दिव्यांगों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर रोजगार दिया जाएगा : केंद्रीय मंत्री सुशील सिंह

औरंगाबाद समाहरणालय स्थित नगर भवन में दिव्यांगों के बीच उपकरण का वितरण को लेकर शिविर का आयोजन किया गया। सांसद सुशील सिंह व डीएम सौरभ जोरवाल ने उपकरण वितरण किए। कहा- दिव्यांगों को उपकरण देने के लिए हर संसदीय क्षेत्र के जिला मुख्यालय में मेगा शिविर लगाया जाएगा।

Sumita JaiswalMon, 02 Aug 2021 08:33 AM (IST)
दिव्‍यांग लड़की को ट्राइसाइकिल देते सांसद सुशील सिंह व डीएम सौरभ जोरवाल। जागरण फोटो।

औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के दिव्यांगजन सशक्तिकरण एवं सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग द्वारा आयोजित शिविर में सांसद सुशील कुमार सिंह एवं डीएम सौरभ जोरवाल ने दिव्यांगों के बीच उपकरण का विकरण किया। उपकरण वितरण के पूर्व शिविर को मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार, केंद्रीय राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक ने वर्चुअल तरीके से संबोधित किया।  समाहरणालय स्थित नगर भवन में रविवार को दिव्यांगों के बीच उपकरण का वितरण को लेकर शिविर का आयोजन किया गया था।

दिव्‍यांगजनों के लिए योजनाओं की जानकारी दी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के द्वारा देश के दिव्यांगों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई गई है। योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि दिव्यांगजन जागरूक होकर अपनी योजनाओं का लाभ ले। कहा कि केंद्र सरकार ने तय किया है कि दिव्यांगों को उपकरण देने के लिए हर संसदीय क्षेत्र के जिला मुख्यालय में मेगा शिविर का आयोजन किया जाएगा और दिव्यांगों के बीच उपकरण का वितरण किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने तय किया है कि दिव्यांगों को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर हुनरमंद बनाएगा और रोजगार मुहैया कराएगा। कहा कि सरकारी नौकरियों में दिव्यांगों को आरक्षण चार से बढ़ाकर पांच प्रतिशत कर दिया गया गया है। इसका लाभ देश के हर समाज के दिव्यांगों को मिलेगा।

हर जिला में स्वावलंबी सशक्तिकरण सह प्रशिक्षण केंद्र

सांसद सुशील कुमार सिंह ने कहा कि विद्यालयों में पढऩे वाले दिव्यांगों को न सिर्फ निशुल्क उपकरण दिया जा रहा है। बल्कि छात्रवृति भी दी जा रही है। हर समाज के दिव्यांगों को सरकार कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सीधे उनके तक पहुंचाया जा रहा है। पीएम मोदी दिव्यांगों के विकास और सशक्तिकरण को लेकर गंभीर हैं। देश के हवाइअड्डों, रेलवे स्टेशनों समेत अन्य औद्योगिक जगहों पर दिव्यांगों की सुविधा के लिए बनाए जा रहे रैंप के अलावा उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं की जानकारी दी। कहा कि दिव्यांगों के लिए हर जिला में स्वावलंबी सशक्तिकरण सह प्रशिक्षण केंद्र खोले जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने हर जनप्रतिनिधियों से अपील किया कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले दिव्यांगों की सूची तैयार कर सांसद के माध्यम से मंत्रालय को उपलब्ध कराने का काम करें ताकि आगे की शिविर में बचे हुए दिव्यांगों को उनके आवश्यक्तानुसार उपकरण दिया जाए।

पीएम मोदी का सपना, सबका साथ- सबका विकास

केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि यह पीएम मोदी का ही कुशल नेतृत्व है कि जिला मुख्यालय स्तर पर शिविर लगाकर दिव्यांगों को उपकरण मुहैया कराया जा रहा है। कहा कि पीएम मोदी का सपना है सबका साथ सबका विकास और आज यह सपना साकार होता दिख रहा है। सांसद ने कहा कि पीएम मोदी ने जनता से जो वादा करते हैं वह पूरा करते हैं। समाज के हर वर्ग का विकास करने का काम किए हैं। कहा कि हम अपने संसदीय क्षेत्र के हर दिव्यांगों की सहायता के लिए हर समय तत्पर रहते हैं। शिविर को काराकाट सांसद महाबली सिंह ने भी संबोधित किया। कार्यक्र में वर्चुअल तरीके से दिव्यांगजन सशक्तिकरण एवं सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के सचिव अंजली भावड़ा, संयुक्त सचिव डॉ. प्रबोध सेठ, एलिम्को के एमडी डीआर सरीन समेत अन्य अधिकारी शामिल हुए। डीएम ने बताया कि शिविर में 332 दिव्यांगों के बीच उनके आवश्यक्ता के उपकरण बांटे गए। सामजिक सुरक्षा निदेशक आलोक कुमार, सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी कृष्ण कुमार मौजूद रहे। संचालन प्रधानाध्यापक उदय कुमार ने किया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.