अपराधियों ने बीएमपी जवान के सिर के पीछे गर्दन व हाथ में घोंपा था चाकू

थावे दुर्गा मंदिर परिसर में स्थित विवाह भवन में अपने कैंप में खाना खाने के बाद मंगलवार की रात टहलने निकले बीएमपी के जवान अर्जुन दयाल की चाकू से गोंद कर हत्या करने वाले अपराधियों की धर पकड़ के लिए पुलिस की विशेष टीम ने छापेमारी अभियान शुरू कर दी है।

JagranWed, 11 Aug 2021 11:04 PM (IST)
अपराधियों ने बीएमपी जवान के सिर के पीछे गर्दन व हाथ में घोंपा था चाकू

संवाद सूत्र,थावे(गोपालगंज) : थावे दुर्गा मंदिर परिसर में स्थित विवाह भवन में अपने कैंप में खाना खाने के बाद मंगलवार की रात टहलने निकले बीएमपी के जवान अर्जुन दयाल की चाकू से गोंद कर हत्या करने वाले अपराधियों की धर पकड़ के लिए पुलिस की विशेष टीम ने छापेमारी अभियान शुरू कर दी है। बीएमपी जवान पर अपराधियों ने पीछे से हमला किया था। अपराधियों ने बीएमपी जवान को पीछे से गर्दन तथा हाथ में चाकू मारा था, जिससे जवान की मौत हो गई। जवान की मौत होने के बाद अपराधियो ने मिट्टी से उनके शव को ढंक दिया था। चाकू से गोंद कर जवान की हत्या करने के बाद अपराधी उनका मोबाइल फोन भी अपने साथ लेकर फरार हो गए। मंगलवार की सुबह ग्रामीणों से सूचना मिलने पर मौके पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से जवान का मोजा बरामद किया। बीएमपी जवान अर्जुन दयाल की हत्या मामले में बीएमपी के हवलदार के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर की गई है।

नेपाल के मूल निवासी बीएमपी के जवान अर्जुन दयाल की ड्यूटी थावे दुर्गा मंदिर परिसर में थी। मंगलवार की रात नौ बजे अपने कैंप में खाना खाने के बाद जवान अर्जुन दयाल टहलने के लिए निकले थे। ये दुर्गा मंदिर परिसर के समीप होमगार्ड कार्यालय के पीछे सड़क पर टहलते हुए जंगल की तरफ बढ़े थे कि तभी अपराधियों ने चाकू से पीछे से इनके ऊपर हमला कर दिया। पीछे से सिर, गर्दन तथा हाथ में चाकू से हमला करने से जवान अर्जुन दयाल की मौत हो गई। जवान की हत्या करने के बाद अपराधियों ने उनके शव को मिट्टी से ढंक दिया। मंगलवार की सुबह सड़क किनारे जवान का शव पड़ा देखकर ग्रामीणों ने इसी सूचना पुलिस को दी। इस घटना को लेकर बीएमपी के हवलदार के बयान पर थावे थाना में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें बीएमपी के हवलदार सतीश कुमार राणा ने बताया है कि बीएमपी जवान अर्जुन दयाल की ड्यूटी दस बजे रात से 12 बजे तक मंदिर परिसर में थी। रात 11 बजकर 35 मिनट पर रात्रि ड्यूटी में प्रतिनियुक्त सिपाही को जांच करने के लिए हवलदार बैरक से निकले। जांच के दौरान बीएमपी जवान अर्जुन दयाल अनुपस्थित पाए गए। सहयोगियों ने खोजबीन की, लेकिन उनका पता नहीं चल सका। मंगलवार की सुबह ग्रामीणों से सूचना मिली कि चितु टोला जाने वाले पीसीसी सड़क के किनारे चाकू गोंदकर बीएमपी जवान अर्जुन दयाल की हत्या कर शव को फेंक दिया गया है।

छपरा से बुलाई गई डाग स्क्वायड की टीम

होमगार्ड कार्यालय के पास बीएमपी जवान अर्जुन दयाल की चाकू से हत्या मामले की जांच के लिए पुलिस ने छपरा से डाग स्क्वायड की टीम को बुलाया। छपरा से खोजी कुत्ता के साथ पहुंची डाग स्क्वायड की टीम में मुकेश कुशुवाहा तथा मिथलेश यादव शामिल रहे। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद डाग स्क्वायड की टीम ने मांझा थानाध्यक्ष विशाल आंनद के नेतृत्व में जंगल परिसर और उससे सटे गांव में जांच पड़ताल शुरू की। हत्यारों के शिकार बने जवान अर्जुन दयाल दुर्गा मंदिर परिसर स्थित विवाह भवन में सबसे ऊपरी मंजिल पर रहते थे। डाग स्क्वायड की टीम ने उस कमरे की भी जांच पड़ताल की।

पुलिस की चार सदस्यीय विशेष टीम गठित

थावे थाना क्षेत्र के होमगार्ड कार्यलय के समीप चितु टोला सड़क पर स्थित ट्रांसफार्मर के पास बीएमपी जवान अर्जुन दयाल की चाकू से गोदकर हत्या करने के मामले की जारंच कि लिए चार सदस्यीय पुलिस की विशेष टीम गठित की गई है। सदर एसडीपीओ नरेश पासवान ने बताया कि बीएमपी के जवान की हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए चार सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है। चार सदस्यीय टीम में सदर इंस्पेक्टर हीरालाल प्रसाद, थावे थानाध्यक्ष किरण शंकर , मांझा थानाध्यक्ष विशाल आंनद तथा मीरगंज थानाध्यक्ष छोटन कुमार शामिल हैं। विशेष टीम अपराधियों की पहचान करने में जुट गई है।

जवान के शव को लेकर नेपाल के लिए रवाना हुए साथी जवान

बीएमपी के जवान अर्जुन दयाल की चाकू से गोदकर हत्या किए जाने के बाद उनके शव को सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम किया। जवान के शव का पोस्टमार्टम होने के बाद बीएमपी के जवानों की एक टीम अपने साथी के शव को लेकर उनके पुतैनी गांव नेपाल के चितवन जिला के गीता नगर थाना क्षेत्र के केसरवा गांव के वार्ड नंबर छह के लिए बुधवार को रवाना हो गई। जवान अर्जुन दयाल का अंतिम संस्कार इसके पुश्तैनी गांव में किया जाएगा। बताया जाता है कि जवान अर्जुन दयाल अपने घर के एकलौता कमाऊ सदस्य थे। इनकी एक पुत्री है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.