दहेज नहीं बनेंगे बेटियों की शादी में बाधक, चार दिसंबर को औरंगाबाद होगा सामूहिक विवा‍ह

समाज से दहेज बाल विवाह जैसी कुरितियाें को मिटाने के उद्देश्‍य से औरंगाबाद में सामूहिक विवाह का आयोजन किया जा रहा है। इसमें दूल्‍हा-दुल्‍हन बिना खर्च सात फेरे ले सकेंगे। यह आयोजन बासुकीनाथ सेवा समिति की ओर से किया जाने वाला है।

Prashant KumarThu, 02 Dec 2021 02:33 PM (IST)
चार दिसंबर को औरंगाबाद में होगा सामूहिक विवाह का आयोजन। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर।

संवाद सूत्र, अंबा (औरंगाबाद)। समाज से दहेज, बाल विवाह जैसी कुरितियाें को मिटाने के उद्देश्‍य से औरंगाबाद में सामूहिक विवाह का आयोजन किया जा रहा है। इसमें दूल्‍हा-दुल्‍हन बिना खर्च सात फेरे ले सकेंगे। यह आयोजन बासुकीनाथ सेवा समिति की ओर से किया जाने वाला है। नवविवाहित जोड़े को समिति की तरफ से उपहार देने पर भी विचार किया जा रहा है। इस संदर्भ में समिति के सदस्‍यों ने अंबा प्रखंड के डिहरी गांव में बैठक की। इस वर्ष सामूहिक विवाह में शामिल होने वाले जोड़े समिति में रजिस्‍ट्रेशन करा चुके हैं। अब उनकी शादी किस तरह कराई जाए, इस पर बैठक में विचार किया गया।

समिति के अध्यक्ष वरुण कुमार सिंह ने बताया कि सामूहिक विवाह में शामिल होने वाले सभी लड़के और लड़कियों की उम्र का सत्‍यापन कराया जा रहा है। शादी के लिए लड़के की उम्र 21 वर्ष एवं लड़की की 18 वर्ष होना अनिवार्य है। इससे कम उम्र में शादी करना कानूनन अपराध है, इसलिए उनकी आयु का पता लगाना जरूरी है। अभिभावकों से शपथ पत्र भी लिया जाता है, जिसमें वे लिखकर देते हैं कि उनके बच्‍चे की उम्र कितनी है। इसके अलावा वर पक्ष से एक शपथ पत्र अलग से लिया जाता है। इसमें वे लिखकर देते हैं कि उन्‍होंने किसी प्रकार का दहेज नहीं लिया और भविष्‍य में लड़की वालों से किसी तरह की मांग नहीं करेंगे। 

अध्‍यक्ष ने बताया कि सामूहिक विवाह के आयोजन का मुख्य उद्देश्य बाल विवाह, दहेज प्रथा तथा आडंबर व दिखावे को रोकना है। सामूहिक विवाह से इस तरह के कुरीतियों पर रोक लगेगी। वर वधु के माता-पिता को सामूहिक विवाह के आयोजन से संबंधित सारी जानकारी दी गई है। चार दिसंबर को निर्धारित समय पर आयोजन स्थल पर पहुंचने को कहा गया है। समिति की ओर से वर-वधु को उपहार देने का प्रबंध किया गया है। समिति के युवा तन मन धन से इस आयोजन को सफल बनाने में जुटे हुए हैं। सचिव राकेश पाठक, कोषाध्यक्ष जेपी गुप्ता, विमलेश सिंह, कमलेश सिंह, अजय स्वर्णकार, अभिषेक सिंह, पुरुषोत्तम सिंह, मृत्युंजय सिंह उपस्थित रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.