गया पुलिस को मिली बड़ी सफलता, पटना, नालंदा व झारखंड के चार शातिर अपराधी को दबोचा

धनबाद पटना और नालंदा पुलिस को भी इन शातिरों की तलाश थी। मानपुर में हाईवा लूटने की योजना बना रहे थे। पुलिस ने घेराबंदी कर कार्रवाई की। नालंदा का मोस्‍ट वांटेड ईश्‍वर दोहरे सैप जवान का हत्यारोपित संतोष और वर्षो से फरार धनबाद का रंजीत गिरफ्त में।

Sumita JaiswalTue, 03 Aug 2021 07:25 AM (IST)
अंतरराज्यीय गिरोह के चार सदस्यों को पुलिस ने धर दबोचा, सांकेतिक तस्‍वीर।

गया, जागरण संवाददाता। गया पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। लूट की योजना बनाते अंतरराज्यीय गिरोह के चार सदस्यों को पुलिस ने रविवार की रात को मुफस्सिल थाना क्षेत्र में गया-नवादा राष्ट्रीय राजमार्ग पर पेट्रोल पंप के पास से धर दबोचा। गिरफ्तार अपराधियों पर झारखंड के धनबाद, बिहार के पटना, नालंदा और गया जिले के अलग-अलग थानों में दर्जनों मामले दर्ज हैं।

सोमवार को वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार ने प्रेस वार्ता में बताया कि मानपुर में छह शातिर अपराधी छुपे होने की सूचना मिली थी। घेराबंदी की गई। वहां से चार शातिर दबोचे गए। वहीं दो अपराधी भागने में सफल रहे।

पुलिस टीम ने गया-नवादा एनएच पर मेहता पेट्रोल पंप के पास एक सियाज कार की घेराबंदी की तो उसमें छह अपराधी सवार थे। वे हाईवा लूटने की योजना बना रहे थे। पुलिस को देख कर दो अपराधी फरार हो गए जबकि पुलिस ने कार समेत चार शातिरों को धर दबोचा।

ये हुए गिरफ्तार

 गिरफ्तार अपराधियों में गया जिले के मुफस्सिल थाना के भदेजा गांव निवासी ईश्वर चौधरी उर्फ गौड़, संतोष चौधरी उर्फ ढकनी चौधरी, मझौली मूरहठा गांव निवासी रंजीत पासवान एवं चंदौती थाना क्षेत्र के मगध कॉलोनी रोड नंबर तीन निवासी आशीष रंजन हैं। इनसे लोडेड दो नाली बंदूक, देसी कट्टा, पांच कारतूस और पांच मोबाइल बरामद किया गया है। इनपर तीन दर्जन मामले दर्ज हैं। ईश्वर पर चोरी के चार, लूट व चोरी के सामान बरामदगी के तीन, उपद्रव फैलाने, आम्र्स एक्ट का दो-दो मामले दर्ज हैं। संतोष पर हत्या का एक, हत्या के प्रयास का दो, लूट व चोरी के एक-एक, रंजीत पर दोहरे हत्याकांड का एक और चोरी, फायङ्क्षरग व लूट के दो-दो मामले दर्ज हैं।

सैप जवान की हत्या का आरोपित है सरगना संतोष चौधरी :

एसएसपी ने बताया कि गिरोह का सरगना कुख्यात अपराधी संतोष चौधरी उर्फ ढकनी चौधरी है। वह चोरी, लूट, डकैती के कई मामले में आरोपित है। उसपर गया शहर के विष्णुपद थाना में कांड दर्ज है। इस कांड में सैप जवान की विष्णुपद क्षेत्र में हत्या की गई थी। उसपर मुफस्सिल थाना में छह, मेडिकल कालेज, बोधगया एवं बुनियादगंज थाना में एक-एक मामला दर्ज है।

नालंदा का वांटेड है ईश्वर : ईश्वर चौधरी पर कुल आठ मामले दर्ज हैं। नालंदा जिले के दीपनगर थाना में कांड दर्ज है उसमें वह फरार है। उसपर बोधगया, मगध मेडिकल, रामपुर, कोतवाली और मुफस्सिल थाना में भी मामले दर्ज हैं।

धनबाद के केस में वर्षो से फरार था रंजीत पासवान : तीसरे अपराधी रंजीत पासवान पर झारखंड के धनबाद जिले के कतरास थाना में कांड दर्ज है। रंजीत गया जिले के टनकुप्पा थाना में दर्ज दोहरे हत्याकांड का आरोपित है। उसने कुख्यात आरोपित तिरेल यादव के साथ मिलकर आकाश उर्फ बिट्टू और राहुल यादव को मार दिया था। कई वर्षों से फरार चल रहा था।  तिरैल यादव के साथ मिलकर बीते दिनों विष्णुपद थाना क्षेत्र में बाबू धोबी की गोली मारकर हत्या की कोशिश की थी। वह आरोपित बनाया गया है। चौथा आरोपित आशीष रंजन पटना जिले के जक्कनपुर थाना में शराब पीकर वाहन चलाने में जेल गया था।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.