जुर्माना भरने में फिसड्डी हैं रोहतास के अधिकारी, किसी पर एक तो किसी पर पांच हजार रुपये का दंड

लोक शिकायत निवारण केंद्र के आदेशों का अनुपालन नहीं करने पर जिले के दो दर्जन से अधिक अधिकारियों पर जुर्माना लगाया जा चुका है। लेकिन यहां जुर्माने की राशि जमा करने में अधिकारी फिसड्डी साबित हो रहे हैं।

Vyas ChandraTue, 15 Jun 2021 10:13 AM (IST)
जिला लोक शिकायत निवारण अधिकारी का कार्यालय। जागरण

सासाराम (रोहतास), जागरण संवाददाता। बिहार लोक शिकायत निवारण अधिनियम (The Bihar Right to Public Grievance redressal Act) जहां आमलोगों की खातिर आशा की किरण साबित हो रहा है, वहीं लापरवाह अधिकारियों के लिए यह दुखती रग बन कर रह गया है। लोक शिकायत निवारण केंद्र के आदेशों का तय समय पर अनुपालन नहीं करने वाले जिले के दो दर्जन अफसरों पर भी इस कानून का डंडा चल चुका है। किसी अधिकारी पर अपीलीय पदाधिकारी ने एक हजार तो किसी पर दो, तीन व पांच हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जा चुका है। परंतु आज तक अधिकांश अधिकारी जुर्माना की राशि भरने में फिसड्डी रहे हैं। फिर भी अधिकारियों की लापरवाही कम होते नजर नहीं आ रही है। 

सुनवाई में कोरोना महामारी का पड़ा असर  

एक वर्ष की बात करें तो लोक शिकायत से जुड़े मामले की सुनवाई में कोरोना महामारी आड़े आई है। बीते दो वर्ष के दौरान विभिन्न अधिकारियों पर 50 हजार से अधिक रूपये की जुर्माना लगा है। जब न अधिकारियो व कर्मियो पर अर्थ दंड अधिरोपित किया गया है उसमे से कई  ऐसे है जो अभी तक जुर्माना की राशि को जमा नहीं कर पाए हैं। यही वजह है कि मात्र अभी तक 22 हजार रुपये की ही वसूल हो सकी है। इसमें तो कई ऐसे अधिकारी व कर्मी हैं, जिन्हें निलंबन तक का भी सामना करना पड़ा है। इनमें नगर परिषद सासाराम की पूर्व कार्यपालक पदाधिकारी कुमारी हिमानी का नाम प्रमुख है। वहीं किसी पर एक बार कौन कहे तीन बार जुर्माना लगाया जा चुका है। जिसमें चेनारी के सीओ रविंद्र कुमार पर तीन बार अपीलीय पदाधिकारी द्वारा जुर्माना लगाया जा चुका है। 

सुनवाई के लिए 14 सौ मामले हैं लंबित 

अनुमंडल व जिला लोक शिकायत निवारण केंद्र में फिलहाल 14 सौ मामले सुनवाई के लिए लंबित है। इनमें से 645 मामले 60 दिन से अधिक के हो गए हैं। जिन मामलों में लापरवाह अधिकारियों पर जुर्माना लगाया गया है, उनमें अधिकतर एडीएम लोक शिकायत के यहां लंबित अपील हैं। जबकि जिला लोक शिकायत निवारण केंद्र में मात्र छह अपील सुनवाई को लंबित है। अब तक यहां 50.5 हजार रुपया जुर्माना लगाया जा चुका है, इसमें से 22 हजार ही जमा हुआ है। जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी अनिल कुमार पांडेय की माने तो लोक शिकायत अधिनियम वैसे लोगों के ढाल के रूप में काम रहा है, जो न्याय के लिए वर्षों से दफ्तरों का चक्कर लगाते रहे हैं। बीते पांच वर्ष में दस हजार से अधिक मामलों का निष्पादन लोक शिकायत निवारण केंद्र के माध्यम से किया जा चुका है। दो दर्जन अधिकारियों पर जुर्माना भी लगाया है। 

इन अधिकारियों पर लग चुका है जुर्माना

नाम  (वर्तमान/ पूर्व)         कार्यालय              जुर्माना राशि 

प्रथम अपील : 

संजीव कुमार राय            सीओ कोचस                1000

आलोक कु. सिंह             सीओ शिवसागर            1000

हिमानी कुमारी                ईओ नप सासाराम          2000

आलोक कु. सिंह             सीओ सासाराम              1000

सुरजेश्वर श्रीवास्तव           सीओ करगहर               1000

किशोर पासवान              सीओ                          1000

अजय कुमार                 बीडीओ बिक्रमगंज           1500

पंकज उपाध्याय             बीडीओ नोखा                 1500

ललन सिंह            एई विद्युत सासाराम (ग्रामीण)    2000

विजय प्रजापति         एमओ करगहर                     3000

रंगनाथ पांडेय             एमओ शिवसागर                 3000

मनोज कुमार               बीडीओ कोचस                 1500

नीरज आनंद                बीडीओ चेनारी                  1500

मो. असलम                  बीडीओ करगहर              1500

रविंद्र कुमार               सीओ चेनारी                      1000

विश्वजीत कु. सिंहा        स.अभि.शहरी सासाराम       2000

रामजी पासवान             बीडीओ सह एमओ नोखा   3000

गिरीश कुमार               थानाध्यक्ष शिवसागर           5000

  

द्वितीय अपील : 

जितेंद्र प्रसाद                 सीओ शिवसागर                 1000

सतीश कुमार                हल्का कर्मचारी सह 

                                 अं. निरीक्षक सासाराम          5000

रविंद्र कुमार                 सीओ चेनारी                       5000   

रविंद्र कुमार                 सीओ चेनारी                       5000

विजेंद्र तिवारी              अं. निरीक्षक चेनारी               5000

लोक शिकायत में लंबित मामले :

प्राधिकार नाम                   वाद प्रकार                    लंबित 

जिला पदाधिकारी                 द्वितीय अपील                  23 जि.लो.शि. नि.केंद्र                प्रथम अपील                    06 जि.लो.शि.नि.केंद्र                 मूल परिवाद                   191 अ.लो.शि.नि.डेहरी                  मूल परिवाद                  370 अ.लो.शि.नि.बिक्रमगंज            मूल परिवाद                  401 अ.लो.शि. नि.सासाराम               मूल परिवाद               417

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.