एक हाथ में हथकड़ी, दूसरे से भरी मांग, जाने लगा प्रेमी तो छलकी प्रेमिका की आंखें, औरंगाबाद की घटना

औरंगाबाद सिविल कोर्ट परिसर में एक अनोखी शादी हुई। सजी-धजी दुल्‍हन इंतजार कर रही थी। तभी पुलिस अभिरक्षा में उसका प्रेमी लाया गया। उसने प्रेमिका की मांग में सिंदूर भरा। माला पहनाया। इसके बाद वह जाने लगा तो युवती की आंखें नम हो उठीं।

Vyas ChandraPublish:Sat, 04 Dec 2021 01:12 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 03:57 PM (IST)
एक हाथ में हथकड़ी, दूसरे से भरी मांग, जाने लगा प्रेमी तो छलकी प्रेमिका की आंखें, औरंगाबाद की घटना
एक हाथ में हथकड़ी, दूसरे से भरी मांग, जाने लगा प्रेमी तो छलकी प्रेमिका की आंखें, औरंगाबाद की घटना

औरंगाबाद, जागरण संवाददाता। युवक के एक हाथ में हथकड़ी लगी थी तो दूसरे हाथ से अपनी प्रेमिका की मांग में सिंदूर भर रहा था। सिविल कोर्ट परिसर के हनुमान मंदिर में हो रही इस अनोखी शादी को देखने के लिए भीड़ लगी थी। कोर्ट की अनुमति से बारुण थाना क्षेत्र के जनकोप गांव निवासी राजकुमार गुप्ता शनिवार सुबह पुलिस अभिरक्षा में मंडल कारा से व्यवहार न्यायालय परिसर स्थित हनुमान मंदिर पहुंचा। प्रेमिका पूनम वर्मा पहले से दुल्हन बनकर मंदिर में बैठी थी। पुलिस एवं अधिवक्ता की मौजूदगी में मंदिर के पुजारी ने मंत्र पढ़कर दोनों की शादी कराई। इसके बाद सिंदूर दान का रस्‍म पूरा कराया। दाेनों की अंतरजातीय शादी को देखने के लिए पुलिस, अधिवक्ता एवं कोर्ट पहुंचे ग्रामीणों की भीड़ मंदिर के बाहर लगी रही।

(शादी के बाद दोनों के चेहरे पर दिखी खुशी।)

14 अक्‍टूबर को युवक को भेजा गया था जेल 

अधिवक्ता रणधीर कुमार सिंह, अकमल हसन, मुकेश कुमार एवं सतीश कुमार स्नेही ने बताया कि राजकुमार गुप्‍ता पर शादी का प्रलोभन देकर अंतरंगता हासिल करने और उसके बाद शादी से इंकार करने का आरोप लगाया गया था। इसकी प्राथमिकी बारुण थाना में दर्ज कराई गई। तब पुलिस ने 14 अक्‍टूबर को आरोपित राजकुमार को न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया। तब से वह जेल में है। इधर लड़का एवं लड़की पक्ष में समझौता हुआ। इसके बाद कोर्ट की अनुमति से दोनों की शादी हुई। दोनों पिछली बातें भूलकर नई जिंदगी व्‍यतित करने का संकल्‍प लिया। शादी के बाद लड़के को फिर से जेल ले जाया गया। इस दौरान नवविवाहिता की आंखों में आसू छलक पड़े।समझौता के आधार पर अब जमानत याचिका दायर की गई है। अब कोर्ट से युवक को जमानत मिलेगी और जेल से बाहर आएगा।  

शादी के बाद फिर जेल गया युवक  

शादी के समय मौजूद युवक की मां उषा कुंवर एवं बड़े भाई आशुतोष कुमार ने बताया कि यह शादी जेल जाने से पहले ही कर लेना चाहिए था। हम सभी परिवार शादी करने के लिए तैयार थे। कहा कि शादी से पूरा परिवार खुश हैं। जब दोनों की शादी संपन्न हो गई तब पुलिसकर्मियों ने कोर्ट परिसर से भीड़ को हटाया। का हटाया। शादी के बाद दोनों ने सारा जीवन एक साथ रहने की बात कही। कहा कि शादी के पहले जो कुछ हुआ वह हम दोनों भूल गए हैं और दोनों की रजामंदी से यह शादी हुई है।