राष्ट्रीय दलों ने दी युवाओं को भागीदारी, क्षेत्रीय दल ने की हकमारी

राष्ट्रीय दलों ने दी युवाओं को भागीदारी, क्षेत्रीय दल ने की हकमारी
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 05:32 PM (IST) Author: Jagran

जमुई। जमुई के चार विधान सभा में युवा मतदाताओं की भागीदारी 48.45 फीसद है। कितु प्रत्याशी के रूप में भागीदारी की बात करें तो गठबंधन सहित प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियों ने भी युवाओं को छला है। चार विधान सभा की सीट में भाजपा और कांग्रेस के खाते में एक-एक सीट है और दोनों पार्टियों ने युवा चेहरा को ही अवसर दिया है। इस लिहाज से जिले में राष्ट्रीय पार्टियों ने युवाओं को शत-प्रतिशत भागीदारी दी है। इसके विपरीत तीन चौथाई सीटों पर लड़ रही प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियों ने युवा नेतृत्व को नजरअंदाज कर दिया है। ऐसा नहीं कि युवाओं की दावेदारी नहीं थी। दावेदारी थी लेकिन ऐन वक्त पर नजरअंदाज कर दिए गए। चकाई विधान सभा से सुमित कुमार जदयू से, झाझा विधान सभा में विनोद यादव राजद से युवा प्रत्याशी के रूप में टिकट की दौड़ शामिल थे। लेकिन इन्हें टिकट नहीं मिला। हालांकि लोजपा ने तीन सीट में दो सीट पर युवाओं को मौका दिया है। ------

भाजपा और कांग्रेस ने युवा पर जताया भरोसा

भाजपा ने जमुई विधान सभा से श्रेयसी को प्रत्याशी बनाकर युवा पर भरोसा जताया तो कांग्रेस ने सिकंदरा से सुधीर कुमार उर्फ बंटी चौधरी को मैदान में उतरा है। लोजपा ने भी सिकंदरा में रविशंकर पासवान व चकाई में संजय कुमार मंडल को युवा प्रत्याशी के रूप में मौका दिया तो झाझा सीट बुजुर्ग के खाते में गई। जमुई विधान सभा में राजद व रालोसपा ने 50 वर्ष से अधिक आयु वाले क्रमश: विजय प्रकाश व अजय प्रताप पर भरोसा जताया जबकि अन्य पार्टियों ने युवाओं पर भरोसा जताया। इसी प्रकार चकाई विस में तीन प्रत्याशी की उम्र 50 से अधिक है जिसमें राजद, जदयू व बसपा के प्रत्याशी शामिल हैं जबकि अन्य 10 प्रत्याशी युवा हैं। झाझा विस में प्रमुख क्षेत्रीय पार्टी राजद, जदयू, बसपा और लोजपा ने 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले नेता पर भरोसा जताया है जबकि छह युवा प्रत्याशी मैदान में हैं। सिकंदरा में 15 प्रत्याशी चुनावी मैदान में है जिसमें सात प्रत्याशी की उम्र 50 से अधिक है जबकि आठ प्रत्याशी युवा हैं।

----------

जमुई में सबसे कम उम्र और सिकंदरा में सबसे अधिक उम्र के हैं प्रत्याशी

चारों विधान सभा में चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों में जमुई विस में श्रेयसी की उम्र सबसे कम हैं। इनकी उम्र 30 वर्ष के अंदर है जबकि सिकंदरा के रामेश्वर पासवान सबसे उम्रदराज प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में हैं। रामेश्वर पासवान की उम्र 90 वर्ष के लगभग है। हालांकि रामेश्वर पासवान ने सात बार सिकंदरा विधान सभा का प्रतिनिधित्व भी किया है।

-----------

विधानसभावार कुल मतदाता व युवा मतदाता की संख्या

विधान सभा--- कुल---- युवा ---फीसद

जमुई--- 293570 ----141874--48.32 सिकंदरा--287713--136588--47.47

चकाई--284685---131331--46.13

झाझा--314512---162163--51.56

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.