Bihar Accident: नवादा में सड़क हादसा, बाइक की टक्‍कर से साइकिल सवार की मौत, घर में मचा कोहराम

मृतक की पहचान डोहरा पंचायत की सिरपतिया निवासी मंगल चौहान का 58 वर्षीय पुत्र स्वारथ चौहान उर्फ राम स्वारथ चौहान के रूप में की गई है। घटना की खबर मिलते ही स्वजनों व शुभचिन्तकों में मातम छा गया। परिजनों को रो रोकर बुरा हाल हो रहा था।

Prashant KumarFri, 24 Sep 2021 04:46 PM (IST)
नादरीगंज थाने में रोते बिलखते स्‍वजन। जागरण।

संवाद सूत्र, नारदीगंज (नवादा)। थाना क्षेत्र के वनगंगा डोहरा सड़क मार्ग में डेयरी फार्म के आसपास बाइक व साइकिल की टक्कर होने से साइकिल सवार की मौत घटनास्थल पर हो गई। घटना शुक्रवार को दोपहर के बाद घटी। मृतक की पहचान डोहरा पंचायत की सिरपतिया निवासी मंगल चौहान का 58 वर्षीय पुत्र स्वारथ चौहान उर्फ राम स्वारथ चौहान के रूप में की गई है। घटना की खबर मिलते ही स्वजनों व शुभचिन्तकों में मातम छा गया। परिजनों को रो रोकर बुरा हाल हो रहा था। लोग सान्तवना देने में लगे रहें। हादसे की खबर मिलते ही आसपास के लोग दौड़ पड़े। मृतक की जेब में रखे मोबाइल से उसके परिजनों व पुलिस को दिया। घटना की सूचना मिलने पर एएसआई बिनोद कुमार पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा भेज दिया।

बताया जाता है कि सिरपतिया निवासी स्वारथ चौहान अपने घर से साइकिल पर सवार होकर वनगंगा मजदूरी करने के लिए इस सड़क मार्ग से जा रहा था। जब वह डेयरी फार्म के आसपास पहुंचा था कि,इसी बीच वनगंगा की तरफ से बाइक सवार ने साइकिल सवार को टक्कर मार दिया। जमीन पर गिरते ही साइकिल पर सवार स्वारथ चौहान की मौत हो गई। इसी बीच चालक बाइक के साथ फरार होने में सफल रहा। इस घटना की खबर पाते ही आसपास के लोग दौड़ पड़े। तब ग्रामीणों ने देखा कि उसने दम तोड़ दिया है। लोग मृतक की पहचान करने में लग गए। साइकिल पर एक झोले में रोटी और मछली गली थी। पॉकेट में मिले मोबाइल से मृतक की शिनाख्‍त हो सकी।

घटना की खबर मिलते ही मुखिया रेखा देवी, समाजसेवी दिलीप कुमार साव, सामाजिक कार्यकर्ता रामवरण यादव, वार्ड सदस्य किशुन चौहान, रामबली चौहान, जगु चौहान, सुरेन्द्र चौहान, उपेन्द्र चौहान समेत अन्य लोगों ने थाना परिसर पहुंचकर शोकाकुल परिजनों से मुलाकात की और ढांढ़स बंधाया। इसके बाद बीडीओ अमरेश कुमार मिश्र, सीओ अमिता सिन्हा से दूरभाष पर सम्पर्क कर मृतक के आश्रितों को आपदा राहत कोष से पारिवारिक लाभ समेत अन्य सरकारी लाभ उपलब्ध कराने की मांग किया है। वहीं  मुखिया ने  कबीर अंत्येष्टि के तहत तीन हजार रुपये सहयोग राशि दिया है। वहीं अधिकारियों ने कहा मृतक के आश्रित को सरकारी प्रावधानों के मुताबिक सहायता राशि दिया जायेगा। इस घटना को सुनकर उसकी पत्नी महाजनी देवी समेत अन्य स्वजनों का हाल बेहाल हो रहा था। उनलोगों के करुण क्रंदन से मौहाल गमगीन हो रहा था। मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करता था। मृतक का दो पुत्र क्रमश शंभु चौहान व धनेश्वर चौहान के अलावा एक पुत्री आशा देवी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.