औरंगाबाद मंडल कारा में छापेमारी, कैदी के पास से कारतूस एवं नशीला पदार्थ बरामद, डीएम एवं एसपी के निर्देश पर कार्रवाई

कारतूस की बरामदगी मामले में सघनता से जांच की जा रही है। कहां से कारतूस जेल में पहुंचा कौन पहुंचाया किस उद्देश्य से कारतूस जेल के अंदर मंगाया गया सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। एसडीपीओ ने बताया कि कैदी जयशंकर आर्म्स एक्ट में जेल में बंद है।

Prashant Kumar PandeySat, 04 Dec 2021 02:15 PM (IST)
जेल में छापामारी कर निकलते एसडीएम विजयंत कुमार।

 जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : औरंगाबाद मंडल कारा में शनिवार सुबह जिला व पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम के द्वारा औचक छापामारी की गई। छपामारी के दौरान एक कारतूस बरामद किया गया है। कारतूस के अलावा नशीला दवा, एक सिरिंज, खैनी एवं चूना बरामद किया गया है। कारतूस की बरामदगी जेल में बंद बंदी जयशंकर सिंह के पास से हुई है। एसडीएम विजयंत कुमार एवं एसडीपीओ गौतम शरण ओमी ने संयुक्त रूप से बताया कि डीएम सौरभ जोरवाल एवं एसपी कांतेश कुमार मिश्र के निर्देश पर जेल में छापामारी की गई। छापामारी के दौरान  सभी वार्डों की तलाशी ली गई। 

कैदी जयशंकर सिंह के झोले से कारतूस बरामद

तलाशी के दौरान जेल में बंद मदनपुर थाना क्षेत्र के आट गांव निवाशी कैदी जयशंकर सिंह के झोले से कारतूस बरामद किया गया है। बताया कि छापामारी के दौरान नशीला पदार्थ भी बरामद किया गया है। कारतूस की बरामदगी मामले में उक्त बंदी के खिलाफ नगर थाना में जेल अधीक्षक के द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। छापामारी में नगर थाना पुलिस के अलावा मुफस्सिल, जम्होर, रिसियप एवं फेसर थाना की पुलिस शामिल थी। एसडीपीओ ने बताया कि कारतूस की बरामदगी के बाद जेल में देशी पिस्टल होने की संभावना को लेकर सभी वार्डों में सघन छापामारी की गई पर बरामद नहीं हुआ है।

किस उद्देश्य से कारतूस जेल के अंदर मंगाया गया चल रही जांच 

 कारतूस की बरामदगी मामले में सघनता से जांच की जा रही है। कहां से कारतूस जेल में पहुंचा, कौन पहुंचाया, किस उद्देश्य से कारतूस जेल के अंदर मंगाया गया सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। एसडीपीओ ने बताया कि कैदी जयशंकर सिंह आर्म्स एक्ट में जेल में बंद है। पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसक झड़प एवं फायरिंग मामले में वह जेल भेजा गया है। बता दें की जेल में कारतूस की बरामदगी होने से गैंगवार की घटना की योजना से इंकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि एसडीपीओ ने बताया कि कोई दूसरा मामला भी हो सकता है। अनुसंधान में सब पता चल जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.