पिकअप-बाइक की टक्कर में एक की मौत, दूसरा जख्मी

मोतिहारी। अरेराज-हाजीपुर स्टेट हाइवे पर मंगलापुर ढाला के समीप बुधवार को सड़क किनारे खड़ी बाइक पर सवार दो युवक को विपरीत दिशा से आ रहे बोलेरो पिकअप वैन ने ठोकर मार दी जिससे बाइक पर बैठे 21 वर्षीय बिजली महतो की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

JagranWed, 01 Jan 2020 10:47 PM (IST)
पिकअप-बाइक की टक्कर में एक की मौत, दूसरा जख्मी

मोतिहारी। अरेराज-हाजीपुर स्टेट हाइवे पर मंगलापुर ढाला के समीप बुधवार को सड़क किनारे खड़ी बाइक पर सवार दो युवक को विपरीत दिशा से आ रहे बोलेरो पिकअप वैन ने ठोकर मार दी, जिससे बाइक पर बैठे 21 वर्षीय बिजली महतो की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि, दूसरा युवक 23 वर्षीय उपेंद्र महतो बुरी तरह जख्मी हो गया। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने एचएस-74 को जाम कर दिया। ग्रामीणों व पुलिस के सहयोग से घायल युवक को पीएचसी पहुंचाया गया, जहां उसकी चिकित्सा की जा रही है। जख्मी युवक उपेंद्र ने बताया कि दोनों थाना क्षेत्र के इजरा गांव स्थित घर से नववर्ष के अवसर पर पल्सर बाइक से डुमरियाघाट थाना क्षेत्र के पुरैना गांव में अपनी बहन के यहां जा रहे थे। इसी दौरान मंगलापुर के समीप सड़क किनारे बाइक पर खड़े होकर कुछ बात कर रहे थे कि लापरवाह बोलेरो पिकअप चालक ने सामने से रौंदते हुए भाग निकला। घटना की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष महेंद्र कुमार व प्रमुख प्रतिनिधि सुजीत कुमार तिवारी ने मृतक के परिजनों से वार्ता कर जाम हटवाया और शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस सौंपा। घटनास्थल पर पुलिस बल के साथ दरोगा मेहीलाल यादव, चंद्रभूषण प्रसाद पर काफी देर तक मौजूद रहे और घटना की छानबीन की। इनसेट व्यान:

मृतक के परिजनों को कागजी प्रक्रिया के बाद सरकार से मिलने वाली सरकारी अनुग्रह अनुदान राशि दिया जाएगा

निरंजन कुमार सिंह

सीओ, संग्रामपुर

अब केकरा के बबुआ कहब हे भगवान

संग्रामपुर, संस : युवक के मौत की खबर सुन थाना क्षेत्र के इजरा गांव में कोहराम मच गया। मृतक बिजली की माँ राजकली देवी का रो रो कर हाल बेहाल हैं। बार बार बेहोश हो जा रही हैं। गांव के लोग घटना की खबर से आश्चय हैं। मृतक के पिता योगेंद्र महतो बूत बनकर भीड़ को एक टक निहार रहे। लगता था कि ऐसा सोच रहे हैं कि भीड़ से कोई तो कह दें कि उनका पुत्र मरा नहीं बल्कि एक दम स्वस्थ हैं। ग्रामीणों ने बताया कि युवक

सुबह से ही वह गांव में घूम घूम कर लोगो को नववर्ष की बधाई दे रहा था। वह जैसे ही खाना खाकर डुमरियाघाट थाना क्षेत्र के पुरैना गांव अपने बहन के यहां जाने के लिए पल्सर बाइक से निकला था कि उसे परिजनों ने नहीं जाने की बातें बोली थी लेकिन वह सभी की बात को टालते हुए उपेंद्र को साथ लेकर निकल पड़ा था।उसे क्या पता था कि बहन के यहां जाने की जिद में वह हमेशा के लिए गुम हो जाएगा। उसके घर से निकलने के महज दस मिनट बाद ही दुर्घटना खबर उसके परिजनों को मिली और बदहवाश हालत में ग्रामीणों के साथ उसके परिजन घटना स्थल पर पहुचे और सड़क जाम हो गया।घटना पर दु:ख व्यक्त करते हुए प्रमुख उषा देवी व प्रमुख प्रतिनिधि सोमेश्वर नाथ तिवारी उर्फ बिन्नू तिवारी ने परिजनों को सांत्वना दी। और कहा कि सरकार से मिलने वाली अनुदान राशि दिलवाई जाएगी। इजरा के ग्रामीणों का कहना था कि मृतक की शादी इसी वर्ष होनी वाली थी। मृतक तीन भाई बहनों में सबसे छोटा था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.