Bihar: देवी की आराधना करते समय पहुंच गया भतीजा, जमीन के एक टुकड़े के लिए रिश्‍ते का किया कत्‍ल

जमीन विवाद में वृद्ध की गोलीमार कर हत्‍या। प्रतीकात्‍मक फोटो

रोहतास जिले के काराकाट थाना क्षेत्र के चिल्‍हा गांव में जमीन विवाद में सिंचाई विभाग के रिटायर्ड कार्यपालक अभियंता की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई। इस घटना को उनके सगे भतीजे से अंजाम दिया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

Vyas ChandraTue, 20 Apr 2021 07:39 AM (IST)

काराकाट (रोहतास), संवाद सूत्र। स्थानीय  थाना क्षेत्र के चिल्हा गांव में सोमवार को आपसी विवाद में भतीजे ने रिटायर्ड इंजीनियर चाचा की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक 70 वर्षीय जगनारायण सिंह थे। वे सिंचाई विभाग के सेवानिवृत कार्यपालक अभियंता थे। भतीजे ने जो गोली चलाई वह उनकी गर्दन व सीने के बीच लगी। इससे घटनास्‍थल पर ही उनकी मौत हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस  ने शव को पोस्‍टमार्टम्‍ा के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। वहीं इस घटना को अंजाम देने वाले भतीजे चंद्रमणि सिंह को पुलिस ने शाम में बहुअरा गांव के पास से गिरफ्तार कर लिया।

चैत्र नवरात्र की पूजा कर रहे थे जगनारायण सिंह

थानाध्यक्ष अनिल प्रसाद ने बताया कि भूमि विवाद के कारण यह घटना घटी है। स्वजनों ने बताया कि जगनारायण सिंह अपने घर में चैत्र नवरात्रि की पूजा कर रहे थे। तभी उनके बड़े भाई लालमोहन सिंह का पुत्र चंद्रमणी सिंह घर में घुसकर उन्हें अनाप-शनाप बोलने लगा। मना करने पर उसने सीधे जगनारायण सिंह पर गोली चला दी। गोली उनके सीना व गले के बीच जा लगी।  उनकी  घटनास्थल पर ही मौत हो गई । आरोपी गोली मारने के बाद फरार हो गया। गोली चलने की आवाज सुनकर पहुंचे स्‍वजन सन्‍न रह गए। ग्रामीण इस घटना को संपत्ति विवाद से जुड़ा मान रहे हैं।

बड़े भाई ने जमा रखा था जमीन पर कब्‍जा

कई लोगों ने बताया कि कुछ साल पहले जगनारायण सिंह कार्यपालक अभियंता के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। उसके बाद गांव में रहने लगे। अपने हिस्से की जमीन को लेकर थाना में एक आवेदन दिया था। उसमें आरोप लगाया था कि उनके हिस्से की जमीन जबरन बड़े भाई जोतवाते हैं। पुलिस से जमीन दिलाने के लिए उन्होंने न्याय की गुहार भी लगाई थी। पुलिस हस्तक्षेप के बाद बड़े भाई ने उनका खेत देने की बात स्वीकार की थी । इधर वे अपने खेत की उपज की हिस्सेदारी मांग रहे थे ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.