Rohtas Accident: सड़क पार करते समय विक्षिप्‍त को अज्ञात वाहन ने रौंदा, घटनास्‍थल पर ही हो गई मौत

सड़क पार करते समय अज्ञात वाहन ने युवक को कुचला। प्रतीकात्‍मक फोटो

रोहतास के श्‍ािवसागर में शुक्रवार सुबह एक अज्ञात वाहन ने युवक को कुचल दिया। घटनास्‍थल पर ही उसकी मौत हो गई। घंटों बाद मृतक की पहचान शिवसागर निवासी रामवृक्ष चौधरी के पुत्र महेंद्र चौधरी के रूप में की गई।

Vyas ChandraFri, 26 Feb 2021 01:13 PM (IST)

संवाद सूत्र, शिवसागर (रोहतास)। स्थानीय थाना के समीप एनएच दो (National Highway 2) पर शुक्रवार की सुबह टहलने के लिए निकले 40 वर्षीय को अज्ञात वाहन ने कुचल दिया। घटनास्‍थल पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक की पहचान शिवसागर निवासी रामवृक्ष चौधरी के पुत्र महेंद्र चौधरी के रूप में की गई। वह मानसिक रूप से बीमार था।

बताया जाता है कि कि महेंद्र घर से टहलने के लिए निकले थे। सड़क पार करने के दौरान अज्ञात वाहन ने उन्‍हें कुचल दिया। उनकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई । स्थानीय लोगों ने बताया कि महेंद्र मानसिक रूप से  बीमार थे। थानाध्यक्ष गिरीश कुमार ने बताया कि किसी वाहन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत की जानकारी मिली। शव को पुलिस सड़क से उठा कर थाने पर  पहचान के लिए लाई । अगल-बगल के गांव के चौकीदारों को शव को पहचान के लिए बुलाया गया। लेकिन कोई चौकिदार शव का पहचान नही कर सका। शव को कुछ देर बाद पुलिस ने अज्ञात मानकर पोस्टमार्टम के लिए सासाराम भेज दिया। दिन के करीब 11 बजे गांव-घर के लोगों को

हादसे की जानकारी हुई। वे लोग थाने पहुंचे तो शव की पहचान महेंद्र चौधरी के रूप में की। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद स्‍वजनों को सौंप दिया।

जानलेवा हमला मामले में पूर्व विधायक समेत दस रिहा

सासाराम मुफ्फसिल थाना क्षेत्र अंतर्गत करवंदिया बांसा में अवैध पत्थर उत्खनन करने से मना करने पर 13 वर्ष पूर्व के जानलेवा हमला करने के मामले में एडीजे तीन सह एमपी-एमएलए के विशेष न्यायाधीश भारत भूषण भसीन की अदालत ने गुरुवार को पूर्व विधायक समेत दस अभियुक्तों को साक्ष्य के अभाव में रिहा कर दिया। अभियुक्तो में डेहरी के विधायक प्रदीप जोशी, रामायण सिंह, उमेश प्रसाद गुप्ता, सत्येंद्र चौधरी, महावीर चौधरी, सुदर्शन चौधरी, माधो सिंह, गंगा प्रसाद गुप्ता, अनिल साह व प्रदीप गुप्ता शामिल हैं।

इन सभी पर 21 अगस्त 2007 को करवंदिया बासा निवासी सूचक अनिल साह पर जानलेवा हमला करने का आरोप था। प्राथमिकी में घटना का कारण बताया गया थ कि जोशी माइंस द्वारा पत्थर उत्खनन के चलते पत्थर के टुकड़े सूचक के घर व गांव के विद्यालय पर गिर रहा था। जिसे मना करने पर जानलेवा हमला किया गया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.