नवादा-जमुई पथ पर दुर्घटना में उपप्रमुख के भतीजे की मौत, शादी के एक साल बाद ही विधवा हुई पत्‍नी

नवादा-जमुई पथ पर दुर्घटना में उपप्रमुख के भतीजे हिमांशु की मौत हो गई। हाल ही में शादी की पहली सालगिरह मनाई थी। पत्‍नी को छह माह का गर्भ है। नए सिरे से जिंदगी सजाने-संवारने में जुटा था कि हादसे ने परिवार को तोड़ दिया। विधायक भी ढाढ़स बंधाने पहुंची

Sumita JaiswalMon, 21 Jun 2021 08:33 AM (IST)
हिमांशु की मौत पर विलाप करतीं मां व परिजन। जागरण फोटो।

पकरीबरावां (नवादा), जागरण संवाददाता।  नवादा-जमुई पथ पर डुमरावां पेट्रोलपंप के समीप रविवार को दो बाइक की आमने-सामने की टक्कर में एक की मौत घटना स्थल पर ही हो गई। मृतक युवक डोला गांव निवासी प्रखंड उपप्रमुख दिनेश सिंह का भतीजा हिमांशु कुमार (30 वर्ष) था। शादी के एक साल बाद ही विधवा पत्‍नी व घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। पत्‍नी छह माह की गर्भवती भी है। मां बार-बार बस यही पूछ रहीं कि इस अजन्‍मे बच्‍चे का क्‍या दोष था, हे भगवान! हम हमारा कौन है सहारा। सूचना के बाद विधायक अरूणा देवी पकरीबरावां पहुंची और पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाई।

बताया जाता है कि हिमांशु आवश्यक काम से नवादा की ओर जा रहा था। इसी दौरान पेट्रोलपंप के समीप विपरीत दिशा की ओर से आ रहे एक अज्ञात बाइक सवार से टक्कर हो गई। हादसे में हिमांशु की मौत घटना स्थल पर ही हो गई। जबकि, बाइक पर पीछे बैठा सहोदर भाई सुधांशु घायल हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही पकरीबरावां थानाध्यक्ष नागमणि भास्कर दल-बल के साथ घटनास्थल पर पंहुचे और मामले की जांच की। मृतक व जख्मी भाई को ग्रामीणों के सहयोग से पकरीबरावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जंहां चिकित्सकों ने औपचारिक रूप से हिमांशु के मौत की पुष्टि कर दी।

परिजनों के चीत्‍कार से हर आंख नम

घटना की बात तेजी से बाजार में फैली तो देखते ही देखते शुभचिंतकों की भीड़ अस्पताल में जमा हो गई। स्वजनों के चीत्कार से अस्पताल का माहौल गमगीन हो गया। मां बेबी देवी एवं पिता उमेश सिंह जवान बेटे की मौत को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे। दोनों बार-बार बेहोश हो जा रहे थे। वहां मौजूद लोग दोनों को संभलने व दिलासा दिलाने में जुटे थे। लोग दुःख की इस घड़ी में धैर्य से काम लेने की सलाह दे रहे थे। पुलिस शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा भेज दी है।

गत वर्ष ही हुई थी शादी, हाल ही में मनाया था सालगिरह

 हिमांशु कुमार की शादी गत वर्ष लखीसराय जिले के शहजादपुर गांव में हुई थी। विवाह के 1 वर्ष पूरे होने पर सालगिरह मनाकर लौटा था। पत्नी कोमल कुमारी के गर्भ में छह माह बच्चा भी पल रहा है। मृतक की मां बार बार यह कहकर बेहोश होती नजर आ रही थी की पेट में पल रहे बच्चे का क्या कसूर था? आखिर भगवान ने उस अजन्मे बच्चे को किस गलती की सजा दी है।

हाल ही में बाजार में खोला था बीज की दुकान

हिमांशु बीपीएल धान कंपनी में काम करता था। लॉक डाउन के कारण वह घर पर ही रहकर अपना व्यापार करना शुरू किया था। पांच दिन पूर्व वह राइस मोड़ पर बीज की दुकान का शुभारंभ किया था। अभी दुकान को सजाने-संवारने में लगा हुआ था। इसी बीच दुर्घटना का शिकार हो गया। कमाऊ पुत्र के असमय चले जाने से परिवार पर भी दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

विधायक अरूणा देवी पहुंची

  घटना की जानकारी के बाद वारिसलीगंज विधायक अरुणा देवी ने अपने समर्थकों के साथ अस्पताल पहुंची। पीड़ित स्वजनों को ढांढस बंधाई। विधायक ने ढांढस बंधाते हुए दुःख की घड़ी में हिम्मत से काम लेने को कहा। मौके पर विधायक प्रतिनिधि रामसकल सिंह, प्रखंड भाजपाध्यक्ष मुकेश कुमार सिंह, बंदन सिंह, पिंकू सिंह,प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि मनोज साव, नीरज कुमार उर्फ मुखिया जी, सुनील सिंह, पंकज सिंह सहित सैकड़ों लीग मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.