ध्यान रहे, क्वारंटाइन सेंटरों पर प्रवासियों को न हो दिक्कत

ध्यान रहे, क्वारंटाइन सेंटरों पर प्रवासियों को न हो दिक्कत
Publish Date:Mon, 25 May 2020 06:02 PM (IST) Author: Jagran

गया । अनुमंडल पदाधिकारी उपेंद्र पंडित और प्रखंड विकास पदाधिकारी पंकज कुमार ने सोमवार को प्रखंड मुख्यालय के आंबेडकर भवन में क्वारंटाइन सेंटरों के प्रभारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की। प्रभारियों ने बीडीओ को बताया कि बाराचट्टी और धनगाई थाने की पुलिस पदाधिकारी द्वारा वाहन जाच के दौरान परेशान किया जाता है। प्रखंड मुख्यालय से जारी पास दिखलाने के बाद भी नहीं मानते हैं। पदाधिकारियों ने प्रभारी की बातों को सुना और समाधान का आश्वासन दिया।

अनुमंडल पदाधिकारी उपेंद्र पंडित ने शिक्षकों को कहा कि आप सभी अपने-अपने सेंटरों की सफाई पर ध्यान दें। बाहर से आ रहे प्रवासियों को दिक्कत न हो, इसका ध्याना रखें। प्रवासी अगर सेंटर पर रोजगार करना चाहते हैं और तो वहा आप उचित कार्य को देखकर उन्हें काम दिला सकते हैं। सेंटर प्रभारियों ने कहा कि हमलोगों के सेंटर पर समय से खाना, चाय, नास्ता मिल रहा है। उनके जरूरत के सभी सामानों को सेंटर पर आने के बाद सरकार के तरफ से उपलब्ध करा रहे हैं। प्रखंड क्षेत्र के कुल 40 क्वारंटाइन सेंटरों में 3039 प्रवासी ठहरे हैं। इनमें से 951 को समय पूरा होने के बाद सेंटर प्रमाण देते हुए घर जाने इजाजत मिली है। अभी 2088 लोग मौजूद है। एसडीओ ने सुलेबटा उच्च विद्यालय सब क्वारंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया।

------------

वेतन भुगतान पर

रोक, स्पष्टीकरण मांगा

मध्य विद्यालय काहुदाग के प्रभारी ने बीडीओ को बताया कि काहुदाग सेंटर पर प्रतिनियुक्त शिक्षक सुधीर कुमार समय पर अपने कार्य में योगदान नहीं ले रहे हैं। शिकायत के आधार पर बीडीओ ने शिक्षक सुधीर कुमार के वेतन भुगतान पर रोक लगाते हुए स्पष्टीकरण पूछा है।

----------

जायजा लेकर ईद की दी बधाई

संवाद सूत्र, बाराचट्टी : बीडीओ ने सोमवार को क्वारंटाइन सेंटरों का निरीक्षण कर ठहरे प्रवासियों का हालचाल जाना। विशेषकर ईद के लिए की गई व्यवस्था जांची। साथ ही सभी को ईद पर्व की बधाई दी। सेंटर पर ठहरे सदाब अंसारी, सुलेमान रजा, नजमत हुसैन ने बताया कि सभी व्यवस्था पूर्ण है। खाना या नास्ते की कोई कमी नहीं है।

------------

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.