Bihar: औरंगाबाद में सिक्‍याेरिटी गार्ड और मशीन ऑपरेटर की नौकरी के लिए पहुंचे बीटेक और एमबीए युवा

रोजगार मेला में शिक्षित युवक एवं युवती कैसे दौड़ लगा रहे है यह बिहार के औरंगाबाद जिला में देखने के लिए मिला। यहां जिला नियोजनालय कार्यालय में रोजगार मेला का आयोजन किया गया। 10वीं पास योग्‍यता वाली नौकरी के बलए 115 शिक्षित बेरोजगार जॉब का सपना लिए नियोजनालय कार्यालय पहुंचे।

Prashant KumarWed, 04 Aug 2021 04:21 PM (IST)
रोजगार मेले में अभ्‍यर्थियों के आवेदन देखकर दंग रह गए अधिकारी। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर।

औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। बेरोजगारी के मेले में रोजगार के लिए शिक्षित युवक एवं युवती कैसे दौड़ लगा रहे है यह बुधवार को देखने के लिए मिला। यहां जिला मुख्यालय स्थित जिला नियोजनालय कार्यालय में रोजगार मेला का आयोजन किया गया। मेले की जानकारी मिलते ही पूरे जिले के 115 शिक्षित बेरोजगार नौकरी का सपना लिए नियोजनालय कार्यालय पहुंचे।

मेले में पटना (Patna) की कलिश सिक्यूरिटी सर्विसेज एवं नई दिल्ली (New Delhi) की एडवांटेज कंपनी पहुंची थी। सिक्यूरिटी कंपनी को गार्ड के लिए 10वीं पास युवक एवं एडवांटेज कंपनी को मशीन आपरेटर के लिए आइटीआइ योग्यताधारी युवक की जरूरत थी। मेले में पहुंचे शिक्षित बेरोजगारों से जब बायोडाटा और प्रमाण पत्र की मांग की जाने लगी तो बीटेक, एमबीए एवं पीजी योग्यताधारी बेरोजगारों ने अपना बायोडाटा दिया। योग्यता लिए बेरोजगारों ने जिला नियोजनालय के नियोजन पदाधिकारी नंदकिशोर शाह से कहा कि सर हम शर्मिंदा है, डिग्री लेकर किसी तरह जिंदा है।

नौकरी नहीं मिल रही है, जिससे जिंदगी में तनाव बना हुआ है। मदनपुर थाना क्षेत्र के रतनपुरा गांव से बीटेक डिग्री लिए पहुंचा राजेश कुमार, शहर के क्षत्रीय नगर निवासी विकास कुमार (एमबीए), सुंदरगंज निवासी रणधीर कुमार (बीटेक) एवं ओबरा के अरंडा गांव निवासी पीजी योग्यताधारी आनंद कुमार ने कहा कि कोरोना के कारण भी नौकरी नहीं मिल रही है। नौकरी नहीं मिलने से बेरोजगार बैठे हैं। सभी ने कहा कि सोचा था बीटेक, एमबीए करने के बाद नौकरी मिल जाएगी।

बेरोजगारी ऐसी है कि नौकरी नहीं मिल रही है। सरकारी विभाग में भी बहाली नहीं निकल रही है। सभी ने बताया कि जब हमलोगों को नौकरी के लिए इतना दौड़ लगाना पड़ रहा है तो जो साधारण योग्यताधारी है उन्हें रोजगार नहीं मिल सकेगा। कहा कि अपना रोजगार भी पूंजी के अभाव में नहीं कर सकते हैं। जिला नियोजन पदाधिकारी एवं एडवांटेज कंपनी के एचआर मैनेजर रौशन मिश्रा ने कहा कि रोजगार मेले में 115 युवक और युवतियां पहुंचे। सभी का बायोडाटा लिया गया।

15 लोगों का चयन रोजगार के लिए किया गया है। कंपनी के कार्यालय से सभी को योगदान के लिए पत्र भेजा जाएगा। कंपनी के एचआर मैनेजर ने कहा कि बेरोजगारी कैसी है, यह रोजगार मेले का देखने को मिला। बता दें कि जो रोजगार के सपने लिए मेले में पहुंचे थे नौकरी नहीं मिलने पर उदास होकर अपने घर लौट गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.