Bihar Crime: मछली मारने को लेकर रोहतास में किशोर की पीटकर हत्‍या, वाराणसी जाने के दौरान तोड़ा दम

मछली मारने को लेकर किशोर की पीटकर हत्‍या करने का मामला प्रकाश में आया है। स्थानीय मचवार गांव में मछली मारने के कारण विवाद हुआ जिसके बाद एक पक्ष के लोगों ने किशोर की बुरी तरह पिटाई कर दी। मृत किशोर की पहचान अरविंद कुमार के रूप में हुई।

Prashant KumarThu, 23 Sep 2021 03:23 PM (IST)
सड़क जाम कर प्रदर्शन करते आक्रोशित स्‍वजन। जागरण।

संवाद सूत्र, शिवसागर (सासाराम)। मछली मारने को लेकर किशोर की पीटकर हत्‍या करने का मामला प्रकाश में आया है। स्थानीय मचवार गांव में मछली मारने के कारण विवाद हुआ, जिसके बाद एक पक्ष के लोगों ने किशोर की बुरी तरह पिटाई कर दी। स्‍वजन उसे इलाज के लिए वाराणसी लेकर जा रहे थे, लेकिन उसने रास्‍ते में ही दम तोड़ दिया। मृत किशोर की पहचान शिवनंद चंद्रवंशी के 17 वर्षीय अरविंद कुमार के रूप में हुई है। मौत से आक्रोशित स्‍वजनों ने गुरुवार को शव सड़क पर रखकर वाहनों का आवागमन ठप कर दिया। साथ ही जमकर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। पुलिस ने उन्‍हें समझाने के बाद शव को पोस्‍टमार्टम के लिए सदर अस्‍पताल भेज दिया। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

थानाध्यक्ष गिरिश कुमार ने बताया कि मंगलवार की सुबह शिवनंदन कहार के परिवार तथा गांव के कुछ अन्य लोगों के साथ मछली मारने को लेकर विवाद हुआ था। जिसकी सूचना मिलते ही पुलिस गांव में पहुंच दोनों पक्षों को समझा मामला शांत करा दी थी। पुन: उसी दिन देर शाम पुन: दोनों पक्ष आपस में उलझ गए तथा अरविंद की लाठी डंडे से पिटाई कर दी। गंभीर रूप से जख्मी अरविंद को लेकर परिजन इलाज के लिए सदर अस्पताल सासाराम ले गए। जहां चिकित्सकों ने स्थिति गंभीर देख वाराणसी रेफर कर दिया। परिजन उसे वाराणसी के निजी अस्पताल में भर्ती कराए थे, जहां उसका इलाज चल रहा था। बुधवार की देर रात इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई।

थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक अरविंद के चाचा अनिल कुमार चंद्रवंशी के बयान पर गांव के ही दो महिला समेत सात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जिसमें इंदू देवी, गीता देवी, नागेंद्र बिंद, रंजन बिंद, जयप्रकाश कुमार, बैरिस्टर उर्फ बलिस्टर बिंद व वशिष्ठ बिंद को नामजद किया गया है। पुलिस सभी नामजदों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही हे। अनिल चंद्रवंशी ने कहा कि पुलिस अगर तत्काल कार्रवाई की होती तो शायद यह घटना नहीं हुई होती। कहा कि पुलिस प्रशासन से मुआवजा के अलावा नामजद सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी की मांग की गई है। वहीं घटना को देखते हुए गांव में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है तथा पुलिस वहां कैंप कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.