत्युंजय मिश्रा है। एसपी ने बताया कि इसने दो पिस्टल व एक कट्टा व गोली की सप्लाई की थी। जिसका उपयोग हत्या में किया गया। अभी एक कट्टा ही बरामद हुआ है। पुलिस दो पिस्टल की बरामदगी व तीन अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

चौकीदार पर होगी बर्खास्तगी की कार्रवाई

करमचट थाना में प्रतिनियुक्त चौकीदार परमानंद पासवान को फिलहाल गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी ने उसे चौकीदार पद से बर्खास्त करने के लिए डीएम के पास अनुशंसा की है। बता दें कि परमानंद पासवान अपने पिता की जगह अनुकंपा पर आठ माह पहले करमचट थाना में बहाल हुआ था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.