गया में यूरिया खाद की किल्लत व कालाबाजारी को लेकर किसानों ने किया सड़क जाम

गया जिला के अतरी प्रखंड में यूरिया खाद की किल्लत और कालाबाजारी को लेकर कई गांवों के किसानों ने बैजू गोप के नेतृत्व में प्रदर्शन किया। कारण यह कि उन्हें फसल में डालने के लिए यूरिया नहीं मिल रही है।

Fri, 24 Sep 2021 06:00 AM (IST)
गया के अतरी में सड़क जाम करते आक्रोशित किसान। जागरण फोटो।

अतरी (गया), संवाद सहयोगी। यूरिया खाद की किल्लत और कालाबाजारी को लेकर कई गांवों के किसानों ने बैजू गोप के नेतृत्व में गुरुवार को सेवतर बाजार में वजीरगंज-राजगीर मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। सेवतर रिउला, जेठियन, रजबिघा,खेतीला, भलुआ, धौकल बीघा सहित करीब एक दर्जन गांव के किसान ने बताया कि हम किसानों को खाद विक्रेता और एजेंसी द्वारा खाद नहीं दिया जा रहा है। साफ शब्दों में कहता है कि खाद नहीं है जबकि रात के अंधेरे में कालाबाजारी से दर्जनों बोरा खाद भेजा जा रहा है। खाद का सरकारी रेट 266 रुपया प्रति बोरा है, जबकि 450 रुपया प्रति बोरा तक बेचा जा रहा है।

फसल की चिंता में किसान बेचैन

किसानों का कहना है कि खाद के अभाव में धान फसल प्रभावित हो रहा है। कृषि पदाधिकारी कभी अपने देखने तक नही आते है। बीडीओ, सीओ से शिकायत करने पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यदि यूरिया खाद अविलंब उपलब्ध नहीं कराया गया तो हम किसान अपनी जान देने को मजबूर हो जाएंगे। खाद को लेकर सड़क जाम की सूचना मिलते ही कृषि पदाधिकारी एवं थाना के एएसआइ सकुल्ला खान जाम स्थल पर पहुंचे।  किसानों ने कृषि पदाधिकारी को बताया की 450 रुपया बोरा खाद रात में बेचा जाता है।

इसके बाद कृषि पदाधिकारी एवं पुलिस बल की मौजूदगी में दो दुकानों में छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान शंकर ट्रेडर्स से 80 बोरा खाद तथा श्री राम ट्रेडर्स से 16 बोरा खाद बरामद किया गया। सभी बरामद खादों को उपस्थित किसानों के बीच बैजू गोप के नेतृत्व में बंटवाया गया। प्रखंड कृषि पदाधिकारी ने बताया कि दोनों दुकानदारों के विरूद्ध खाद कालाबाजारी करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। मौके पर भूषण ¨सह, सुनीता देवी, सुनैना देवी, अर¨वद कुमार, ललन कुमार, बृजनंदन चौहान के सहित कई दर्जन किसान मौजूद थे।

खाद लेने को बिस्कोमान भवन के पास उमड़ी किसानों की भीड़

टनकुप्पा में खाद को लेकर बुधवार को किसान द्वारा सड़क जाम करने के बाद गुरुवार को बिस्कोमान भवन के पास किसानों की बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई। खाद वितरण करने से पहले प्रशासन द्वारा किसान के बीच वार्ता कर समझाते हुए पंचायतवार खाद वितरण कराने पर सहमति बनी। तब खाद को वितरण शुरू किया गया। गुरुवार को भी खाद वितरण में विलंब होने को लेकर किसान आक्रोशित हो रहे थे। आखिर किसान के गुस्से को थानाध्यक्ष अजय कुमार, बीएओ संजय कुमार, बिस्कोमान प्रबंधक एवं समाजसेवियों ने समझौता के तहत शांत कर दोपहर से खाद वितरण शुरू कराया गया। पुलिस प्रशासन को खाद वितरण कराने में पसीना बहाना पड़ा। वहीं किसान भी खाद के लिए इंतजार में खड़े रहे। बता दें बुधवार को प्रखंड के किसान खाद नहीं बांटे जाने के विरोध में गया-रजौली स्टेट हाइवे 70 को चार घंटे जाम कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी किसान से वार्ता कर प्रशासन सड़क जाम को हटवाया। प्रखंड कृषि पदाधिकारी संजय कुमार ने बताया कि बिस्कोमान भवन में 800 बोरी खाद का भंडारण है। उसे सभी पंचायत में बराबर रूप से बाट दिया जाएगा। इसके बाद पुन: खाद आने पर किसान के बीच वितरित की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.