Rohtas: अफवाह निकली कोरोना से 80 लोगों की मौत की खबर, अफसरों की जांच में सामने आया सच

मृतक के स्‍वजन से जानकारी लेते अधिकारी। जागरण

रोहतास के डेहरी प्रखंड के दरिहट गांव में कोरोनावायरस से काफी ज्‍यादा मौत होने की इंटरनेट मीडिया पर चल रही खबर अफवाह साबित हुई। अधिकारियों की टीम ने गांव जाकर जांच की तो सच्‍चाई सामने आई। अब प्रशासन कानूनी कार्रवाई करेगा।

Vyas ChandraSat, 15 May 2021 08:07 PM (IST)

डेहरी ऑन-सोन (रोहतास), संवाद सहयोगी। डेहरी प्रखंड क्षेत्र के दरिहट में एक माह के दौरान 80 लोगों की कोरोना से मौत (Death From Coronavirus) संबंधी इंटरनेट मीडिया में चल रही खबर अफवाह साबित हुई। शनिवार को डीएम के निर्देश पर उप विकास आयुक्त सुरेंद्र प्रसाद के नेतृत्व में प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम दरिहट पहुंची व इस घटना की जानकारी ली। दल में डीडीसी के अलावा एसडीएम सुनील कुमार सिंह, एएसपी संजय कुमार, अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, डॉ अनुज कुमार चौधरी शामिल थे। इस दौरान अधिकारियों के दल ने ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों के साथ बातचीत कर कोरोना संक्रमित मरीज और संक्रमण से होने वाली मौत की वास्तविकता जानने का प्रयास किया। पूछताछ के बाद 80 लोगों के मरने की खबर अफवाह साबित हुई।

गलत खबर प्रकाशित करने वाले पर होगी कार्रवाई 

कोरोना संक्रमण से सिर्फ तीन लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। एसडीएम ने बताया कि अधिकारियों के दल ने मृतकों के स्वजनों से मिलकर मौत का कारण पूछा, साथ ही स्वजनों बयान भी दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि विगत माह से दरिहट गांव के 12 वार्डो में अबतक कुल चौबीस मौतें हुई है। उनमें से दो युवकों की मौत सोन नदी में डूबने से हुई है, जबकि एक वृद्ध दंपती व एक महिला की मौत करोना संक्रमण से हुई है। शेष मौत अन्य तरह की बीमारी से हुई। मृतकों में अधिकांश बुजुर्ग लोग शामिल हैं।एसडीएम ने बताया कि शुक्रवार को अपवाह वाली खबर चली थी कि दरिहट गांव में करोना से पीड़ित 80-90 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। उन्होंने बताया कि गलत खबर फैलाने वाले पर कानूनी कार्रवाई होगी।

लाउडस्‍पीकर से बीडीओ ने की अपील- अफवाहों से दूर रहें 

बीडीओ अरुण कुमार सिंह ने अपने वाहन से लाउडस्पीकर के माध्यम से ग्रामीणों को अफवाह वाली खबर से दूर रहने को कहा। उन्होंने कहा कि 80 लोगों के मरने की सूचना महज अफवाह है। बताया कि गांव में दो बार कोरोना जांच शिविर लगाया गया था, जिसमें काफी संख्या में लोगों की जांच की गई थी। उन्होंने लोगो से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा लोग टेस्ट कराएं और वैक्सीन लगवाएं।

भ्रामक खबर की वजह से दहशत में थे ग्रामीण 

स्थानीय निवासी सह जिला परिषद के अध्यक्ष नथुनी पासवान ने बताया कि गांव में अबतक 24 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें कोरोना से मरने वाले लोगों के स्वजनों को चार लाख मुआवजा के लिए आपदा प्रबंधन विभाग और अंचलाधिकारी से बातचीत हुई है।पूर्व मुखिया हरिशंकर कुमार ने बताया कि गांव में भ्रामक खबर फैलने से डर का माहौल है। गांव में लोगों को जागरूक हो टीकाकरण एवं जांच अभियान से जुड़ना चाहिए, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.