गोपालगंज में मनरेगा की योजनाओं ने पकड़ी रफ्तार, 20 हजार लोगों को मिला काम

14 प्रखंड में कराया जा रहा पांच हजार से अधिक योजनाओं पर काम तालाब व पोखर के जीर्णोद्धार से पईन व खाड़ तक की हो रही सफाई।

JagranWed, 19 May 2021 09:30 PM (IST)
गोपालगंज में मनरेगा की योजनाओं ने पकड़ी रफ्तार, 20 हजार लोगों को मिला काम

मिथिलेश तिवारी, गोपालगंज : कोरोना संकट काल में मनरेगा की योजनाएं मजदूरों के लिए मददगार बनकर सामने आई है। अप्रैल माह से अबतक पूरे जिले में मनरेगा के तहत 20 हजार से अधिक लोगों को काम उपलब्ध कराया गया है। ताकि वर्तमान समय में मजदूरों को आर्थिक समस्याएं नहीं झेलनी पड़े। इसके लिए पूरे जिले में पांच हजार से अधिक योजनाओं पर काम प्रारंभ किया गया है। इनमें एक एकड़ तक के बड़े तालाबों के जीर्णोद्धार से लेकर पोखर, खाड़, पईन आदि की सफाई काम शामिल है।

मार्च माह के अंतिम सप्ताह के बाद में पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर प्रारंभ हो गई थी। अप्रैल माह के बाद कोरोना तेजी से बढ़ने के बाद दूसरे प्रांत में काम करने वाले लोगों के घर लौटने का सिलसिला प्रारंभ हो गया। कोरोना काल में मनरेगा की योजनाओं पर काम बदस्तुर जारी रहा। वर्तमान वित्तीय वर्ष के प्रारंभ से ही मनरेगा के तहत लोगों को रोगजार उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य तेज कर दिया गया। इसके तहत जिले के सभी 14 प्रखंडों में एक साथ मनरेगा के तहत योजनाएं प्रारंभ की गईं। इन योजनाओं में एक एकड़ तक के पूर्व से चिन्हित तालाबों के जीर्णोद्धार के अलावा खाड़ व पईन आदि की सफाई का कार्य सबसे महत्वपूर्ण रहा। इस काम में सबसे अधिक मजदूरों को लगाया गया। कार्य के दौरान विभागीय स्तर पर शारीरिक दूरी के अनुपालन करने के साथ ही उन्हें मास्क भी उपलब्ध कराया गया। ताकि मजदूरों में कोरोना संक्रमण का भय नहीं रह रहे। प्रशासनिक आंकड़ों के अनुसार जिले में प्रारंभ की गई योजनाओं में 60 से अधिक पुराने तालाबों के जीर्णोद्धार के अलावा 171 पईन की सफाई व करीब सवा दो सौ छोटे पोखर की सफाई का काम शामिल है। इसके अलावा कई अन्य काम में भी मजदूरों को लगाया गया। इसका असर अब दिखने लगा है। प्रशासनिक आंकड़ों के अनुसार जिले में वर्तमान वित्तीय वर्ष 2021-22 में अबतक 20,064 लोगों को काम उपलब्ध कराया गया है।

इनसेट

रोजगार मांगने वालों को दिया जाएगा काम

गोपालगंज : उप विकास आयुक्त ने बताया कि जिले में रहने वाले मजदूरों के अलावा दूसरे प्रांत से लौटने वाले लोगों को भी मांगे जाने पर काम उपलब्ध कराया जा रहा है। वर्तमान समय में पूरे जिले में 22 हजार से अधिक लोगों को मनरेगा के तहत काम उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले के 234 पंचायतों में से करीब 130 पंचायतों में वर्तमान समय में मनरेगा के तहत काम किया जा रहा है।

इनसेट

किस प्रखंड में कितने लोगों को मिला काम

प्रखंड जिन्हें मिला काम

बैकुंठपुर 2889

बरौली 1302

भोरे 914

विजयीपुर 961

गोपालगंज 1325

हथुआ 1290

कटेया 1260

कुचायकोट 3514

मांझा 2020

पंचदेवरी 1197

फुलवरिया 575

सिधवलिया 846

थावे 609

उचकागांव 1362

कुल 22,64

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.