समन्वय बनाकर जुलाई तक 43 लाख पौधा लगाने का हासिल करें लक्ष्य: डीएम

गया। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने विभाग समेत जिलेवासियों से अधिक से अधिक पौधारोपण करने का अनुरोध किया है। यह स्वच्छ व सुंदर पर्यावरण के लिए बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सुरक्षित रहे व पेयजल के लिए समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

JagranFri, 18 Jun 2021 11:50 PM (IST)
समन्वय बनाकर जुलाई तक 43 लाख पौधा लगाने का हासिल करें लक्ष्य: डीएम

गया। जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने विभाग समेत जिलेवासियों से अधिक से अधिक पौधारोपण करने का अनुरोध किया है। यह स्वच्छ व सुंदर पर्यावरण के लिए बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सुरक्षित रहे व पेयजल के लिए समस्याओं का सामना ना करना पड़े। इसके लिए पौधा लगाकर उनकी सुरक्षा जरूर करें। जल जीवन हरियाली की समीक्षा बैठक में बताया कि इस वर्ष जिले में 43 लाख पौधरोपण का लक्ष्य है। जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों, संस्थाओं के प्रधान/ प्रतिनिधियों, अभियंताओं को निर्देश दिया कि पौधा लगाने के साथ-साथ उनकी सुरक्षा का पूरा ध्यान देना होगा। पौधा लगाना जितना आवश्यक है, उसकी सुरक्षा भी उतनी ही जरूरी है। चाहरदीवारी की सुविधा होने तथा गैवियन लगाकर ही हम पौधा को बचा सकते हैं। सभी मनरेगा के प्रोग्राम पदाधिकारी व संस्थाओं के प्रधान/ प्रतिनिधियों को निर्देश दिया कि आप ससमय वन विभाग की नर्सरी से पौधा प्राप्त करें। उसे निर्धारित/ चयनित स्थल पर लगाना सुनिश्चित करें। क्योंकि अच्छी वर्षा होने के कारण पौधे बहुत जल्द विकसित होंगे।

-------------

पिछले साल पौधा लगने से भूगर्भ जल स्तर 17 फीट उपर आया था

पिछले वर्ष लगभग 37 लाख पौधे पूरे जिले में लगाए गए थे। जिसके कारण जिले का भूगर्भ जल स्तर में 17 फीट की वृद्धि हुई। जिले में अच्छी वर्षा भी हुई। साथ ही कृषि पैदावार भी उत्साहजनक रहा।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि 20 लाख रुपए से अधिक की लागत से सरकारी भवन के निर्माण होने पर उसमें पौधारोपण तथा रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम की सुविधा प्राक्कलन में तैयार करना अनिवार्य होगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि वे जिले के वैसे विद्यालयों जहां चहारदीवारी की सुविधा है वहां पौधारोपण करवाएं। सभी पदाधिकारियों एवं संस्थाओं के प्रधान/ प्रतिनिधि व मनरेगा के सभी प्रोग्राम पदाधिकारी को निर्देश दिया कि 31 जुलाई तक लक्ष्य के अनुरूप शत-प्रतिशत पौधरोपण का कार्य पूर्ण कराएं। वन प्रमंडल पदाधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया कि जिले में वन विभाग की 16 नर्सरी है। जिसमें लगभग 50 लाख नवजात पौधे हैं। इनका उपयोग पौधारोपण के लिए किया जा सकता है। पौधा के लिए वन विभाग अथवा उप विकास आयुक्त के माध्यम से आवेदन दे सकते हैं। जिले के सभी प्रखंड मुख्यालय में प्रति पौधा 10 रुपए की दर से विक्रय काउंटर बनाया जाएगा। ताकि कोई भी व्यक्ति निर्धारित शुल्क देकर पौधा प्राप्त कर सकें।

----------

कल से छात्रों में बंटेगा मुफ्त पौधा -20 जून से जिले में चार मोबाइल बैंक के माध्यम से छात्र/ छात्राओं को पौधा मुफ्त उपलब्ध कराया जाएगा। ताकि वह अपने विद्यालयों या घरों पर पौधा लगा सकें। बैठक में वन प्रमंडल पदाधिकारी, उप विकास आयुक्त, सहायक समाहर्ता, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, सभी अभियंता, प्रोग्राम पदाधिकारी मनरेगा, विभिन्न विभागों के कार्यपालक अभियंता, विभिन्न शिक्षण संस्थानों के प्रधान /प्रतिनिधि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.