Gaya News: गया डीएम की दो टूक, कोविड का टीका नहीं तो जून का वेतन भी नहीं

गया के डीएम अभिषेक सिंह ने साफ-साफ फरमान सुनाया है कि टीका लगवाना सबको जरूरी है। बगैर टीकाकरण करवाएं जून का वेतन नहीं मिलेगा। मध्याह्न भोजन योजना के सभी रसोइया एवं शिक्षकों को टीका लगवाने का सख्‍त निर्देश दिया गया है

Sumita JaiswalMon, 14 Jun 2021 07:57 AM (IST)
गया के डीएम अभिषेक सिंह मेडिकल कॉलेज में निरीक्षण करते हुए, जागरण फोटो।

गया, जागरण संवाददाता। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने सरकारी शिक्षकों से कहा है कि जो भी कोविड-19 का टीका नहीं लगवाएं हैं उन्हें जून माह का वेतन टीकाकरण के बाद ही दिया जाएगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी को सख्त निर्देश दिया है कि मध्याह्न भोजन योजना के सभी रसोइया एवं शिक्षकों साथ ही उनके स्वजनों को जिन्होंने अबतक टीका नहीं लिया है उनका दोनों डोज लेना सुनिश्चित करें। शनिवार को हुई समीक्षा बैठक में बताया गया कि शिक्षकों को टीकाकरण के लिए विशेष सुविधा मिलने के बावजूद संतोषजनक उपलब्धि प्राप्त नहीं हुई है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जिले में कार्यरत विभिन्न होम डिलीवरी के डिलीवरी ब्यॉय का कोरोना जांच अनिवार्य होगा। ताकि संक्रमित पाए जाने की स्थिति में उनका बेहतर इलाज किया जा सके। वे दूसरों को संक्रमित न कर सकें। कोरोना जांच की व्यवस्था जेपीएन अस्पताल में डिलीवरी ब्यॉय के लिए विशेष रूप से की गयी है। जिला परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि यात्री बसों/ऑटो रिक्शा में शारीरिक दूरी एवं मास्क का प्रयोग संबंधी जांच औचक रूप से करना सुनिश्चित करेंगे। बैठक में विभिन्न विभागों के वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के लिए दिए ये निर्देश

  गया के जिलापदाधिकारी अभिषेक सिंह नेअनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल में जलजमाव से निजात पाने हेतु स्थाई रूप का नाला निर्माण कराने के लिए नगर आयुक्त गया नगर निगम  सावन कुमार, अधीक्षक अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल, कार्यपालक अभियंता बुडको, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी सहित स्वास्थ्य विभाग के अभियंताओं के साथ पूर्व में विचार विमर्श किया गया था।

                     इसी परिप्रेक्ष्य में जिला पदाधिकारी द्वारा आज निर्माणाधीन नाले का जायजा लिया गया। उन्होंने निर्देश दिया कि एमसीएच वार्ड तथा ईएनटी वार्ड के निकट जलजमाव के पानी को निकालने हेतु सड़क के किनारे लगभग 3 फीट की ऊंचाई वाला रिटेनिंग वॉल निर्माण कराने का निदेश दिया। रिटेनिंग वॉल निर्माण होने से ऊंचाई वाले क्षेत्र से आने वाले बरसात का पानी सड़क पर तथा वार्ड में प्रवेश नहीं करेगा। रिटेनिंग वॉल निर्माण होने से वर्षा का पानी गड्ढा में चला जाएगा, यत्र तत्र तथा वार्डो में पानी प्रवेश नहीं करेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.