गया के वजीरगंज से 12 वर्षीय बच्चे का अपहरण, पुलिस ने एक घंटे में किया बरामद

गया के वजीरगंज बाजार के एक 12 वर्षीय बालक का अपहरण कर लिया गया। अपहृत बालक सूरज कुमार मौला नगर महल्ले के पारस गुप्ता का पौत्र है। सूचना मिलते ही पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर अपराधियों के भागने की दिशा में पीछा किया और बच्‍चे को बरामद कर लिया।

Sumita JaiswalSun, 26 Sep 2021 10:13 AM (IST)
वजीरगंज से अपहृत बालक सूरज कुमार मौला अपने दादा के साथ। जागरण फोटो।

वजीरगंज (गया), संवाद सूत्र। गया के वजीरगंज बाजार में पावर हाउस  के निकट से शुक्रवार की देर शाम एक 12 वर्षीय बालक का अपहरण कर लिया गया । अपहृत बालक सूरज कुमार मौला नगर महल्ले के पारस गुप्ता का पौत्र था। वह रात में ट्यूशन से पढ़कर अपने दादा के साथ घर वापस जा रहा था। रास्ते में पूर्व से घात लगाए कुछ अपराधियों ने उसके दादा पारस को पहले तो अचानक पीटने लगे। जिससे उनके चेहरे पर आंख के पास गहरी चोट लग गई। वह दर्द से बेचैन हो गए। इतने में अपराधी बच्चे को झपट कर चौपहिया वाहन में बैठाकर चलते  बने । घटना की सूचना पुलिस को मिलते ही वे त्वरित कार्रवाई में जुट गए और उनके भागने की दिशा में पीछा करते हुए उस पर दबिश बनाकर महज एक घंटे में ही बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया।

घटना की पुष्टि करते हुए थानाध्यक्ष राम इकबाल प्रसाद यादव ने बताया कि अपहर्ताओं की गाड़ी वजीरगंज पावर हाउस के निकट से होते हुए शर्मा की ओर भाग रहा था। बच्चे के स्वजनों  द्वारा घटना की सूचना समय पर मिल गया  ,जिससे उसका सुराग मिलने में आसानी हुई । वह पहले फतेहपुर की ओर भागना चाह रहे थे । लेकिन संभवत पुलिस दबिश का आभास उसे हो गया था। जिसके कारण तरवां से एक ग्रामीण सड़क से होते हुए सिरदला की ओर अपना रूट कर लिया । लेकिन पुलिस वाहन भी उसके बाद में की दिशा में ही बढ़ रही थी , फिर उसकी घेराबंदी के लिए फतेहपुर ,सिरदला एवं मेस्कोर की पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया था। जिससे वे चौतरफा घिरने की स्थिति में आ गए  ।अब वह अपना बचाव के उद्देश्य से बच्चे को सिरदला फतेहपुर सीमा पर चंबा गांव के निकट बाजार में छोड़कर फरार हो गए। जिसे बरामद कर परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया।

उन्‍होंने बताया कि घटना में शामिल अपराधियों का पता लगाया जा रहा है। घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है। दूसरी तरफ अपहर्ताओं के चंगुल से छूटकर सकुशल वापस आए बालक सूरज कुमार बताता है कि वाहन में बैठाने के तुरंत बाद वे लोग उसके आंखों पर पट्टी बांध दिए और चलते रहे इसके साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार या मारपीट नहीं किया गया। बच्चे के अनुसार अपहर्ताओं का समूह अपने वाहन में  तेल कम होने एवं नंबर प्लेट बदलने का मौका नहीं मिलने की बात कर रहे थे । यही सब बात करते-करते अचानक एक जगह सड़क के किनारे अंधेरे में  गाड़ी से उतार कर चले गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.