नवादा में विजयी मुखिया के समर्थक के घर पर हमला, 12 लाख रुपये की लूट, स्कूल बस में आगजनी, हिरासत में 16 लोग

पंचायत की विजयी मुखिया दर्शनिया देवी के समर्थक रामचंद्र प्रसाद के घर पर हमला किया गया। इस दौरान घर पर जमकर पत्थरबाजी की गई। घर के पास लगी स्कूल बस और मैजिक वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। दरवाजे पर खड़ी स्कार्पियो वाहन को क्षतिग्रस्त किया गया।

Prashant Kumar PandeySat, 27 Nov 2021 04:41 PM (IST)
नवादा में विजयी मुखिया के समर्थक के घर पर किया हमला

 संवाद सूत्र, नारदीगंज : नारदीगंज थाना क्षेत्र के परमा गांव में शुक्रवार की रात परमा पंचायत की विजयी मुखिया दर्शनिया देवी के समर्थक रामचंद्र प्रसाद के घर पर हमला किया गया। इस दौरान घर पर जमकर पत्थरबाजी की गई। घर के पास लगी स्कूल बस और मैजिक वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। दरवाजे पर खड़ी स्कार्पियो वाहन को क्षतिग्रस्त किया गया। घर में संचालित पीएनबी के ग्राहक सेवा केंद्र में भी तोड़फोड़ और लूटपाट की बात कही जा रही है। इसकी जानकारी मिलते ही रात में एसपी डीएस सावलाराम, सदर एसडीएम उमेश कुमार भारती, सदर एसडीपीओ उपेंद्र प्रसाद, नारदीगंज थाना की पुलिस वहां पहुंच गई। मौके से दर्जन भर लोगों को हिरासत में लिया गया। आरोप विरोधी खेमे के प्रमोद यादव पर है। वैसे दोनों लोगों के बीच कई वर्षों से पुराना विवाद भी चला आ रहा है।

परिणाम की घोषणा होने के बाद विरोधी खेमे ने हमला किया

बताया जाता है कि रामचंद्र और उनके परिवार के सभी सदस्य मतगणना को लेकर शुक्रवार को नवादा पहुंचे हुए थे। देर शाम परिणाम की घोषणा होने के बाद विरोधी खेमे ने उनके घर पर हमला कर दिया। इस दौरान घर पर पत्थरबाजी की गई। जिसमें घर में लगे सभी शीशे टूट गए। रामचंद्र के भतीजा ज्वाला प्रसाद उर्फ पिंटू सर निजी स्कूल का संचालन करते हैं। उनके स्कूल बस और मैजिक वाहन में आग लगा दी गई। स्कॉर्पियो को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। 

ग्राहक सेवा केंद्र में 12 लाख रुपये की लूट

ग्राहक सेवा केंद्र में भी तोड़फोड़ की गई। पीड़ित परिवार का कहना है कि ग्राहक सेवा केंद्र में 12 लाख रुपये की लूट हुई है। घटना के बाबत बताया जा रहा है कि मतदान के दौरान रामचंद्र ने वोगस वोटिंग का विरोध किया था। फलस्वरुप मतदान के दिन भी उनके साथ मारपीट की गई थी। शुक्रवार को परिणाम आने के बाद विरोधी खेमे के लोग उग्र हो गए और हमला कर दिया। रामचंद्र की पत्नी आरती देवी ने बताया कि दो दर्जन से अधिक की संख्या में हमलावर पहुंचे थे। वे सभी उनके बेटे पिंटू को खोज रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि किसी तरह वह खुद को घर में बंद कर ली। जिससे जान बच गई। वे लोग आग में झोंकने की बात कह रहे थे।

उपद्रवियों ने पुलिस को खदेड़ा- 

घटना की जानकारी मिलने पर नारदीगंज थाना की पुलिस परमा पहुंची। लेकिन उपद्रवियों के तेवर देख उन्हें बैकफुट पर रहना पड़ा। एक वरीय अधिकारी ने बताया कि उपद्रवियों ने नारदीगंज थाना की पुलिस को खदेड़ दिया था। जिसके बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल वहां पहुंची। नारदीगंज के साथ ही नवादा नगर और मुफस्सिल थाना के साथ ही पुलिस लाइन से पुलिस बल को परमा भेजना पड़ा। स्वाट दस्ता भी मौके पर पहुंची। जिसके बाद हालात पर काबू पाया जा सका। सदर एसडीएम-एसडीपीओ ने घटना का जायजा लिया। देर रात एसपी डीएस सावलाराम ने गांव पहुंच कर छानबीन की।

 पकड़े गए 16 लोग, गांव में कैंप कर रही पुलिस- 

बड़ी संख्या में घटनास्थल पर पहुंच कर पुलिस बल ने कार्रवाई शुरू की। इस दौरान 16 लोगों को हिरासत में ले लिया गया। सभी लोगों से थाना में पूछताछ की जा रही है। फिलहाल पुलिस गांव में कैंप कर रही है। गांव में तनाव व्याप्त है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.