शिकारगंज में नाव पलटी, एक की मौत, दो लापता

मोतिहारी । शिकारगंज थाना क्षेत्र के गोढि़या गांव की चमरटोली घाट पर रविवार को सिकरहना बूढ़ी गंडक नदी में एक नाव पलट जाने से एक बच्ची की मौत हो गई जबकि उसपर सवार अन्य लोगों को बचा लिया गया।

JagranSun, 26 Sep 2021 11:39 PM (IST)
शिकारगंज में नाव पलटी, एक की मौत, दो लापता

मोतिहारी । शिकारगंज थाना क्षेत्र के गोढि़या गांव की चमरटोली घाट पर रविवार को सिकरहना बूढ़ी गंडक नदी में एक नाव पलट जाने से एक बच्ची की मौत हो गई, जबकि उसपर सवार अन्य लोगों को बचा लिया गया। वहीं उसमें दो अब भी लापता है, जिन्हें एनडीआरएफ की टीम तलाश कर रही है। नाव पर सवार लोगों की वास्तविक संख्या को लेकर उहापोह की स्थिति है। प्रभारी जिलाधिकारी सह उपविकास आयुक्त कमलेश कुमार सिंह ने कहा कि नाव पर कुल 14 लोग सवार थे। जबकि, ग्रामीणों के अनुसार 20 लोग नाव पर सवार थे। ग्रामीणों के अनुसार लोगों ने बांस की बनी लग्गी व साड़ी आदि के सहारे बारी-बारी से 17 लोगों को बाहर निकाल लिया है। जबकि चार लोग नदी में डूब गए। इसमें से एक शव को बरामद कर लिया गया है। बरामद शव की पहचान गोढि़या गांव निवासी मोतीलाल भगत की पुत्री चांदनी कुमारी (11) के रूप में की गई है। वहीं बेला गांव निवासी रम्भू राय की पुत्री अंशिका कुमारी (10) व गोढि़या गांव निवासी होरिल सहनी की पुत्री अंशु कुमारी (9) का देर शाम तक कोई पता नहीं चला है। नाव पर सवार सभी लोग गोढि़या के चमरटोली घाट से दूसरे छोर पर टिकुलिया गांव के सरेह में घास व खर-पतवार के लिए जा रहे थे। नाव को बेला गांव निवासी प्रगास सहनी चला रहे थे। नाव किनारे से चलकर जैसे ही नदी की बीच धारा में पहुंची। वैसे ही नाव में पानी भर गया और नाव बीच मंजधार में डूब गयी। बताया जा रहा है कि नाव में पहले से छिद्र था। इसके कारण उसमें पूर्व से कुछ पानी भरा हुआ था। बावजूद इसके इसकी अनदेखी कर सभी लोग नाव पर सवार हो गए। इसके कारण यह हादसा हुआ। इधर नाव को डूबते हुए देखकर नदी किनारे शौच करने आए जयचंद्र राम, रमोद कुमार व मेघनाथ कुमार ने बांस की लग्गी व साड़ी के सहारे तो कुछ ने तैर कर 17 व्यक्तियों को बाहर निकाल लिया। बाहर निकाली गयी चार महिलाओं की हालत काफी नाजुक थी। उन्हें तत्काल ग्रामीणों ने पकड़ीदयाल रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसमें हीरा सहनी की पत्नी संझरिया देवी को मोतिहारी रेफर किया गया है। वहां उसकी हालत चिताजनक बनी हुई है। वहीं होरिल सहनी की पत्नी बलिया देवी, रामाशीष सहनी की पत्नी झिगरी देवी व मोतीलाल भगत की पत्नी मानती देवी को इलाज के बाद मुक्त कर दिया गया है। जबकि गोढि़या गांव निवासी प्रभु पंडित की पत्नी मुन्ना देवी, रामाशीष सहनी की पुत्री खुशी कुमारी (8) पूरन सहनी के पुत्र गुदरी सहनी (60), गुदरी सहनी की पत्नी आनंदी देवी(55), केदार सहनी की पत्नी शारदा देवी(50), उसकी पुत्री लखपति कुमारी(12),राघो सहनी की पुत्री पार्वती कुमारी(15),रामदत्त राय की पुत्री छोटी कुमारी(7),जवाहर राय(45), महेंद्र सहनी की पुत्री उषा कुमारी(14),विगन सहनी की पुत्री सम्भा कुमारी(15), व नाविक प्रगास सहनी (60) भी चोटिल है। घटना के बाद से सभी बदहवास है। इधर, पुलिस अधीक्षक नवीनचंद्र झा ने बताया कि स्थानीय पुलिस को मामले में नाव के मालिक, नाव चालक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया गया है। डीडीसी सह प्रभारी जिलाधिकारी कमलेश कुमार ने कहा कि लापता लोगों की खोज के लिए एनडीआरएफ की टीम को लगाया गया है। घटनास्थल का डीडीसी सह प्रभारी जिलाधिकारी कमलेश कुमार, पुलिस अधीक्षक नवीनचंद्र झा, सिकरहना एसडीएम इफ्तेखार अहमद, डीएसपी राजेश कुमार ने निरीक्षण किया है। वहीं बीडीओ नंदकिशोर साह, सीओ आनंद कुमार गुप्ता, चिरैया थानाध्यक्ष केपी सिंह, शिकारगंज थानाध्यक्ष प्रदीप कुमार कैम्प कर रहे हैं। इधर घटना की जानकारी मिलते ही चिरैया विधायक लालबाबू प्रसाद गुप्ता, पूर्व विधायक लक्ष्मीनारायण प्रसाद यादव, राजद नेता एवं चिरैया विधानसभा के पूर्व राजद प्रत्याशी अच्छेलाल प्रसाद यादव, जिला पार्षद नसीम अख्तर आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.