हैलो, कहां हो भाभी, फोन पर आई इस आवाज से पुलिस को मिली राहत, जानिए नवादा की यह कहानी

मोबाइल पर आए काॅल से हुई मृतका व बच्‍चों की पहचान। प्रतीकात्‍मक फोटो

नवादा में महिला और चार बच्‍चों की हत्‍या की तफ्तीश में पुलिस जुटी हुई है। मोबाइल फोन से पुलिस को महत्‍वपूर्ण जानकारी मिलने की उम्‍मीद है। पति एवं सास-ससुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनपर मृतका के पिता ने जहर देकर हत्‍या की प्राथमिकी दर्ज कराई है।

Vyas ChandraThu, 13 May 2021 03:07 PM (IST)

रजौली (नवादा), संवाद सहयोगी। नवादा के फुलवरिया डैम से बुधवार की सुबह महिला और उसके बच्चों के शव मिलने के बाद इस अनसुलझे मामले की गुत्‍थी सुलझाने में एक फोन कॉल बेहद मददगार साबित हुई। बुधवार को डैम से एक महिला और तीन बच्‍चों का शव मिला था। पड़ताल जब आगे बढ़ी तो बाद में यहां एक और शव मिला। हालांकि, इसके बीच पुलिस काफी देर तक अंधेरे में ही तीर चलाती रही। गांव वालों से महिला और बच्‍चों की पहचान नहीं हो पाने के बाद पुलिस की चुनौती बढ़ गई थी, लेकिन महिला के पास मिले एक मोबाइल ने इस मुश्किल को आसान कर दिया।

बुधवार को जब डैम में शव मिले तो पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी, सभी की पहचान कराने की। आसपास के गांव के जमा हुए लोग किसी की पहचान करने की हालत में नहीं थे। पुलिस को तब एक उम्मीद की किरण मिली, जब महिला के शव की तलाशी में पास से एक मोबाइल मिला। हालांकि तब मोबाइल की बैटरी डिस्‍चार्ज होने के कारण चालू नहीं हो सका। पुलिस ने दूसरे मोबाइल में सिम लगाकर उसे जैसे ही ऑन किया, उधर से एक कॉल आई। कॉल करने वाली एक महिला थी। उसने कहा, हैलो, कहां हो भाभी। इसके बाद तो पुलिस के लिए केस आसान हो गया। 

थानाध्‍यक्ष व मृतका की ननद की हुई मोबाइल पर बातचीत

मोबाइल पर कॉल करने वाली महिला को इधर से पुरुष की आवाज सुनाई थी। यह थी पुलिस अफसर की आवाज। उन्‍होंने पूरी घटना की जानकारी दी और उससे जरूरी जानकारी ली। चंद मिनटों की बातचीत में शवों की शिनाख्त हो चुकी थी। नाम-पता से लेकर आवासीय पता से पुलिस अवगत हो चुकी थी। यह बातचीत मृतका निर्मला देवी की ननद मनती देवी और रजौली के थानाध्यक्ष दरबारी चौधरी के बीच हुई थी। मृतका का नाम-पता मिलने के बाद रजौली थानाध्यक्ष दरबारी चौधरी सिरदला थाना इलाके के कसियाडीह गांव उसके घर तक पहुंचे।

यह भी पढ़ें- Nawada: अनसुलझी है महिला व चार बच्‍चों की हत्‍या की गुत्‍थी, पति व सास-ससुर पर हत्‍या की प्राथमिकी

चार बच्‍चे के साथ निकली थी निर्मला...

लेकिन पुलिस की परेशानी यहीं खत्‍म होनेवाली नहीं थी। खैर, सिरदला के थानाध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा भी साथ थे। वहां घर के सभी सदस्य गायब मिले। घर के सभी दरवाजे खुले थे। पुलिस को यह बात समझ नहीं आई कि घर के लोग गायब क्यों हैं। आसपास के लोगों ने सिर्फ इतना बताया कि मृतका निर्मला अपने चार बच्चों के साथ मंगलवार को घर से बाहर जाती दिखी थी। बहन के घर शादी में शामिल होने की बात कह यहां से गई थी। यहां से पुलिस की परेशानी अचानक फिर से बढ़ गई। ग्रामीणों ने चार बच्चों का जिक्र किया था, जबकि महिला के साथ तीन बच्चों का ही शव मिला था। इसके बाद पुलिस फिर से डैम के पास पहुंची और स्थानीय गोताखोरों की मदद ली। इसबार पांचवां शव भी मिला, जो महिला की बड़ी बेटी नीतू का था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.