प्लस टू के शिक्षक 14, विद्यार्थियों की उपस्थिति शून्य

मोतिहारी । शिक्षा विभाग की तमाम कवायद के बीच कुछ समस्याएं आज भी लक्ष्य हासिल करने में बड़ी बाधा साबित हो रही हैं।

JagranTue, 07 Dec 2021 11:15 PM (IST)
प्लस टू के शिक्षक 14, विद्यार्थियों की उपस्थिति शून्य

मोतिहारी । शिक्षा विभाग की तमाम कवायद के बीच कुछ समस्याएं आज भी लक्ष्य हासिल करने में बड़ी बाधा साबित हो रही हैं। वह है छात्र-छात्राओं की अनुपस्थिति। खासकर प्लस टू की कक्षाओं में सन्नाटा ही देखने को मिल रहा है। नामांकन के बाद परीक्षा प्रपत्र भरने के लिए ही विद्यार्थी विद्यालय में नजर आते हैं। मंगलवार को दैनिक जागरण की टीम ने मोतिहारी के मंगल सेमिनरी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का जायजा लिया। विद्यालय में आवश्यक संसाधनों की कमी नहीं है। पर्याप्त संख्या में शिक्षक भी हैं। प्लस टू स्तर तक की शिक्षा व्यवस्था है। अगर कमी है तो बस छात्रों की। केवल कक्षा नौ के ही छात्र विद्यालय आ रहे हैं। प्लस टू की कक्षाएं सूनी हैं।

बता दें कि यह विद्यालय केवल छात्रों के लिए ही है। विद्यालय वर्ष 1984 से ही इंटर स्तरीय है। खास बात है कि इस विद्यालय में सक्रिय प्रबंध समिति के अध्यक्ष विधान पार्षद केदारनाथ पांडेय हैं। मोतिहारी के उन गिने-चुने विद्यालयों में मंगल सेमिनरी का नाम शामिल है, जहां बेहतर शिक्षा व्यवस्था की अपेक्षा की जाती है। मगर छात्रों की उपस्थिति..। प्राचार्य नजीउल्लाह खान कहते हैं-विद्यालय में समृद्ध प्रयोगशाला एवं पुस्तकालय के अलावा कम्प्यूटर लैब, जिम एवं स्मार्ट क्लास की भी सुविधा उपलब्ध है। प्राचार्य के साथ हमने परिसर का भी जायजा लिया। इस क्रम में हम उस वर्ग कक्ष में पहुंचे जहां कक्षा नौ के बच्चे पढ़ाई कर रहे थे। वे दो सेक्शन में विभक्त थे। बातचीत के दौरान बच्चों ने बताया कि वे नियमित रूप से कक्षा में आते हैं। प्रयोगशाला का भी उपयोग करते हैं। विद्यालय में उपलब्ध अन्य सुविधाओं का भी उन्हें लाभ मिलता है। उस कक्ष में मौजूद शिक्षक से भी बात हुई। इसके बाद हमने प्लस टू की ओर रूख किया। मगर प्लस टू का एक भी विद्यार्थी उपस्थित नहीं था। जबकि विद्यालय में इंटर के लिए कला, विज्ञान एवं वाणिज्य तीनों संकाय की व्यवस्था है। सभी संकायों में पर्याप्त शिक्षक भी हैं। जानकारी मिली कि कक्षा नौ में 358, दसवीं में 429, 11वीं में 567 तथा 12वीं कक्षा में 537 छात्र नामांकित हैं। जहां तक शिक्षकों की बात है तो माध्यमिक में 14 शिक्षकों के अलावा एक शारीरिक शिक्षक एवं एक पुस्तकालय अध्यक्ष भी हैं। वहीं, प्लस टू के लिए 14 शिक्षकों की टीम मौजूद है। इनमें चार विज्ञान के शिक्षक भी हैं। कॉमर्स के भी दो शिक्षक विद्यालय में पदस्थापित हैं। मगर कक्षा में विद्यार्थी नहीं हैं। ज्यादातर प्लस टू की कक्षाएं खाली ही रहतीं हैं। प्रयोगशाला में सफाई की कमी दिखी। प्रयोगशाला प्रभारी आभा कुमारी ने बताया कि साफ-सफाई का काम भी चल रहा है। हां, पुस्तकालय जरूर व्यवस्थित था। कम्प्यूटर लैब तो है मगर कम्प्यूटर सक्रिय स्थिति में नहीं हैं। वर्जन :

- फोटो : 07 एमटीएच 04

विद्यालय में शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा रहा है। नियमित कक्षा संचालन हो हरा है। दसवीं एवं 12वीं कक्षा के छात्रों का परीक्षा प्रपत्र भरा जा चुका है। इस वजह से वे विद्यालय नहीं आ रहे हैं। हालांकि 11वीं कक्षा के विद्यार्थियों की कक्षा में उपस्थिति अनिवार्य की गई है। इसके लिए उनके अभिभावकों से भी दूरभाष के माध्यम से संपर्क किया जा रहा है।

नजीउल्लाह खान, प्राचार्य

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.