औरंगाबाद में पैक्‍स अध्‍यक्ष की राइस मिल पर फायरिंग करने वाले दोनों अपराधी आ गए पुलिस की गिरफ्त में

गिरफ्तार अपराधियों में हसपुरा थाना क्षेत्र के चमन बिगहा वर्तमान हैदरगंज मोड़ निवासी कमलेश यादव( पिता लालदेव यादव) एवं गया जिला के कोंच थाना क्षेत्र के सिंघड़ा गांव निवासी राजू सिंह उर्फ राजेश सिंह (पिता रामराज सिंह ) शामिल हैं।

Prashant KumarThu, 03 Jun 2021 05:20 PM (IST)
पुलिस की गिरफ्त में फायरिंग करने वाले बदमाश। जागरण।

जागरण संवाददाता, औरंगाबाद। जिला मुख्यालय स्थित एसपी की डीआइयू की टीम व हसपुरा थाना पुलिस ने बुधवार को हसपुरा थाना क्षेत्र के सर्वोदय मेहता के बागीचा में अपराध की योजना बनाते दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। करीब छह की संख्या में रहे सशस्त्र अपराधियों का गिरोह बागीचा में किसी अपराध करने की योजना बनाने के लिए एकत्रित हुए थे।

सूचना पर पुलिस की टीम ने छापेमारी की और दो अपराधियों को धर दबोचा। अन्य अपराधी भागने में सफल रहे। गिरफ्तार अपराधियों में हसपुरा थाना क्षेत्र के चमन बिगहा वर्तमान हैदरगंज मोड़ निवासी कमलेश यादव( पिता लालदेव यादव) एवं गया जिला के कोंच थाना क्षेत्र के सिंघड़ा गांव निवासी राजू सिंह उर्फ राजेश सिंह (पिता रामराज सिंह ) शामिल हैं। गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने एक लोडेड देसी पिस्टल एवं एक कारतूस बरामद किया है।

एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने बताया कि 30 मई को हसपुरा थाना क्षेत्र के कोइलवां गांव स्थित पैक्स सह व्यापार मंडल अध्यक्ष के राइस मिल पर नक्सली संगठन के नाम पर लेवी को लेकर फायरिंग करने की घटना के बाद पुलिस इस घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर लगातार छापेमारी कर रही थी। इसी दौरान पुलिस को अपराधियों के द्वारा अपराध करने की योजना बनाने के लिए सर्वोदय मेहता के बागीचा में एकत्रित होने की सूचना मिली। सूचना पर डीआइओ व थाना की पुलिस की टीम ने छापेमारी की और राजू एवं कमलेश को गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी से पैक्स अध्यक्ष के राइस मिल एवं खुदवां थाना क्षेत्र के एक पेट्रोल पंप पर हुई लूट मामले का पर्दाफाश हुआ है।

गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर कमलेश के घर से पैक्स अध्यक्ष के राइस मिल पर रहे मजदूर की लूटी गई मोबाइल एवं खुदवां थाना क्षेत्र के पेट्रोल पंप के कर्मी से लूटी गई मोबाइल को बरामद किया गया है। एसपी ने गिरफ्तार दोनों अपराधियों ने राइस मिल पर फायरिंग और पेट्रोल पंप पर लूट समेत अन्य आपराधिक घटनाओं में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। अपने गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में बताया है। फरार अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों का गिरोह आसपास के थाना क्षेत्र के इलाके में नक्सली संगठन के नाम पर रंगदारी वसूलने का काम करता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.