सदर अस्पताल में होगा एड्स के मरीजों का इलाज

सदर अस्पताल में होगा एड्स के मरीजों का इलाज

जमुई। एचआइवी पॉजिटिव यानि एड्स के मरीजों के लिए खुशी की खबर है। अब उन्हें इलाज के लिए भागलपुर की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

Publish Date:Sun, 29 Nov 2020 06:36 PM (IST) Author: Jagran

जमुई। एचआइवी पॉजिटिव यानि एड्स के मरीजों के लिए खुशी की खबर है। अब उन्हें इलाज के लिए भागलपुर की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। उनका इलाज अब सदर में जल्द ही शुरू होगा। इसके लिए सदर अस्पताल में एआरटी केंद्र खुलने वाला है। जिसका उद्घाटन वीडियोकांफ्रेंसिग के माध्यम से एक दिसंबर को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय करेंगे। इसकी तैयारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा जोरशोर से की जा रही है।

सिविल सर्जन डॉ. विजयेंद्र सत्यार्थी ने बताया कि इसे लेकर विभाग के द्वारा जानकारी दिया गया है। वर्तमान में पीड़ित मरीज को भागलपुर इलाज के लिए भेजा जाता है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय आगामी एक दिसंबर को वीडियोकांफ्रेंसिग के माध्यम से नालंदा, पूर्णिया, सिवान, सुपौल, कैमूर, मुंगेर सहित जमुई में केंद्र का उद्घाटन करेंगे। इसे लेकर तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने बताया विभाग द्वारा एक चिकित्सक, काउंसलर, एएनएम एवं टेक्नीशियन भी भेजा गया है। जिला एड्स पर्यवेक्षक अखौरी अमित कुमार ने बताया कि इसके लिए सोमवार सुबह एक जागरुकता कार्यक्रम भी चलाया जाएगा। कोविड-19 निर्देश के तहत किए जाने वाले कार्यक्रम को लेकर सभी आवश्यक तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सरकार स्वास्थ्यवर्धक आहार को लेकर पीड़ित मरीज को 15 सौ रुपये की मदद भी कर रही है। बता दें कि परिवार के भरण-पोषण को लेकर लोग परदेश कमाने जाते हैं। वापसी में वे असुरक्षित यौन संबंध बनाकर एड्स जैसी गंभीर बीमारी की सौगात लाते हैं। इससे बीमारी उनके परिवार में फैलती है। सबसे अधिक परेशानी गर्भवती महिला को होती है। उसके गर्भ में पल रहे बच्चे के भी इससे संक्रमित होने की आशंका बनी रहती है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.