ओमिक्रोन के खतरे से आशंकित औरंगाबाद प्रशासन ने मास्‍क को लेकर चलाया अभियान, वसूला जुर्माना

Omicron New Coronavirus Variant भखरुआं मोड़ पर सोमवार को एसडीएम कुमारी अनुपम सिंह के नेतृत्व में अभियान चलाकर मास्क हेलमेट और ट्रिपल राइडिंग जांच की गई। एसडीएम ने बताया कि मास्क नहीं पहनने वाले कुल 36 व्यक्तियों से 1800 रुपये जुर्माना वसूला गया।

Prashant KumarPublish:Tue, 07 Dec 2021 11:41 AM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 12:22 PM (IST)
ओमिक्रोन के खतरे से आशंकित औरंगाबाद प्रशासन ने मास्‍क को लेकर चलाया अभियान, वसूला जुर्माना
ओमिक्रोन के खतरे से आशंकित औरंगाबाद प्रशासन ने मास्‍क को लेकर चलाया अभियान, वसूला जुर्माना

संवाद सहयोगी, दाउदनगर (औरंगाबाद)। भखरुआं मोड़ पर सोमवार को एसडीएम कुमारी अनुपम सिंह के नेतृत्व में अभियान चलाकर मास्क, हेलमेट और ट्रिपल राइडिंग जांच की गई। एसडीएम ने बताया कि मास्क नहीं पहनने वाले कुल 36 व्यक्तियों से 1800 रुपये जुर्माना वसूला गया। ट्रिपल राइडिंग करने के मामले में चार बाइक जब्त कर थाना भेजा गया। हेलमेट न पहनने वाले कई युवाओं को चेतावनी दी। पुलिस की नौकरी करने वाले दो युवकों को रोक कर समझाया कि सरकारी नौकरी करते हो और बिना हेलमेट के गाड़ी चला रहे हो। अगर कोई दुर्घटना होगी तो परिवार का क्या हाल होगा। उन्होंने तमाम व्यक्तियों को हेलमेट लगाकर चलने, मास्क पहनने को लेकर चेताया और कहा कि लापरवाही नहीं बरतें।

कोरोना अभी गया नहीं है। उनके साथ अंचल अधिकारी विजय कुमार समेत कई सुरक्षाकर्मी इस अभियान में शामिल रहे। इससे पहले अपराह्न में उन्होंने भखरुआं मोड़ पर अस्थाई अतिक्रमण करने वालों को रोका। इसके अलावा विभिन्न मार्गों में रविवार को हटाए गए अतिक्रमण का फॉलोअप किया और यह देखने का प्रयास किया कि अतिक्रमण की स्थिति क्या है। कई जगह लोगों ने हटाए गए जगह पर फिर से अस्थाई दुकान लगाने का प्रयास सोमवार को किया। सभी को चेतावनी दी गई और बताया गया कि किसी भी स्थिति में सड़क का अतिक्रमण न करें।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान व्‍यापक पैमाने पर राज्‍यभर में मास्‍क को लेकर अभियान चलाया जा रहा था। घर से बाहर निकलने वालों पर सख्‍ती बरतने के कई वीडियो वायरल हुए थे। जो लोग बिना मास्‍क लगाए घर से बाहर निकल रहे थे, उनसे जुर्माना तो वसूला ही जा रहा था। साथ ही उन्‍हें दंडित भी किया जाता था। लेकिन, अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होते ही लोग मास्‍क लगाना भूल गए। सामूहिक आयोजनों में बिना मास्‍क लगाए शामिल होने लगे। प्रशासन ने भी सख्‍ती करना छोड़ दिया। अब ओमिक्रोन का खतरा बढ़ने के बाद मास्‍क लगाने पर जोर दिया जा रहा है।