एटीएम लूट मामले में महीनों बाद पुलिस खाली हाथ, चार एटीएम से लूट लिए गए थे 60 लाख रुपये

एटीएम लूट की घटनाओं में पुलिस अब तक खाली हाथ।
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 07:20 AM (IST) Author:

जेएनएन, गया: हाल के महीनों में गया और आसपास के इलाकों में एटीएम लूटकांड की घटनाएं  हुईं। चार एटीएम से करीब साठ लाख रुपये की लूट हुई थी। लेकिन अब तक एक भी मामले का पर्दाफाश पुलिस नहीं कर पाई है। घटना के समय तमाम दावे किए गए लेकिन पुलिसिया जांच ही चल रही है।

गौरतलब है कि एटीएम लूट की घटनाओं के उद्भेदन के लिए सिटी एसपी के नेतृत्व में एसआइटी गठित है। एसआइटी की जांच अभी चल रही है। ना तो अभी तक कहीं कोई सुराग मिला है और ना ही सीसीटीवी के आधार पर किसी गिरोह की पहचान हुई है। ऐसे में गिरोह तक पहुंचना पुलिस के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रही है। अब तक की जांच, अनुसंधान और एसआइटी की भागदौड़ के बाद भी परिणाम शून्य है। सिर्फ रामपुर एटीएम लूटकांड मामले में पुलिस ने एक लाइनर को गिरफ्तार किया था। उस लाइनर के सहारे भी एसआइटी गिरोह तक पहुंच नहीं पाई।

बोधगया में एटीएम से 25 लाख रुपये की हुई थी लूट : पुलिस महकमे के लिए 2020 की शुरुआत बहुत खराब रही। 8 फरवरी 2020 को बोधगया थाना क्षेत्र के दो मुहान पर स्थित एटीएम को काटकर अपराधी अपने साथ ले गए थे। उस एटीएम में 25 लाख रुपये थे। घटना को करीब 9 माह गुजर गए। एसआइटी भी गठित हुई। लेकिन लूटकांड का उद्भेदन नहीं हो सका।

रामपुर एटीएम से लूटे गए थे 22 लाख रुपये : अपराधियों के दुस्‍साहस का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रामपुर के पुलिस निरीक्षक कार्यालय के सामने एक बार फिर एटीएम को निशाना बनाया गया। यहां से एटीएम काटकर अपराधियों ने  22 लाख से अधिक राशि लूट ली। इस एटीएम लूटकांड की जांच चली। इसमें एक लाइनर पकड़ाया था। लेकिन पुलिस ने लाइनर को पकड़ कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। इस लूटकांड के करीब छह माह गुजर गए।

डोभी एटीएम से 13 लाख रुपये की हुई थी लूट : डोभी थाना क्षेत्र के चतरा मोड़ के पेट्रोल पंप के समीप 9 जुलाई को एटीएम से 13 लाख रुपये की लूट हुई थी। पुलिस जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज में एक गाड़ी दिखी। उसपर पश्चिम बंगाल का नंबर अंकित था। लेकिन उस नंबर का भी आज तक पता नहीं चला। इसी तरह शेरघाटी में एटीएम लूटने का प्रयास किया गया था। एटीएम काटने के क्रम में हजारों रुपये जल गए थे। इस कारण से अपराधी पैसा निकालने में सफल नहीं हुए थे। इस तरह से इस साल अब तक जिले में चार एटीएम लूटकांड को अपराधियों  ने अंजाम दिया। लेकिन किसी मामले का पर्दाफाश आज तक नहीं हुआ है।

एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि कोरोना महामारी और विधानसभा चुनाव के कारण अनुसंधान में परेशानी हुई है। पूर्व में एटीएम लूटकांड के लिए एसआइटी गठित है जो गिरोह का पता लगाने के लिए कार्य कर रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.