Gaya news: पुलिस ने झारखंड से आ रही शराब की बड़ी खेप के साथ एक को गिरफ्तार तो कर लिया पर हो गई इतनी बड़ी गलती, देखें तस्वीर

गया के नक्सल प्रभावित इमामगंज थाना के द्वारा शराब पकड़ी गई वहां लाने के बाद उसे थाने में बने चबूतरे पर रख दिया गया। इसी चबूतरे पर झंडोत्तोलन भी किया जाता है। चबूतरे के नीचे राष्ट्रीय ध्वज का प्रतीक बना हुआ है और जय हिंद भी लिखा है। 

Prashant Kumar PandeySun, 05 Dec 2021 09:44 PM (IST)
गया के इमामगंज थाने में चबूतरे पर रखी शराब

 गया: जिले में गया के नक्सल प्रभावित इमामगंज थाना क्षेत्र में झारखंड से एक पिकअप पर 19 कार्टन शराब आ रही थी। जिसे इमामगंज प्रखंड के कोठी थाने की पुलिस ने पकड़ लिया। बताया जाता है कि यह शराब गया और जहानाबाद के क्षेत्र में डिलीवर करना था। गिरफ्तार तस्कर दूसरी बार यह खेप लेकर आ रहे थे। इस घटना में संलिप्त एक तस्कर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है उससे पूछताछ अभी जारी है पर शराब जिस चबूतरे पर रखी गई वह राष्ट्रध्वज फहराने का चबूतरा था। हालांकि जैसे ही इस बात का इल्म हुआ उसको सुधार कर लिया गया।

पुलिस चौकीदार ने किया राष्ट्रध्वज का अपमान

गया के नक्सल प्रभावित इमामगंज थाना के द्वारा शराब पकड़ी गई वहां लाने के बाद उसे थाने में बने चबूतरे पर रख दिया गया। लेकिन जिस चबूतरे पर उसे रखा गया वह चबूतरा राष्ट्रध्वज का चबूतरा है। इसी चबूतरे पर झंडोत्तोलन भी किया जाता है। चबूतरे के नीचे राष्ट्रीय ध्वज का प्रतीक बना हुआ है और जय हिंद भी लिखा है। 

लोगों ने इस तरह के कार्य पर जताई आपत्ति, बाद में पुलिस ने सुधारी गलती

 इस दृश्य को देखकर आस-पास के लोगों ने आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि यह राष्ट्रध्वज चबूतरे का अपमान है। जब पुलिस और प्रशासन के लोग ही ऐसा करने लगेंगे तो हम जैसे आम जनों का क्या होगा। यह लोग ही राष्ट्रध्वज का और राष्ट्र का सम्मान करना सिखाते हैं लेकिन खुद ही इतनी बड़ी गलती कर बैठते हैं यह वाकई काफी शर्मनाक है। थाने के जिस चौकीदार ने यह कार्य किया उसे बाद में इस बात का इल्म हुआ तब उसने अपनी गलती सुधारी। इस संबंध में पूछने पर कोठी थाना अध्यक्ष उमा शंकर ने बताया कि जानकारी मिली है। चौकीदार ने गलती से शराब को विशेष पूज्य स्थान पर रख दिया। जैसे ही इस बात का आभास हुआ तो उक्त विशेष जगह से उसे तुरंत हटा दिया गया है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.