अधौरा प्रखंड में 10 मुखिया की विदाई, दुबारा बड़वान की मुखिया बनीं गुलाबी देवी, बभनी कला में मुखिया बने 22 वर्षीय भगवान

पंचायत चुनाव में मतदाताओं ने 11 पंचायतों में 10 पंचायतों के निवर्तमान मुखिया की विदाई कर दी। बभनी कला पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया भगवान सिंह ने सबसे कम उम्र ने मुखिया बनने का गौरव प्राप्त किया है। वे 22 वर्ष की उम्र में मुखिया की कुर्सी पर काबिज हुए हैं।

Prashant Kumar PandeyWed, 01 Dec 2021 06:12 PM (IST)
भभुआ के अधौरा प्रखंड में 10 मुखिया की हुई विदाई, पंचायत चुनाव सांकेतिक तस्वीर

 संवाद सहयोगी मोहनियां: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव बदलाव की बयार रुकने का नाम नहीं ले रही है। मतदाताओं ने यह साबित कर दिया है कि लोकतंत्र में किसी पद पर किसी जनप्रतिनिधि का एकाधिकार नहीं हो सकता। पांच वर्ष बाद नकारा जनप्रतिनिधियों को वे बाहर का रास्ता दिखाने से परहेज नहीं करेंगे। नवें चरण में अधौरा प्रखंड में भी यह देखने को मिला। इस प्रखंड हुए में हुए पंचायत चुनाव में मतदाताओं का मिजाज बदला हुआ था। जिन्होंने 11 पंचायतों में 10 पंचायतों के निवर्तमान मुखिया की विदाई कर दी। इस प्रखंड के सिर्फ बड़वान कला की गुलाबी देवी ने दोबारा जीत की खुशबू बिखेरी है। 

गुलाबी अपने निकटतम प्रतिद्वंदी को 174 मतों से पराजित किया

गुलाबी ने 838 मत प्राप्त कर अपने निकटतम प्रतिद्वंदी शारदा देवी (664) को 174 मतों से पराजित कर दिया। दीघार पंचायत से पैक्स अध्यक्ष भोलानाथ सिंह ने मुखिया पद पर जीत का परचम लहराया। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी श्रीभगवान सिंह को 426 मतों से पराजित किया। अधौरा प्रखंड में सबसे अधिक मतों से जीत दर्ज करने वाली आथन पंचायत की नवनिर्वाचित मुखिया कौशल्या देवी रहीं। जिन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रामावती देवी को 968 मतों से पराजित किया। कौशल्या देवी को 1534 पार्वती देवी को 566 मत मिले थे। सबसे कम मतों से जीत दर्ज करने वाले अधौरा प्रखंड के नवनिर्वाचित मुखिया गौरी शंकर सिंह रहे। जिन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी जमीर अहमद को मात्र पांच मतों से पराजित किया। गौरी शंकर सिंह को 628 एवं जमील अहमद को 623 मत मिले थे।

भगवान सिंह सबसे कम उम्र के मुखिया बने

जमुनीनार,कोल्हुआं,अधौरा, डुमरांवा,बभनी कला,चैनपुरा,आथन,सड़की व सारोदाग पंचायत में नए लोगों को मुखिया की कमान मिली है। बभनी कला पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया भगवान सिंह ने सबसे कम उम्र ने मुखिया बनने का गौरव प्राप्त किया है। वे 22 वर्ष की उम्र में मुखिया की कुर्सी पर काबिज हुए हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.