Aurangabad Crime: नलकूप के हॉज में तीन दिनों से पड़ा है मासूम का शव, नहीं उठाने दे रहे ग्रामीण

घटनास्‍थल पर जुटी लोगों की भीड़। जागरण

औरंगाबाद के गोह थाना क्षेत्र में चार वर्षीय बच्‍चे की हत्‍या से सनसनी फैल गई है। बच्‍चे का शव चवर में बने नलकूप के गहरे हॉज में पड़ा हुआ था। ग्रामीणों ने शव नहीं उठने दिया है। वे हत्‍यारे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे है।

Publish Date:Wed, 27 Jan 2021 09:52 AM (IST) Author: Vyas Chandra

जासं, औरंगाबाद। गोह प्रखंड के उपहरा थाना क्षेत्र के उपहरा गांव में नानी के पास से उठाकर चार वर्षीय मासूम की हत्‍या की घटना से लोग सिहर उठे हैं। मंगलवार दोपहर बच्‍चे का शव मिला। हत्‍या कर शव को नलकूप के हॉज में डाल दिया गया था। घटना से गुस्‍साए स्‍वजनों व ग्रामीणों ने शव उठने नहीं दिया है। वे आराेपित की गिरफ्तारी होने तक शव को नहीं उठने देने पर अड़े हैं। इस कारण शव वहीं पड़ा है।

अपहरण के बाद मासूम की हत्या, नलकूप के केबिन में डाला शव

बताया जाता है बच्‍चे के लापता होने के बाद मंगलवार को भी उसकी खोजबीन जारी थी। दोपहर के समय बधार में स्थित सिंचाई विभाग के नलकूप के पास लोगों की नजर लाल रंग के कपड़े पर पड़ी। शंका होने पर ग्रामीण ने नलकूप के हॉज में देखा तो वहां बच्‍चे का शव पड़ा था। बच्‍चे की पहचान धैर्य के रूप में हुई। इसकी सूचना स्वजनों व पुलिस को दी गई। देखते ही देखते काफी संख्‍या में लोग पहुंच गए। हत्‍या की खबर सुनकर धैर्य के स्‍वजन दौड़ते-भागते पहुंचे। पुलिस भी पहुंची। छानबीन के क्रम में डॉग स्‍क्‍वायड को बुलाकर छानबीन की गई। हालांकि हत्‍यारे का कोई सुराग नहीं मिल सका है।

हत्‍यारे की गिरफ्तारी के बाद ही उठने देंगे शव

घटना के बाद से स्‍वजन और ग्रामीण आक्रोशित हो उठे। शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास कर रही पुलिस को लोगों ने शव उठाने नहीं दिया। कहा कि जब तक हत्‍या के आरोपित केा गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, शव उठने नहीं देंगे। इस कारण शव वहीं पड़ा है। रातभर स्‍वजन व ग्रामीण वहीं डटे रहे।

(धैर्य का फाइल फोटो)

नानी के पास से किया गया था बच्‍चे को अगवा

बता दें कि उपहारा थाना क्षेत्र के स्‍व. मुन्‍ना शर्मा के घर में रविवार की रात अपराधियों ने हमला बोल दिया। घर में सोई इंदुभूषण शर्मा की पत्‍नी रंजू देवी पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। सर एवं गर्दन पर वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। उनके पास सोए चार वर्षीय नाती धैर्य कुमार को अगवा कर लिया। सुबह में इसका पता चला। जब दूसरे कमरे में सोए रंजू देवी के पुत्र रोहित कुमार की नींद खुली। वह मां के कमरे में गया तो वहां की स्थिति देखकर दहल उठा। मां खून से सनी बेहोश पड़ी थी। पास में रोहित का भांजा धैर्य नहीं था। इसकी खबर फैलते ही सनसनी मच गई। आसपास के लोग पहुंचे। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। दाउदनगर एसडीपीओ राजकुमार तिवारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। 

नानी के पास ही रहता था लाडला धैर्य

इधर स्‍व. मुन्‍ना शर्मा के चार वर्षीय नाती धैर्य की मौत के बाद स्‍वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।  बच्‍चे का मूल घर सिवान जिले के सिम्‍होता बंगरा में है। पिता अवनीश सिंह बंगलुरु में नौकरी करती हैं। माता शोभा देवी बेटे की मौत के बाद से बदहवास है।

यह भी पढ़ें- Aurangabad Crime: बिहार के औरंगाबाद में बड़ी वारदात, नानी पर हमले के बाद अपहृत चार वर्षीय नाती की हत्‍या

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.